लाइव टीवी
Elec-widget

गवर्नर से मुलाकात के बाद बोले NCP नेता- सहयोगियों से बात कर देंगे जवाब

News18Hindi
Updated: November 11, 2019, 10:22 PM IST
गवर्नर से मुलाकात के बाद बोले NCP नेता- सहयोगियों से बात कर देंगे जवाब
सोमवार शाम महाराष्ट्र के गवर्नर भगत सिंह कोश्यारी ने NCP को सरकार बनाने का न्योता दिया था.

महाराष्ट्र (Maharashtra) में सरकार बनाने को लेकर चल रही रस्साकशी के बीच गवर्नर भगत सिंह कोश्यारी (Bhagat Singh Koshyari) ने तीसरे नंबर की पार्टी NCP को न्योता दिया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 11, 2019, 10:22 PM IST
  • Share this:
मुंबई. महाराष्ट्र (Maharashtra) में सरकार बनाने को लेकर चल रही रस्साकशी के बीच गवर्नर भगत सिंह कोश्यारी (Bhagat Singh Koshyari) ने तीसरे नंबर की पार्टी NCP को न्योता दिया है. गवर्नर से मुलाकात के बाद एनसीपी नेता जयंत पाटिल ने कहा है कि गवर्नर ने हमें तीसरी बड़ी पार्टी होने के नाते सरकार बनाने का न्योता दिया है. पाटिल ने कहा है कि हम अपने सहयोगियों से बातचीत के बाद ही गवर्नर को जवाब देंगे. हमें मंगलवार रात 8:30 बजे तक का वक्त दिया गया है.

वहीं महाराष्ट्र की राजनीतिक स्थितियों को लेकर मंगलवार को कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के घर पर एक बैठक होने वाली है. महाराष्ट्र में कांग्रेस चौथे नंबर की पार्टी है. राज्य में उसका एनसीपी के साथ गठबंधन है. चुनाव नतीजों के बाद से ही कांग्रेस-एनसीपी गठबंधन की तरफ से ज्यादातर बातचीत शरद पवार ही कर रहे हैं.



राज्यपाल से मिले आदित्य ठाकरे, बोले- हम सरकार बनाने के लिए तैयार
Loading...

शिवसेना नेता आदित्य ठाकरे ने सोमवार रात राज भवन के बाहर मीडिया से बात करते हुए कहा कि सरकार बनाने का उनकी पार्टी का दावा अब भी कायम है क्योंकि दोनों दल शिवसेना नीत सरकार का समर्थन करने के लिए सैद्धांतिक रूप से सहमत हो गए हैं. हालांकि आदित्य ने कांग्रेस और एनसीपी का नाम नहीं लिया.

आदित्य ने दावा किया कि राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने शिवसेना को संख्याबल जुटाने के लिए और वक्त देने से मना कर दिया. उन्होंने कहा, ‘हमने दोनों दलों से बातचीत शुरू कर दी है. दोनों दलों ने शिवसेना को सैद्धांतिक रूप से समर्थन व्यक्त किया है.’ आदित्य ने कहा, ‘हमने सरकार बनाने के लिए दावा पेश करने की अपनी इच्छा के बारे में महाराष्ट्र के राज्यपाल को सूचित किया. शिवसेना विधायक पहले ही लिखित में अपना समर्थन जता चुके हैं.’ उन्होंने कहा कि दोनों दलों (एनसीपी तथा कांग्रेस) को उनकी प्रक्रिया पूरी करने के लिए कुछ और दिन चाहिए. आदित्य ने कहा, ‘इसलिए हमने राज्यपाल से और वक्त मांगा था लेकिन उन्होंने देने से मना कर दिया.’
ये भी पढ़ें:

महाराष्‍ट्र में सरकार गठन पर सस्‍पेंस बरकरार, राज्‍यपाल का शिवसेना को वक्‍त देने से इनकार

जानिए पिछले 30 सालों से क्या है रामलला की दिनचर्या, कब होती है पूजा और कब लगता है भोग

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Mumbai से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 11, 2019, 8:53 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...