लाइव टीवी

लोकसभा में शिवसेना के CAB का समर्थन करने से महाराष्ट्र सरकार पर असर नहीं: NCP

भाषा
Updated: December 12, 2019, 5:58 PM IST
लोकसभा में शिवसेना के CAB का समर्थन करने से महाराष्ट्र सरकार पर असर नहीं: NCP
राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के मुख्य प्रवक्ता नवाब मलिक ने कहा कि राज्यसभा से वॉक आउट करना शिवसेना के रुख में बदलाव को दिखाता है. (उद्धव ठाकरे और शरद पवार की File Photo)

एनसीपी (NCP) ने साफ शब्दों में कहा कि लोकसभा में शिवसेना (Shiv sena) द्वारा नागरिकता संशोधन विधेयक (Citizenship Amendment Bill 2019) का समर्थन करने से महाराष्ट्र सरकार पर असर नहीं होगा.

  • Share this:
मुंबई. राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी/एनसीपी (NCP) ने गुरुवार को कहा कि लोकसभा में नागरिकता संशोधन विधेयक (Citizenship Amendment Bill 2019) पर महाराष्ट्र विकास अघाडी के घटक दलों कांग्रेस और एनसीपी से शिवसेना (Shiv sena) के अलग रुख के बावजूद राज्य सरकार की स्थिरता पर असर नहीं पड़ेगा और वह पूरे पांच साल तक चलेगी. एनसीपी ने कहा कि शिवसेना द्वारा लोकसभा में विधेयक का समर्थन किए जाने के बाद राज्यसभा से वॉक आउट करना उनके रुख में बदलाव को दिखाता है.

बता दें, शिवसेना ने सोमवार को नागरिकता (संशोधन) विधेयक का समर्थन किया था लेकिन बुधवार को राज्यसभा में मतदान के दौरान उसने वॉक आउट कर दिया था. इस विधेयक में पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश से आने वाले गैर मुस्लिम शरणार्थियों को नागरिकता देने का प्रावधान है. संसद के दोनों सदनों की मंजूरी के बाद इसे अब राष्ट्रपति के हस्ताक्षर के लिए भेजा जाएगा.

शिवसेना के रुख में बदलाव आया
खबरें थीं कि कांग्रेस के केंद्रीय नेतृत्व ने विधेयक पर शिवसेना के रुख पर नाराजगी व्यक्त की थी. एनसीपी के प्रमुख प्रवक्ता नवाब मलिक ने कहा कि शिवसेना का बुधवार को राज्यसभा से वॉक आउट करना दिखाता है कि उसके रुख में बदलाव आया है.
नवाब मलिक ने मीडिया से बात करते हुए कहा, "यह दिखाता है कि शिवसेना के रुख में बदलाव आया है और कांग्रेस को इस पर ध्यान देना चाहिए. शिवसेना अलग पार्टी है. इसका असर सरकार की स्थिरता पर नहीं पड़ेगा. सरकार पांच साल का अपना कार्यकाल पूरा करेगी."


एनसीपी नेता मलिक ने दोहराया कि राज्य सरकार सुनिश्चित करेगी कि किसी को भी धर्म, क्षेत्र, जाति और भाषा के आधार पर अन्याय का सामना न करना पड़े. उन्होंने यह टिप्पणी पार्टी प्रमुख शरद पवार का जन्मदिन मनाने के लिए मुंबई वाईबी चव्हाण केंद्र में आयोजित कार्यक्रम में शामिल होने के बाद की.

CAB पर शिवसेना के अलग रुख के मामले में कुछ भी गलत नहीं
एनसीपी की महाराष्ट्र इकाई के प्रमुख जयंत पाटिल ने कहा कि उन्हें नागरिकता विधेयक पर शिवसेना के अलग रुख के मामले में कुछ भी गलत नहीं दिखता.
जयंत पाटिल ने कहा, "शिवसेना का रुख उसकी नीति के अनुरूप था. वह बदलेगा नहीं. दोनों दलों (कांग्रेस और एनसीपी) के पास आपत्ति दर्ज कराने का कोई कारण नहीं है. हम महाराष्ट्र में एक साथ काम कर रहे हैं और निश्चित तौर पर राज्य के विकास के लिए काम करेंगे."
इस बीच, कार्यक्रम स्थल पर मौजूद कुछ एनसीपी कार्यकर्ता तख्तियों के साथ दिखे जो शरद पवार को भारत रत्न देने की मांग कर रहे थे.

गौरतलब है कि महाराष्ट्र में सरकार बनाने से पहले शिवसेना, कांग्रेस और एनसीपी ने न्यूनतम साझा कार्यक्रम तैयार किया था. न्यूनतम साझा कार्यक्रम में उल्लेख है कि संवैधानिक प्रावधानों और देश और राज्य में धर्मनिरपेक्ष ताने-बाने को कायम रखने से जुड़े मुद्दों पर चर्चा होगी और उसके बाद ही तीनों पार्टियां रुख तय कर सकती हैं.

ये भी पढ़ें- 

महाराष्ट्र में हुआ मंत्रालयों का बंटवारा, शिवसेना को गृह विभाग, NCP को वित्त





News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Mumbai से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 12, 2019, 5:58 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर