मुंबई बारिश: महालक्ष्मी एक्सप्रेस के सभी यात्रियों को सुरक्षित बचाया गया, रेक्स्यू ऑपरेशन पूरा

मुंबई और कोल्हापुर के बीच चलने वाली महालक्ष्मी एक्सप्रेस (Mahalaxmi Express) पिछले कई घंटों से बदलापुर और वानगानी रूट पर पानी में फंसी हुई थी. NDRF, नेवी और एयर फोर्स की टीम की मदद से सभी यात्रियों को सुरक्षित बचा लिया गया.

News18Hindi
Updated: July 27, 2019, 3:20 PM IST
News18Hindi
Updated: July 27, 2019, 3:20 PM IST
राजधानी मुंबई सहित महाराष्ट्र के कई इलाकों में भारी बारिश से जनजीवन अस्त व्यस्त हो गया है. वहीं मुंबई और कोल्हापुर के बीच चलने वाली महालक्ष्मी एक्सप्रेस (Mahalaxmi Express) पिछले कई घंटों से बदलापुर और वानगानी रूट पर पानी में फंसी हुई थी. ट्रेन में फंसे 700 यात्रियों की सांसें अटक गई थी. एनडीआरएफ और सेना की मदद से सभी लोगों को सुरक्षित बचा लिया गया.

इससे पहले सेंट्रल रेलवे के डिविजनल रेलवे मैनेजर (DRM) ने बचाव दल को तत्काल जाकर वहां फंसे यात्रियों को निकालने के निर्देश दिए. मौके पर एनडीआरएफ की टीम पहुंची. इसके अलावा नेवी और एयरफोर्स की भी मदद ली गई. नेवी ने यात्रियों को बचाने के लिए रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू कर दिया. सेंट्रल रेलवे के चीफ पब्लिक रिलेशन ऑफिसर ने बताया कि सभी महिला एवं पुरुष यात्रियों को सुरक्षित बचा लिया गया है.

महालक्ष्मी एक्सप्रेस में फंसे यात्रियों को बचाने के लिए नेवी की 8 टीम लगी हुई है. इसके अलावा 3 टीम लाइफ जैकेट और राहत सामग्री के साथ जुटी हुई है. एक हेलीकॉप्टर को भी बचाव कार्य में लगाया गया है.


Loading...

एनडीआरएफ की टीम भी मौके पर पहुंच चुकी है. महालक्ष्मी एक्सप्रेस में फंसे यात्रियों को बचाने के लिए युद्ध स्तर पर काम हो रहा है.


इससे पहले महाराष्ट्र के डायरेक्टर जनरल ऑफ इनफॉर्मेशन एंड पब्लिक रिलेशन (DGIPR), बृजेश सिंह ने बताया, 'महालक्ष्मी एक्सप्रेस में फंसे हुए 2000 यात्रियों को सुरक्षित निकालने के लिए 3 नाव को मौके पर भेज दिया गया है.'


वहीं लंबे समय से बारिश मे ंफंसी महालक्ष्मी एक्सप्रेस के यात्रियों के लिए रेलवे सुरक्षा बल (RPF) के जवान और स्थानीय पुलिस के लोग बिस्कुल और पानी लेकर पहुंचे थे. ट्रेन में लगभग 2000 हजार यात्री फंसे हुए हैं.


वहीं शहर की लाइफ लाइन कही जाने वाली लोकल ट्रेन भी लेट चल रही है. अंबरनाथ स्टेशन तो पानी में डूब गया है. इसके अलावा, देश की आर्थिक राजधानी के कई इमारतों और दुकानों में पानी भर गया है. सड़क पर लंबे जाम से भी लोग परेशान हैं. वहीं तेज बारिश के कारण 24 फ्लाइट्स कैंसल कर दी गई हैं, जबकि 9 को डायवर्ट किया गया है.

मौसम विभाग के मुताबिक, फिलहाल बारिश से राहत मिलने के आसार नहीं हैं. अगले 48 घंटों में शहर में तेज बारिश का पूर्वानुमान है. वहीं आज सुबह से ही अंधेरी, सायन और कुर्ला जैसे इलाकों में भारी बारिश हो रही है. विभाग के मुताबिक, अगले 4 घंटों के दौरान ठाणे, रायगढ़ और मुंबई में 50 से 60 किमी प्रतिघंटे की रफ्तार से तेज हवाएं चलने के आसार हैं. लोगों को समुद्र तट पर न जाने की सलाह दी गई है.


खराब मौसम के कारण हवाई यात्राएं भी प्रभावित हुई हैं. भारी बारिश के कारण तकरीबन सभी उड़ाने आधे घंटे की देरी से चल रही हैं. छत्रपति शिवाजी अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट पर अभी भी दृश्यता अस्थिर बनी हुई है.


शुक्रवार को क्षेत्रीय मौसम विभाग ने मुंबई के अलावा, ठाणे और पुणे के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया था. वहीं 26 और 28 जुलाई के लिए पालघर में पहले ही रेड अलर्ट जारी किया जा चुका है. मौसम विभाग ने यह भी जानकारी दी कि मंगलवार से राज्य में मॉनसून फिर से एक्टिव हो गया है. वहीं इसका असर सबसे ज्यादा मुंबई और आसपास के इलाकों पर रहेगा.

प्रशासन ने लोगों को बाहर नहीं निकलने और सतर्क रहने की सलाह दी है. मुंबई में भारी बारिश में पुरानी इमारतों के गिरने का डर बना रहा है. हाल में भी ऐसी कई घटनाएं हो चुकी है. शुक्रवार शाम को खाखर इलाके में एक इमारत गिर गई थी. लेकिन इसमें किसी जानमाल के नुकसान की खबर नहीं है.

ये भी पढ़ें-

Tik Tok वीडियो बनाने के लिए पानी में कर रहा था स्टंट,हुई मौत
First published: July 27, 2019, 8:03 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...