लाइव टीवी

महाराष्ट्र में सरकार गठन को लेकर असमंजस, NCP-कांग्रेस की बैठक में शिवसेना के 'साथ' पर हो सकता है फैसला

News18Hindi
Updated: November 20, 2019, 9:28 AM IST
महाराष्ट्र में सरकार गठन को लेकर असमंजस, NCP-कांग्रेस की बैठक में शिवसेना के 'साथ' पर हो सकता है फैसला
दोनों पार्टियों ने शिवसेना के साथ मिलकर सरकार बनाने की संभावना पर बातचीत के लिए अपने वरिष्ठ नेताओं को जिम्मेदारी सौंपी है. (File Photo)

24 अक्टूबर को महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव (Maharashtra Assembly Election 2019) के नतीजे (Results) आने के बाद से सरकार गठन (Government Formation) को लेकर लगातार असमंजस की स्थिति बनी हुई है

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 20, 2019, 9:28 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. महाराष्ट्र (Maharashtra) में नयी सरकार के गठन की दिशा में मंगलवार को भी कुछ खास प्रगति नहीं हो पाई और कांग्रेस एवं राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के बीच प्रस्तावित बैठक भी स्थगित हो गई. अब यह बैठक बुधवार को हो सकती है. 24 अक्टूबर को महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव (Maharashtra Assmbly Election 2019) के नतीजे (Results) आने के बाद से सरकार गठन को लेकर लगातार असमंजस की स्थिति बनी हुई है.

गठबंधन के नाम में सहमति नहीं
वहीं इस बैठक के बारे में बात करते हुए एक एनसीपी नेता का कहना है कि उम्मीद है कि कई मुद्दों के साथ-साथ एनसीपी और कांग्रेस के नेता शिवसेना के साथ होने वाले संभावित गठबंधन के नाम पर भी चर्चा करेंगे. उन्होंने कहा कि कांग्रेस और एनसीपी 'महा शिव अगाड़ी' (शिवसेना से युक्त महागठबंधन) के नाम से सहमत नहीं हैं. उन्होंने कहा, 'हम गठबंधन में किसी भी पार्टी का नाम नहीं चाहते हैं. यहां तक कि एनडीए और यूपीए गठबंधन में भी पार्टियों के नाम नहीं हैं.' बता दें कि कांग्रेस-एनसीपी गठबंधन को 'अगाड़ी' (सामने) और शिवसेना-भाजपा-आरपीआई और अन्य छोटे दलों को 'महायुति' (महागठबंधन) शब्द से जाना जाता है.

बैठक बुधवार को करने का आग्रह

इस बीच, मंगलवार दोपहर कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं अहमद पटेल, मल्लिकार्जुन खड़गे, केसी वेणुगोपाल और एके एंटनी ने सोनिया से मुलाकात कर महाराष्ट्र से जुड़ी स्थिति के बारे में अवगत कराया. राकांपा के नेता नवाब मलिक ने कहा कि कांग्रेस नेता पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की जयंती से जुड़े कार्यक्रमों में व्यस्त हैं और ऐसे में उन्होंने यह बैठक बुधवार को करने का आग्रह किया.

शिवसेना के साथ मिलकर सरकार बनाने की संभावना पर बातचीत
दोनों पार्टियों ने शिवसेना के साथ मिलकर सरकार बनाने की संभावना पर बातचीत के लिए अपने वरिष्ठ नेताओं को जिम्मेदारी सौंपी है. कांग्रेस की तरफ से वरिष्ठ नेता अहमद पटेल, संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल, महाराष्ट्र प्रभारी मल्लिकार्जुन खड़गे और कुछ अन्य नेता तथा राकांपा की तरफ से प्रफुल्ल पटेल, सुनील तटकरे, अजीत पवार और जयंत पाटिल मंगलवार को मिलने वाले थे. इससे पहले सोमवार को राकांपा प्रमुख शरद पवार ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात की और कहा कि दोनों पार्टियां अब उन छोटे दलों के साथ बातचीत करेंगी जो साथ चुनाव लड़े हैं.
Loading...

शिवसेना के नेतृत्व में सरकार
दिल्ली में शिवसेना सांसद संजय राउत ने कहा कि महराष्ट्र में अगले महीने की शुरुआत में शिवसेना के नेतृत्व में सरकार बन जाएगी जो स्थिर सरकार होगी. राउत ने कहा कि सरकार गठन को लेकर शिवसेना में कोई भ्रम नहीं है, लेकिन मीडिया भ्रम फैला रहा है. उधर, शिवसेना ने अपने मुखपत्र ‘सामना’ में तल्ख तेवरों में लिखे संपादकीय में कहा कि वह भाजपा को उखाड़ फेंकेगी जिसने उसे चुनौती देने की जुर्रत की है. उसने यह भी दावा किया कि सत्तारूढ दल के नेता बच्चे थे जब शिवसेना के सहयोग से राजग बना था.

24 अक्टूबर को महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के नतीजे आने के बाद से सरकार गठन को लेकर असमंजस की स्थिति बनी रही और फिर राज्य में राष्ट्रपति शासन लागू कर दिया गया. चुनाव में भाजपा-शिवसेना गठबंधन को बहुमत मिला था, लेकिन ढाई साल के लिए मुख्यमंत्री पद पर शिवसेना के दावे के बाद दोनों के रास्ते अलग हो गए.
ये भी पढ़ेंः
महाराष्ट्र में बन गई बात, उद्धव होंगे CM, NCP-कांग्रेस के पास डिप्टी CM का पद!


सोनिया गांधी शिवसेना को लेकर इस बात की चाहती हैं गारंटी, असमंजस में हैं पवार

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Mumbai से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 19, 2019, 11:40 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...