ड्रग्स माफिया को NCB ने दबोचा, चिंकू पठान की गिरफ्तारी के बाद बढ़ा रहा था सप्‍लाई

आतंक का पर्याय बन चुके ड्रग्स माफिया को NCB ने दबोचा. (प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर)

आतंक का पर्याय बन चुके ड्रग्स माफिया को NCB ने दबोचा. (प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर)

Mumbai NCB: मुम्बई नॉरकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो के ज्‍वाइंट डायरेक्टर समीर वानखेड़े ने बताया कि अग्रीपाड़ा इलाके में सरफराज पप्पी के आतंक की कई बार उन्हें शिकायतें मिली थी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 19, 2021, 12:18 AM IST
  • Share this:
मुंबई. देश की आर्थिक राजधानी मुंबई में आतंक का पर्याय बन चुके ड्रग्स माफिया सरफराज कुरैशी उर्फ पप्पी को मुम्बई नॉरकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो यानी एनसीबी ने आखिरकार गिरफ्तार कर लिया हैं. सरफराज पप्पी की गिरफ्तारी मुम्बई के अग्रीपाड़ा इलाके से बीती रात उस वक़्त एनसीबी ने की, जब ड्रग्स सप्लाई का सुराग मिलने के बाद छापेमारी की गई थी.

इस दौरान उसके पास से करीब 17 लाख रुपये की कीमत का एमडी ड्रग्स सहित 3 लाख रुपए कैश बरामद किया गया. एनसीबी के आला अधिकारियों से मिली जानकारी के मुताबिक अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद के खास गुर्गे चिंकू पठान और आरिफ भुजवाला की गिरफ्तारी के बाद सरफराज पप्पी पूरी साउथ मुम्बई में ड्रग्स की सप्लाई करने लगा था. इतना ही नहीं, उसने एमडी ड्रग्स का दाम 800 रुपये से बढ़ाकर 2000 रुपये प्रति ग्राम कर दिया था.

आतंक का पर्याय बन चुका था ड्रग्स माफिया

मुम्बई नॉरकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो के ज्‍वाइंट डायरेक्टर समीर वानखेड़े ने बताया कि अग्रीपाड़ा इलाके में सरफराज पप्पी के आतंक की कई बार उन्हें शिकायतें मिली थी. वह जिस सोसाइटी में रहता था, उसमें उसका 2 बीएचके का फ्लैट था, जिसमें कुल 28 लोग रहते थे. इसी फ्लैट से पप्पी ड्रग्स की सप्लाई करने के साथ-साथ लोगों से मारपीट और झगड़ा भी करता था, क्योंकि सोसाइटी के बाकी लोग उसके धंधे का विरोध करते थे.
शिकायत मिलने के बाद जब पुलिस पहुंचती थी तो उसके घर की महिलाएं हंगामा करने लगती थीं और उल्टा पुलिस पर ही बदतमीजी करने का आरोप लगाती थीं. वानखेड़े के मुताबिक बीती रात जब एनसीबी की टीम ने छापा मारा तो पप्पी के घर की महिलाओं ने उसी तरह की हरकत करने की कोशिश की, लेकिन एनसीबी के आगे उनकी नहीं चली.

ड्रग्‍स बरामद करने में ऐसे कामयाब हुई पुलिस

एनसीबी के आला अधिकारियों के मुताबिक पप्पी की मोडस ऑपरेंडी यह थी कि इसने पुलिस से बचने के लिए अपनी सोसाइटी में 2 सीसीटीवी कैमरा लगा रखा था और उसका कंट्रोल अपने फ्लैट में रखा हुआ था. जब भी कोई पुलिस टीम उसके अड्डे पर पहुंचती थी तो पहले उसे सीसीटीवी के जरिए पता चल जाता था और वह ड्रग्स छुपा देता था. बीती रात जब एनसीबी की टीम ने उसके घर पर छापा मारा तो उसने ड्रग्स को बाथरूम के बाहर रस्सी के सहारे नीचे की तरफ लटका दिया, लेकिन एनसीबी की टीम ने उसे बरामद कर लिया. पप्पी की निशानदेही पर एनसीबी ने नागपाड़ा इलाके में उसके साथी समीर सामा के घर छापा मारा, लेकिन वह फरार हो गया था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज