मुंबई: नाले में गिरे बच्चे का नहीं मिला सुराग, पिता ने दी आत्महत्या की धमकी

मुंबई के गोरेगांव इलाके में बुधवार रात खुले नाले में गिरे दो साल के मासूम दिव्यांशु का अब तक पता नहीं चल पाया है. मासूम बच्चा खुले नाले में गिरकर बह गया था. फायर ब्रिगेड, पुलिस और मुंबई नगर निगम (बीएमसी) की टीम अभी भी दिव्यांशु की तलाश में जुटी हुई है.

News18Hindi
Updated: July 11, 2019, 11:59 PM IST
मुंबई: नाले में गिरे बच्चे का नहीं मिला सुराग, पिता ने दी आत्महत्या की धमकी
मुंबई: नाले में गिरे बच्चे का नहीं मिला सुराग, पिता ने दी आत्महत्या की धमकी. (प्रतीकात्मक तस्वीर)
News18Hindi
Updated: July 11, 2019, 11:59 PM IST
मुंबई के गोरेगांव इलाके में बुधवार रात खुले नाले में गिरे दो साल के मासूम दिव्यांशु का अब तक पता नहीं चल पाया है. मासूम बच्चा खुले नाले में गिरकर बह गया था. फायर ब्रिगेड, पुलिस और मुंबई नगर निगम (बीएमसी) की टीम अभी भी दिव्यांशु की तलाश में जुटी हुई है.

पुलिस और बीएमसी की टीमों ने बच्चे को ढूंढने के लिए सर्च ऑपरेशन शुरू कर दिया है. बच्चे के नाले में गिरने की पूरी घटना पास में लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई. वहीं मासूम बच्चों के परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है. बेटे के माता-पिता के सब्र का बांध टूटता जा रहा है. दिव्यांशु के पिता सूरज सिंह ने कहा, “अगर गुरुवार रात तक मेरा बेटा मुझे नहीं मिला तो मैं आत्महत्या कर लूंगा. इस हादसे के लिए बीएमसी जिम्मेदार है. बच्चे की मां का रो-रोकर बुरा हाल है. वे दरवाजे के बाहर नाले में अपने बच्चे को ढूंढ रही हैं."



जिम्मेदार बीएमसी पर होना चाहिए एक्शन
बच्चे के चाचा संदीप सिंह ने कहा, हादसे के लिए पूरी तरह से बीएमसी जिम्मेदार है, बीएमसी के खिलाफ एक्शन होना चाहिए. बच्चे के नाले में गिरने के बाद आस-पास के लोगों ने भी बीएमसी को जिम्मेदार ठहराते हुए कहा कि अगर नाला ढका होता तो यह हादसा नहीं होता. लोगों का आरोप है कि बचाव अभियान भी सही वक्त पर शुरू नहीं किया गया.

पैर फिसला और नाले में गिरा
दिव्यांशु रात को अपने घर से खेलता हुआ सड़क पर बाहर निकला और जैसे ही वापस घर जाने के लिए घूमा उसका पैर फिसल गया और वो नाले में जा गिरा. इस दौरान नाले में तेज बहाव में दिव्यांशु बह गया. जिस समय वह नाले में गिरा तब वहां कोई भी मौजूद नहीं था. इसके बाद उसकी मां उसे ढूंढते हुए बाहर निकली लेकिन उसका कुछ पता नहीं लगा. लेकिन बाद में जब पास में लगे मस्जिद के सीसीटीवी फुटेज को देखा गया तो दिव्यांशु खुले नाले में गिरता दिखाई दिया.

बीएमसी पर फूटा गुस्सा
Loading...

हादसे के बाद से ही पुलिस, बीएमसी और फायर ब्रिगेड की टीम के साथ स्‍थानीय लोग भी मासूम को तलाशते रहे लेकिन उसका रात भर कुछ पता नहीं चल सका. स्‍थानीय लोगों ने इस हादसे का जिम्मेदार बीएमसी को ठहराया है. लोगों ने कहा कि लंबे समय से बीएमसी को खुले नाले ढकने के लिए बोला जा रहा है लेकिन ऐसा अभी तक नहीं हुआ. बारिश के दिनों में यह नाले और भी बड़ा खतरा बन जाते हैं.

ये भी पढ़ें - 
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...