ड्रग्स मामले में NCB का बड़ा एक्शन, दाऊद के करीबी राजिक चिकना को किया तलब

राजिक चिकना को एनसीबी ने तलब किया

राजिक चिकना को एनसीबी ने तलब किया

पिछले दिनों ही राजस्थान (Rajasthan) से राजिक के भाई की गिरफ्तारी सुर्खियों में थी, जो डी कंपनी (D Company) की ड्रग्स फैक्ट्री और ड्रग्स सिंडिकेट में अहम कड़ी माना जा रहा है. पूरे मामले में हो रही कार्रवाई के बारे में जानिए.

  • News18India
  • Last Updated: April 12, 2021, 12:58 PM IST
  • Share this:
मुंबई. नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) ने दाऊद इब्राहिम गैंग के करीबी कहे जाने वाले राजिक चिकना को समन किया है और NCB सूत्रों की मानें तो राजिक चिकना मुंबई स्थित NCB दफ्तर में पूछताछ में शामिल होने पहुंच सकता है. अगर चिकना नहीं आता है तो उस पर गिरफ्तारी की तलवार लटक रही है. राजिक चिकना उसी दानिश चिकना का भाई है जो दाऊद की ड्रग्स फैक्ट्री चलाता था.

हाल में, राजस्थान से राजिक चिकना के भाई दानिश चिकना को गिरफ्तार किया गया था. दानिश दाऊद की ड्र्ग्स फैक्टी चलाता था. दानिश का भाई राजिक चिकना कई साल पहले भी गिरफ्तार हो चुका है. उस वक्त मुम्बई पुलिस के एनकाउंटर स्पेशलिस्ट की टीम ने उसे गिरफ्तार किया था.

maharashtra news, mumbai news, dawood ibrahim gang, d company gangster, महाराष्ट्र न्यूज़, मुंबई न्यूज़, दाऊद इब्राहिम गैंग, डी कंपनी गैंगस्टर
चिकना के परिवार के कई लोग ड्रग्स सिंडिकेट में आरोपी हैं.


कौन है चिकना और क्या है मामला?
मूल रूप से मुंबई के डोंगरी इलाके का रहने वाले चिकना पर गैंगस्टर एक्ट के साथ ही ड्र्ग्स और आर्म्स डीलिंग के संबंध में कई मामले दर्ज हैं. वहीं, मुम्बई ATS ने भी राजिक चिकना पर मुकदमा दर्ज कर रखा है. बता दें कि राजिक चिकना का पूरा परिवार D कंपनी से जुड़ा रहा है. राजिक के भाई दानिश के साथ ही उसके परिवार के यूसुफ चिकना का नाम सामने आ चुका है. सब मिलकर दाऊद की ड्र्ग्स फैक्ट्री को डोंगरी इलाके में सालों से बेख़ौफ़ चला रहे थे.

बताया जाता है कि जबसे NCB की कमान चीफ राकेश अस्थाना ने संभाली, तबसे ही दो तेज़तर्रार अफसरों केपीएस मल्होत्रा और समीर वानखेड़े ने अंडरवर्ल्ड और बॉलीवुड में फैले ड्र्ग्स सिंडिकेट को खत्म करने का बीड़ा उठा लिया. कहा जा रहा है कि सोमवार को अगर राजिक चिकना NCB के सामने पूछताछ के लिए नहीं आया तो उस पर गिरफ्तारी की तलवार लटक रही है.

गौरतलब है कि NCB ने डोंगरी की जिस ड्रग्स फैक्ट्री पर रेड की थी, उसे छिपाने के लिए एक बड़े टेम्पो का सहारा लिया गया था. उस टेम्पो में सब्जी की दुकान लगाई गई थी ताकि लोगों को लगे कि वहां सब्जी बेची जा रही थी, जबकि उसके पीछे चल रही फैक्ट्री में तहखाना भी बना था, जहां रेड के दौरान छिपने और माल छिपाने की जगह थी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज