मुंबई के सिटी सेंटर मॉल में लगी आग पर 36 घंटे बाद भी नहीं पाया जा सका काबू, मौके पर जुटे दमकल कर्मी

आग पर काबू पाने की कोशिश में अग्निशमन विभाग के कम से कम दो कर्मचारी घायल हुए हैं.
आग पर काबू पाने की कोशिश में अग्निशमन विभाग के कम से कम दो कर्मचारी घायल हुए हैं.

Fire in City Centre Mall: बृहन्मुंबई महानगरपालिका (बीएमसी) के एक अधिकारी ने बताया कि पांचों कर्मियों को इलाज के बाद अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है. अधिकारी ने बताया कि आग एक भूमिगत तल और तीन मंजिला सिटी सेंटर मॉल में गुरुवार रात आठ बजकर 53 मिनट पर लगी थी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 25, 2020, 11:49 PM IST
  • Share this:
मुंबई. दमकलकर्मियों को मुंबई सेंट्रल इलाके के सिटी सेंटर मॉल (City Centre Mall) में लगी आग पर काबू पाने की कोशिश करते हुए 36 घंटे से भी अधिक का समय हो गया है, लेकिन अब तक इसे नियंत्रित नहीं किया जा सका है. दमकल विभाग के अधिकारियों ने शनिवार सुबह बताया कि 18 दमकल इंजन और 10 बड़े टैंकर आग बुझाने के अभियान में जुटे हैं. अधिकारियों ने बताया कि मॉल के पास स्थित एक अन्य बहुमंजिला इमारत से 3,500 से अधिक लोगों को एहतियात के तौर पर बाहर निकाला गया है. उन्होंने पहले बताया था कि आग बुझाने के अभियान में एक उप दमकल अधिकारी सहित पांच दमकल कर्मी जख्मी हो गए.

बृहन्मुंबई महानगरपालिका (बीएमसी) के एक अधिकारी ने बताया कि पांचों कर्मियों को इलाज के बाद अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है. अधिकारी ने बताया कि आग एक भूमिगत तल और तीन मंजिला सिटी सेंटर मॉल में गुरुवार रात आठ बजकर 53 मिनट पर लगी थी. अधिकारी ने बताया कि 88 पानी के टैंकरों को आग बुझाने में लगाया गया है.

300 लोगों को भूमिगत तल से बाहर निकाला गया
करीब 300 लोगों को भूमिगत तल से बाहर निकाला गया. बृहन्मुंबई महानगरपालिका (बीएमसी) ने इससे पहले एक प्रेस विज्ञप्ति में बताया कि मुंबई दमकल ने एक ‘ब्रिगेड कॉल’ दिया था जिसके तहत शहर की सभी एजेंसियों से दमकल की गाड़ियां बुलाई जाती हैं. आग मॉल की दूसरी मंजिल पर स्थित एक मोबाइल की दुकान में लगी थी. इस मंजिल पर ज्यादातर दुकानें मोबाइल और उससे जुड़ी सामग्रियों की ही हैं.




बीएमसी ने बताया कि मॉल के पड़ोस में स्थित 55 मंजिला ओर्चिड एन्क्लेव के 3,500 लोगों को एहतियात के तौर पर बाहर निकाला गया है. इस आग को शुरुआत में ‘स्तर-एक’ यानी ‘मामूली श्रेणी’ में रखा गया था, लेकिन इसे रात 10 बजकर 45 मिनट पर ‘स्तर-तीन’ तक बढ़ा दिया गया तथा बाद में यह और भयानक होकर देर रात दो बजकर 30 मिनट पर ‘स्तर-चार’ तक पहुंच गई.

घटनास्थल पर पहुंचे महापौर किशोरी पेडनेकर
मुंबई महापौर किशोरी पेडनेकर ने घटनास्थल का दौरा करके आग बुझाने के अभियान की समीक्षा की. अग्निशमन अधिकारियों ने बताया कि अब तक आग लगने की वजह का पता नहीं चल पाया है. इससे पहले, गुरुवार को मुंबई के कुर्ला में एक कपड़ा फैक्टरी में आग लग गई थी. इस पर दो घंटे में काबू पा लिया गया था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज