अपना शहर चुनें

States

NCP ने अजित पवार को विधायक दल के नेता पद से हटाया, समर्थन करने वाले MLA भी निष्कासित- सूत्र

अजित पवार (Ajit Pawar) को विधायक दल के नेता पद से हटा दिया है. सूत्रों की मानें तो NCP ने अजित पवार का समर्थन करने वाले सभी विधायकों (MLA) को पार्टी से निष्कासित कर दिया है.
अजित पवार (Ajit Pawar) को विधायक दल के नेता पद से हटा दिया है. सूत्रों की मानें तो NCP ने अजित पवार का समर्थन करने वाले सभी विधायकों (MLA) को पार्टी से निष्कासित कर दिया है.

अजित पवार (Ajit Pawar) को विधायक दल के नेता पद से हटा दिया है. सूत्रों की मानें तो NCP ने अजित पवार का समर्थन करने वाले सभी विधायकों (MLA) को पार्टी से निष्कासित कर दिया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 23, 2019, 1:04 PM IST
  • Share this:
मुंबई. महाराष्ट्र (Maharashtra) में नई सरकार के गठन के बाद एक बड़ी खबर सामने आई है. सूत्रों की मानें तो राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी ने अजित पवार (Ajit Pawar) को विधायक दल के नेता पद से हटा दिया है. साथ ही एनसीपी ने अजीत पवार के समर्थन करने वाले सभी विधायकों (MLA) को भी पार्टी से निष्कासित कर दिया है. इसी बीच ये भी खबर है कि मुंबई स्थित वाईबी चव्हाण केंद्र के बाहर NCP के कार्यकर्ताओं के एक समूह ने शरद पवार के समर्थन में और अजीत पवार के खिलाफ नारे लगाए हैं.

शरद पवार की बेटी सुप्रिया सुले ने भी बड़ा बयान दिया है. उन्होंने कहा कि पार्टी और परिवार में टूट हो गई है. सुप्रिया सुले ने वॉट्सऐप स्टेटस पर यह जानकारी दी है. अजीत पवार के कदम पर उन्‍होंने कहा कि अब आप किस पर भरोसा करेंगे? वहीं, एक अन्य वॉट्सऐप स्टेटस में उन्होंने लिखा, 'जिंदगी में किसका विश्वास करें...जीवन में कभी इस तरह छला हुआ महसूस नहीं किया. उनका बचाव किया, प्यार किया... देखो बदले में मुझे क्या मिला.'

महराष्‍ट्र में नई सरकार का गठन
गौरतलब है कि तमाम अटकलों और कयासों के बीच महाराष्ट्र में भारतीय जनता पार्टी ने (BJP) एनसीपी के साथ मिलकर नई सरकार का गठन कर लिया. बीजेपी के देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) ने शनिवार सुबह महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री के तौर पर एक बार फिर से शपथ ले ली. राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने उन्हें शपथ दिलाई. साथ ही एनसीपी के अजित पवार ने डिप्टी सीएम पद की शपथ ली.
महाराष्ट्र में विधानसभा में कुल 288 सीटें


बता दें कि महाराष्ट्र में विधानसभा में कुल 288 सीटें हैं. यानि सरकार बनाने के लिए यहां मैजिक नंबर है 145. बीजेपी को इस आंकड़ें तक पहुंचने के लिए 40 और विधायकों की जरूरत है. बीजेपी के नेता दावा कर रहे हैं कि उन्हें कुल 170 विधायकों का समर्थन हासिल है. अजित पवार को एनसीपी से कम 35-40 विधायकों का समर्थन बीजेपी को देना होगा. अगर एक-दो विधायक कम पड़ते हैं तो फिर निर्दलीय और शिवसेना के विधायक भी बीजेपी के पाले में आ सकते हैं. बीजेप के नेता पहले ही ये कह चुके हैं कि कोई अगर सरकार बनाने में उनका समर्थन करना चाहते हैं तो वे उनका स्वागत करेंगे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज