मुंबई स्‍पेशल कोर्ट से जाकिर नाईक को झटका, अदालत में फिजिकली पेश होने का आदेश

इस्लामिक प्रचारक जाकिर नाईक पर भारत में मनी लॉन्ड्रिंग के आरोप हैं. भगोड़े जाकिर नाईक ने अभी मलेशिया में शरण ले रखी है. भारत सरकार ने मलेशिया की सरकार से उसके प्रत्यर्पण की औपचारिक मांग की है.

News18Hindi
Updated: June 19, 2019, 1:48 PM IST
मुंबई स्‍पेशल कोर्ट से जाकिर नाईक को झटका, अदालत में फिजिकली पेश होने का आदेश
मुंबई की विशेष कोर्ट ने जाकिर नाईक को कोर्ट में पेश होने के आदेश दिए.
News18Hindi
Updated: June 19, 2019, 1:48 PM IST
मुंबई की स्पेशल कोर्ट ने मनी लॉन्ड्रिंग के आरोपी इस्लामिक प्रचारक जाकिर नाईक को 31 जुलाई को कोर्ट में फिजिकली पेश होने का आदेश दिया है. जाकिर नाईक के पेश न होने पर कोर्ट उसके खिलाफ गैर-जमानती वारंट भी जारी कर सकता है.

बता दें कि इस्लामिक प्रचारक जाकिर नाईक पर भारत में मनी लॉन्ड्रिंग के आरोप हैं. भगोड़े जाकिर नाईक ने अभी मलेशिया में शरण ले रखी है. भारत सरकार ने मलेशियाई सरकार से जाकिर नाईक के प्रत्यर्पण की औपचारिक मांग की है. विदेश मंत्रालय का कहना है कि भारत इस मामले को आगे भी मलेशिया के सामने उठाता रहेगा.

इससे पहले मलेशिया के प्रधानमंत्री ने कहा था कि जाकिर नाईक को भारत में न्याय नहीं मिलेगा. मलेशिया के प्रधानमंत्री महातिर मोहम्मद ने कहा कि मलेशिया के पास यह अधिकार है कि यदि नाईक के साथ न्यायसंगत व्यवहार होता नहीं दिख रहा है तो वो उसका प्रत्यर्पण नहीं करेंगे.

दिसंबर, 2016 में दर्ज हुआ था मनी लॉन्ड्रिंग मुकदमा

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने जाकिर नाईक और कुछ अन्य लोगों के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में चार्जशीट दायर की थी. इससे पहले ईडी ने जाकिर नाईक के खिलाफ 22 दिसंबर, 2016 को मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट की धाराओं में मुकदमा दर्ज किया था. ईडी ने कार्रवाई करते हुए नाईक की 16.40 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त कर ली थी.

ये भी पढ़ें :

मलेशिया से जाकिर नाईक का प्रत्यर्पण संभव, भारत ने फिर की मांग
Loading...

मलेशिया के लग्जरी फ्लैट में रहता है भारत में वांटेड जाकिर नाइक, सत्ता से हैं नजदीकियां

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
First published: June 19, 2019, 12:25 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...