शिंदे के बयान पर बोले माजिद मेमन- कांग्रेस चाहे तो NCP में विलय कर ले

सुशील कुमार शिंदे के बयान पर एनसीपी नेता ने पलटवार किया है. (फाइल फोटो)
सुशील कुमार शिंदे के बयान पर एनसीपी नेता ने पलटवार किया है. (फाइल फोटो)

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सुशील कुमार शिंदे (Sushil Kumar Shinde) ने मंगलवार को कहा था कि उनकी पार्टी और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) भविष्य में साथ आएंगे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 9, 2019, 12:06 PM IST
  • Share this:
पुणे.कांग्रेस के वरिष्‍ठ नेता सुशील कुमार शिंदे के बयान पर महाराष्‍ट्र की राजनीति गर्मा गई है. उनके बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) के वरिष्ठ नेता माजिद मेमन (Majeed Memon) ने कहा कि सुशील कुमार शिंदे (Sushil Kumar Shinde) वरिष्ठ और सुलझे हुए नेता हैं. लेकिन, उनका यह बयान गलत है कि एनसीपी का कांग्रेस में विलय होने जा रहा है. उन्होंने कहा कि एनसीपी का कांग्रेस में विलय नहीं हो रहा है. माजिद मेमन ने कहा कि शरद पवार अपना अस्तित्व बिल्कुल नहीं खोना चाहते हैं. अगर कांग्रेस एनसीपी में अपना विलय करना चाहती है तो कर सकती है. माजिद मेमन ने कहा एनसीपी का विलय कांग्रेस में किसी कीमत पर नहीं होगा.

सुशील शिंदे के बयान पर शिवसेना प्रवक्ता मनीषा कायंडे ने कहा है कि उनके स्‍टेमेंट से कांग्रेस की निराशा झलक रही है. उन्होंने कहा कि दो राज्यों में विधानसभा चुनाव है और राहुल गांधी कहीं नजर ही नहीं आ रहे हैं. शिवसेना-बीजेपी सरकार ने जिस तरह का काम किया है, उससे कांग्रेस को अपनी हार साफ तौर पर दिखने लगी है. कांग्रेस-एनसीपी का विलय होता है तो भी शिवसेना को कोई फर्क नहीं पड़ने वाला है.

शिंदे के इस बयान से मची हलचल
बता दें कि कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय गृहमंत्री सुशील कुमार शिंदे ने मंगलवार को कहा था कि उनकी पार्टी और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) ‘भविष्य में साथ आएंगे.’ पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा था कि वह और राकांपा अध्यक्ष शरद पवार एक ही पेड़ के नीचे (कांग्रेस में ही) बड़े हुए हैं, हालांकि पवार खुलेआम इस पर बात नहीं करते हैं.
सार्वजनिक सभा में बोल रहे थे शिंदे


शिंदे ने बिना ब्‍योरा देते हुए कहा था, ‘भले ही कांग्रेस और राकांपा दो अलग-अलग पार्टियां हैं, लेकिन आज मैं आपको यह कहना चाहूंगा कि भविष्य में हम एक-दूसरे के करीब आएंगे, क्योंकि अब शरद पवार भी थक गए हैं और हम भी थक गए हैं.’ सुशील कुमार शिंदे पश्चिमी महाराष्ट्र में अपने गृह जिले सोलापुर में एक सार्वजनिक सभा में बोल रहे थे.

'सिर्फ साढ़े आठ महीने छोटे हैं'
शिंदे ने खुद के और पवार के बारे में कहा कि वह राकांपा नेता से सिर्फ साढ़े आठ महीने छोटे हैं और एक ही पेड़ के नीचे बड़े हुए हैं. इंदिरा गांधी और यशवंतराव चव्हाण के नेतृत्व में आगे बढ़े हैं. उन्होंने कहा, ‘इसलिए हमारे दिल और उनके दिल में भी अफसोस है, एक ही भावना है...बस इतना फर्क है कि वह (पवार) इसके बारे में बोलते नहीं हैं, लेकिन समय आएगा जब वह इस बारे में बात करेंगे.’ पवार ने मई 1999 में कांग्रेस छोड़ दी थी और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी की स्थापना की थी.

ये भी पढ़ें-  

मोदी ने पूरा किया एक निशान, एक प्रधान, एक संविधान का सपना: CM योगी

DRM ने बापू की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया फिर जूता पहनकर चबूतरे पर खड़े हो ग
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज