बॉम्बे हाईकोर्ट ने केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी और EC को भेजा नोटिस, ये है पूरा मामला

बॉम्बे उच्च न्यायालय की नागपुर पीठ ने यह नोटिस लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान गडकरी के चुनाव को चुनौती देने वाली याचिका की सुनवाई करते हुए जारी किया है.

News18Hindi
Updated: July 25, 2019, 8:16 PM IST
बॉम्बे हाईकोर्ट ने केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी और EC को भेजा नोटिस, ये है पूरा मामला
मुंबई उच्च न्यायालय की नागपुर पीठ ने केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी और भारतीय निर्वाचन आयोग को नोटिस जारी किया है.
News18Hindi
Updated: July 25, 2019, 8:16 PM IST
बाॅम्बे उच्च न्यायालय की नागपुर पीठ ने केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी और भारतीय निर्वाचन आयोग को नोटिस जारी किया है. उच्च न्यायालय ने यह नोटिस लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान नितिन गडकरी के चुनाव को चुनौती देने वाली याचिका पर सुनवाई करते हुए जारी किया है. न्यायालय ने मामले में अपना जवाब दाखिल करने को कहा है.

बता दें कि कांग्रेस के नेता नाना पटोले, ‘वंचित बहुजन अघाड़ी’ के उम्मीदवार मनोहर डबरासे और नफीस खान ने निर्वाचन प्रक्रिया में चुनावी गड़बड़ी का आरोप लगाते हुए याचिकाएं दायर की थीं. जिनकी सुनवाई के दौरान न्यायमूर्ति एएस चंदुरकर की एकल पीठ ने नोटिस जारी किए. पटोले और डबरासे इस साल की शुरुआत में लोकसभा चुनाव में गडकरी के खिलाफ खड़े हुए थे. भाजपा उम्मीदवार नितिन गडकरी ने पटोले को 1.97 लाख मतों के अंतर से हराया था.

मुंबई उच्च न्यायालय, केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी को नोटिश, भारतीय निर्वाचन आयोग को नोटिस, चुनाव प्रक्रिया में गड़बड़ी, Notice to the Bombay High Court, Union Minister Nitin Gadkari, notice to the Election Commission of India, disturbances in the election process,
उच्च न्यायालय ने यह नोटिस लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान गडकरी के चुनाव को चुनौती देने वाली याचिका सुनवाई करते हुए जारी किया है.


क्या है पूरा मामला

पटोले ने आरोप लगाया है कि राज्य निर्वाचन आयोग ने चुनाव के लिए तय प्रक्रियाओं का पालन नहीं किया. डबरासे ने आरोप लगाया कि मतदान के दौरान त्रुटिपूर्ण इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों का प्रयोग किया गया. याचिकाकर्ताओं के वकील की दलीलें सुनने के बाद न्यायमूर्ति चंदुरकर ने नितिन गडकरी, निर्वाचन आयोग और उस आयुक्त को नोटिस जारी किए, जो नागपुर के लिए निर्वाचन अधिकारी थे.

अगली सुनवाई 22 अगस्त

वहीं, अदालत ने नितिन गडकरी को इन याचिकाओं में लगाए गए आरोपों का जवाब देते हुए शपथपत्र दायर करने को कहा है. साथ ही अदालत ने मामले की अगली सुनवाई 22 अगस्त को की जाएगी.
Loading...

ये भी पढ़ें:

सामने आया डॉ. पायल तड़वी का सुसाइड नोट, लिखा था- सीनियर मुझे काम नहीं करने देते...

खुलासा: हिजबुल और माओवादियों का गठजोड़ चाहते थे गौतम नवलखा
First published: July 25, 2019, 7:15 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...