लाइव टीवी

NCP ने अयोध्या मामले पर SC के फैसले का किया स्वागत, शरद पवार ने कही ये बात...

News18Hindi
Updated: November 9, 2019, 9:52 PM IST
NCP ने अयोध्या मामले पर SC के फैसले का किया स्वागत, शरद पवार ने कही ये बात...
राकांपा ने शनिवार को अयोध्या मामले में सुप्रीम कोर्ट के ऐतिहासिक फैसले का स्वागत किया. (फाइल फोटो)

राकांपा (NCP) ने शनिवार (Saturday) को अयोध्या मामले (Atodhya Verdict) में सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) के ऐतिहासिक फैसले (Decision) का स्वागत किया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 9, 2019, 9:52 PM IST
  • Share this:
मुंबई. राकांपा (NCP) ने शनिवार को अयोध्या (Ayodhya) मामले में सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) के ऐतिहासिक फैसले (Decision) का स्वागत किया जिसमें विवादित स्थान पर राम मंदिर के निर्माण का मार्ग प्रशस्त किया गया है. पवार ने कहा कि शीर्ष अदालत का सर्वसम्मति से लिया गया फैसला, देश की एक गंभीर चिंता का समाधान करेगा. सुप्रीम कोर्ट ने शनिवार को एक ऐतिहासिक फैसले में अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण का मार्ग प्रशस्त किया.

उन्होंने कहा, ‘कोर्ट ने समाज के सभी वर्गों के हितों के संरक्षण की बात की है. यह अच्छी बात है.’ राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) अध्यक्ष ने लोगों से शांति और सौहार्द बनाए रखने की अपील करते हुए कहा, ‘एक महत्वपूर्ण, ऐतिहासिक फैसला दिया गया है. समाज के सभी वर्गों को इसका स्वागत और सम्मान करना चाहिए.’



फैसले के बाद कुछ भाजपा नेताओं के राम मंदिर में दर्शन करने के संबंध में पवार ने कहा कि यह किसी का व्यक्तिगत अधिकार और पसंद है कि वह मंदिर जाए या मस्जिद. उन्होंने कहा, ‘इस पर टिप्पणी की जरूरत नहीं है क्योंकि यह कोई राजनीतिक मुद्दा नहीं है.’ उन्होंने कहा कि कई राजनीतिक दलों ने फैसले का सम्मान किया है जो अच्छी बात है.
Loading...

पवार ने यह भी कहा कि फैसले का महाराष्ट्र की राजनीति पर कोई असर नहीं पड़ेगा. लोग दो से तीन दिन में इस मुद्दे को भुला भी सकते हैं. राकांपा के प्रमुख प्रवक्ता नवाब मलिक ने उम्मीद जताई कि आज के फैसले के बाद देश में धर्म के नाम पर कोई नया विवाद सामने नहीं आएगा. मलिक ने ट्वीट किया, ‘शुरू से हमारा रुख रहा है कि हम सुप्रीम कोर्ट के फैसले को स्वीकार करेंगे और सभी को इसे कबूल करना चाहिए. उम्मीद है कि देश में धर्म के नाम पर कोई विवाद नहीं आएगा.’ उन्होंने लोगों से शांति तथा सौहार्द बनाये रखने की अपील की.



मलिक ने कहा, ‘लोग फैसले से पहले से कह रहे थे कि वे जो भी निर्णय आएगा, उसे कबूल करेंगे. लेकिन इसके लिए लोगों को श्रेय नहीं लेना चाहिए, उत्साह के साथ जश्न नहीं मनाना चाहिए, किसी की भावनाओं को आहत नहीं करना चाहिए. लोगों को इस स्थिति को स्वीकार करना चाहिए.’ उन्होंने कहा, ‘हम उम्मीद करते हैं कि भविष्य में धर्म के नाम पर कोई संगठन या राजनीतिक दल नया विवाद नहीं पैदा करेगा. यह ऐतिहासिक फैसला है और हमारा रुख शुरू से स्पष्ट है.’

ये भी पढ़ें: 

अयोध्या: फैसले के बाद संजय राउत बोले- पहले राम मंदिर, फिर महाराष्ट्र में सरकार
अयोध्या पर फैसले के बाद बीजेपी नेता बोले-इन 2 नेताओं की वजह हम यहां पहुंचे

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Mumbai से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 9, 2019, 9:51 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...