नाना पटोले के हाथ में महाराष्ट्र कांग्रेस की कमान, पार्टी संगठन में बड़े बदलाव

नाना पटोले ने गुरुवार को विधानसभा अध्यक्ष पद से इस्तीफा दिया था. (तस्वीर-ANI)

नाना पटोले ने गुरुवार को विधानसभा अध्यक्ष पद से इस्तीफा दिया था. (तस्वीर-ANI)

पटोले (Nana Patole) भंडारा जिले की सकोली सीट से विधायक हैं. उन्हें महाराष्ट्र कांग्रेस की कमान सौंपे जाने की खबरें पहले से चल रही थीं. वह प्रदेश कांग्रेस प्रमुख के तौर पर राजस्व मंत्री बालासाहेब थोराट का स्थान लेंगे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 5, 2021, 4:08 PM IST
  • Share this:
मुंबई. महाराष्ट्र विधानसभा अध्यक्ष पद से इस्तीफा देने के एक दिन बाद शुक्रवार को नाना पटोले (Nana Patole) कांग्रेस के राज्य अध्यक्ष बनाए गए हैं. पटोले भंडारा जिले की सकोली सीट से विधायक हैं. उन्हें महाराष्ट्र कांग्रेस की कमान सौंपे जाने की खबरें पहले से चल रही थीं. वह प्रदेश प्रमुख के तौर पर राजस्व मंत्री बालासाहेब थोराट का स्थान लेंगे.

पार्टी संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल के अनुसार, कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने पटोले को महाराष्ट्र प्रदेश कांग्रेस कमेटी का अध्यक्ष नियुक्त करने के साथ ही छह नेताओं को कार्यकारी अध्यक्ष की जिम्मेदारी सौंपी है. शिवाजी राव मोगे, बासवराज पाटिल, मोहम्मद आरिफ नसीम खान, कुणाल रोहिदास पाटिल, चंद्रकांत हंडोरे और प्रणति शिंदे को कार्यकारी अध्यक्ष बनाया गया है. इनके साथ ही 10 उपाध्यक्ष नियुक्त किए गए हैं. संसदीय बोर्ड और आगामी निकाय चुनावों के लिए रणनीति, स्क्रीनिंग एवं समन्वय समिति का गठन भी किया गया है.

नाना पटोले और गडकरी की टक्कर की वजह से नागपुर सीट पर थी सबकी निगाहें

नाना पटोले ने 2019 के लोकसभा चुनाव में नागपुर सीट पर केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी को टक्कर दी थी. नाना पटोले और गडकरी की टक्कर की वजह से महाराष्ट्र की इस सीट पर देशभर की निगाहें लगी हुई थीं. हालांकि गडकरी करीब एक लाख वोटों के अंतर से चुनाव जीत गए.
2014 में एनसीपी दिग्गज प्रफुल्ल पटेल को दी थी मात, 2017 में बीजेपी से दिया इस्तीफा

नाना पटोले पहले भारतीय जनता पार्टी में ही थे. साल 2014 में पार्टी के टिकट पर उन्होंने तत्कालीन केंद्रीय मंत्री और दिग्गज एनसीपी नेता प्रफुल्ल कुमार पटेल को हराया था. हालांकि बाद में मतभेदों की वजह से 2017 में उन्होंने बीजेपी का दामन छोड़कर कांग्रेस जॉइन की थी. कांग्रेस के टिकट पर वो एक बार फिर 2018 में सकोली सीट से विधायक बने. फिर कांग्रेस की तरफ से उन्हें विधानसभा अध्यक्ष जैसा महत्वपूर्ण पद मिला.

कांग्रेस ने बनाया ऑल इंडिया किसान कांग्रेस का चेयरमैन 



ओबीसी नेता के तौर पर पहचान रखने वाले पटोले किसानों के मुद्दे पर बेहद मुखर रहे हैं. किसानों के मुद्दों से लगाव की वजह से ही कांग्रेस ने उन्हें ऑल इंडिया किसान कांग्रेस का चेयरमैन भी बनाया है.

महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव से पहले कई कांग्रेसी नेताओं के पार्टी छोड़ने की खबरें आई थीं. माना जा रहा है कि नाना पटोले पार्टी संगठन मजबूत करने के लिए नई रणनीति पर काम कर सकते हैं. कांग्रेस के इस निर्णय को देश में किसानों के आंदोलन से जोड़कर भी देखा जा रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज