महाराष्ट्र में घटा बाढ़ का पानी, मुम्बई-बेंगलुरु NH खुला

कोल्हापुर के पुलिस अधीक्षक अभिनव देशमुख ने कहा कि पानी का स्तर घट गया है. इससे शिरोली पुल का अब वाहनों की आवाजाही के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है.

News18Hindi
Updated: August 12, 2019, 3:19 PM IST
महाराष्ट्र में घटा बाढ़ का पानी, मुम्बई-बेंगलुरु NH खुला
प्रतीकात्मक फोटो
News18Hindi
Updated: August 12, 2019, 3:19 PM IST
महाराष्ट्र के कोल्हापुर में बाढ़ की वजह से पिछले छह दिन से बंद मुम्बई-बेंगलुरु राष्ट्रीय राजमार्ग को पानी घटने के बाद सोमवार को खोल दिया गया. यह जानकारी एक अधिकारी ने दी. छह लेन के राष्ट्रीय राजमार्ग 4 पर शिरोली पुल से एक लेन के माध्यम से कोल्हापुर और बेलगाम के बीच यातायात को चालू कर दिया गया है. पिछले हफ्ते बाढ़ में इस व्यस्त राजमार्ग के डूब जाने के बाद हजारों वाहन फंस गए थे.

कोल्हापुर के पुलिस अधीक्षक अभिनव देशमुख ने कहा कि पानी का स्तर घट गया है. इससे शिरोली पुल का अब वाहनों की आवाजाही के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है. हमने एहतियात के तौर पर इस राजमार्ग के एक तरफ के लेन को खोलने का फैसला किया है. कोल्हापुर जिला कार्यालय के एक अधिकारी ने कहा कि वैसे तो अब भी पुल पर थोड़ा-बहुत पानी बह रहा है, लेकिन इसके घटने की उम्मीद है.

अधिकारी ने कहा कि कोल्हापुर से बहने वाली कृष्णा नदी की बड़ी सहायक नदी पंचगंगा में जलस्तर रातभर में एक फुट घटा है, लेकिन अब भी जलस्तर खतरे के स्तर 49 फुट पर है. उन्होंने कहा कि पंचगंगा के तटबंधीय क्षेत्रों में बारिश रुक गयी है. लेकिन बांधों से नदी में अब भी पानी बह रहा है. जलस्तर जब घट जाएगा तो कोल्हापुर में सड़कों को वाहनों की आवाजाही के लिए खोल दिया जाएगा.

अधिकारियों के अनुसार सेना, वायुसेना, नौसेना, राष्ट्रीय आपदा मोचन बल, तटरक्षक बल, राज्य आपदा मोचन बल, पुलिस और स्थानीय अधिकारियों की करीब 105 टीम पश्चिमी महाराष्ट्र क्षेत्र में बचाव कार्य में जुटी हैं. उनके मुताबिक 54 बचाव टीम कोल्हापुर में सक्रिय हैं, जबकि 51 सांगली में कार्यरत हैं.

राज्य के एक वरिष्ठ अधिकारी ने रविवार को बताया था कि बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों से अब तक करीब 4.48 लाख लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है. इनमें 4.04 लाख लोग कोल्हापुर और सांगली के बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों से निकाले गए हैं. उन्हें 372 अस्थायी शिविरों और आश्रयस्थलों पर पहुंचाया गया है.

सांगली और कोल्हापुर के मुसलमानों ने सोमवार को ईद उल अजहा बिल्कुल सादगी से मनाने और बाढ़ प्रभावितों को दान करने का निर्णय लिया है. मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने रविवार को कहा था कि हर बाढ़ प्रभावित परिवार को पांच-पांच हजार रुपये नकद दिए जाएंगे और बाकी वित्तीय सहायता उनके बैंक खातों में पहुंचाई जाएगी.

ये भी पढ़ें -
Loading...

नहीं दी सोने की चेन और बुलेट तो शौहर ने दिया बीवी को तीन तलाक, केस दर्ज

वॉट्सऐप पर दूसरे मर्द से बात करती थी पत्नी, पति ने गला घोंटकर की हत्या

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Mumbai से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 12, 2019, 3:19 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...