लाइव टीवी

महाराष्‍ट्र सरकार में विभागों के बंटवारे में क्‍यों हो रही देरी, NCP ने बताई वजह

भाषा
Updated: January 4, 2020, 7:02 PM IST
महाराष्‍ट्र सरकार में विभागों के बंटवारे में क्‍यों हो रही देरी, NCP ने बताई वजह
महा विकास अघाडी में क्यों नहीं बन पा रही सहमती

सूत्रों ने बताया कि सरकार में दो अतिरिक्त विभागों की मांग कर रही कांग्रेस ने उसे दिए गए विभागों के साथ मंत्रियों की सूची मुख्यमंत्री को शुक्रवार को सौंप दी थी.

  • Share this:
मुंबई. महाराष्ट्र (Maharashtra) में शिवसेना (shiv sena) और कांग्रेस (Congress) के साथ गठबंधन साझीदार राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) ने शनिवार को कहा कि उद्धव ठाकरे नीत सरकार कुछ नए विभाग बनाने पर विचार कर रही है. इसलिए मंत्रियों को विभागों का बंटवारे करने में समय लग रहा है.

मतभेदों की खबर से किया इनकार
NCP के मुख्य प्रवक्ता एवं महाराष्ट्र के मंत्री नवाब मलिक ने इन खबरों के मद्देनजर यह बयान दिया, जिनमें दावा किया गया है कि तीनों सत्तारूढ़ दलों के बीच विभागों के बंटवारे पर मतभेद के कारण आवंटन में देरी हो रही है. मलिक ने कहा कि विभागों का आवंटन सोमवार को किए जाने की संभावना है.

एनसीपी नेता ने इन खबरों को खारिज करते हुए कहा, ‘सरकार नए विभागों के गठन पर विचार कर रही है, इसलिए इसमें समय लग रहा है और कोई बात नहीं है’ उन्होंने फोन पर कहा, ‘आवंटन सोमवार तक हो जाना चाहिए’.

कांग्रेस ने मांगे दो अतिरिक्त विभाग
हालांकि मलिक ने विस्तार से कुछ नहीं बताया लेकिन सूत्रों ने बताया कि सरकार को मुख्यमंत्री कार्यालय, वाणिज्य, मेट्रो और अन्य के लिए नए मंत्री मिल सकते हैं. शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस के दो-दो सदस्यों के साथ मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने 28 नवम्बर को शपथ ली थी. इसके बाद 30 दिसंबर को मंत्रिमंडल का विस्तार किया गया था. सूत्रों ने बताया कि सरकार में दो अतिरिक्त विभागों की मांग कर रही कांग्रेस ने उसे दिए गए विभागों के साथ मंत्रियों की सूची मुख्यमंत्री को शुक्रवार को सौंप दी थी.

मंत्रालयों के आवंटन पर हुई बहसबता दें कि खबर ये भी है कि महा विकास अघाडी (Maharashtra Vikas Aghadi) की पांच घंटे से अधिक समय तक चली मैराथन बैठक के बाद भी मंत्रालयों के आवंटन पर आम सहमति नहीं बन पाई. गठबंधन सरकार (Coalition Government) में सहयोगी कांग्रेस और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) के नेताओं के बीच गुरुवार रात इस विषय पर हुई बैठक में जोरदार बहस हो गई.

सूत्रों के मुताबिक इसके पहले भी दोनों पार्टियों के बीच इसी बात को लेकर बहस हुई थी. बताया जा रहा है कि मंत्रिमंडल विस्तार में 12 सीटें पाने वाली कांग्रेस ग्रामीण क्षेत्रों से संबंधित दो विभाग और चाहती है और वो अपनी इस मांग को लेकर अड़ी हुई है.

ये भी पढ़ें: 

महाराष्ट्र: सरकार के जोड़-तोड़ में व्यस्त थे नेता, इधर 300 किसानों ने दी जान

महाराष्ट्र: शरद पवार ने विभागों के बंटवारे पर मतभेद की खबरों को किया खारिज

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Mumbai से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 4, 2020, 6:00 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर