लाइव टीवी

पेड़ कटाई पर बोलीं मुंबई मेट्रो चीफ- कई बार सृजन के लिए विनाश जरूरी होता है

News18India
Updated: October 6, 2019, 4:22 PM IST
पेड़ कटाई पर बोलीं मुंबई मेट्रो चीफ- कई बार सृजन के लिए विनाश जरूरी होता है
आरे कॉलोनी में मेट्रो डिपो बनाने के लिए पेड़ काटे जा रहे हैं. (डिजाइन फोटो)

भिडे ने अपने ट्विटर हैंडलर(Twitter Handler) में लिखा, 'कभी-कभी कुछ नया निर्माण करने के लिए कुछ चीजों का विनाश करना पड़ता है. इससे नये जीवन और नये निर्माण का मार्ग भी प्रशस्त होता है'.

  • News18India
  • Last Updated: October 6, 2019, 4:22 PM IST
  • Share this:
मुंबई. उत्तरी मुंबई (North Mumbai) की आरे कॉलोनी में मेट्रो डिपो (Metro depot) बनाने के लिए करीब 2500 पेड़ों की कटाई पर मुंबई मेट्रो चीफ (Mumbai Metro Chief) अश्विनी भिडे ने अजीब बयान दिया है. उन्होंने कहा, 'कई बार सृजन के लिए विनाश जरूरी हो जाता है'.

भिडे ने अपने ट्विटर हैंडलर (Twitter Handler) में लिखा, 'कभी-कभी कुछ नया निर्माण करने के लिए कुछ चीजों का विनाश करना पड़ता है. इससे नये जीवन और नये निर्माण का मार्ग भी प्रशस्त होता है.' भिडे ने यह बात अपने ट्विटर हैंडलर पर मराठी (Marathi)और अंग्रेजी (English) भाषा में लिखी.

बता दें कि शनिवार को आरे कॉलोनी (Aarey Colony) में पेड़ काटने के खिलाफ हजारों की तादात में पर्यावरण प्रेमी और स्थानीय लोग सड़क पर उतर आए और सरकार के फैसले का विरोध किया. इसके बाद प्रशासन ने इलाके में धारा 144 (Section 144) लगा दी थी. साथ ही कुछ लोगों को सरकारी कामकाज में बाधा पहुंचाने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था.

मुंबई मेट्रो चीफ अश्विनी भिडे का ट्वीट


हाईकोर्ट से  मिली निराशा
नाराज कुछ लोगों ने पेड़ों की कटाई के खिलाफ बांबे हाइकोर्ट(Bombay High Court) में याचिका दायर की थी, जिसको जस्टिस एससी धर्माधिकारी (SC Dharmadhikari ) और एके मेमन (AK Menon) की बेंच ने खारिज कर दिया. शनिवार को आरे कॉलोनी में  पेड़ काटने के विरोध में लोग सड़कों पर उतर आए थे. जनता और पुलिस के बीच मुठभेड़ भी हुई थी. इसके बाद 29 लोगों को गिफ्तार कर लिया गया था.

ये भी पढ़ें - आरे कॉलोनी को लेकर क्यों मचा है पूरे मुंबई में बवाल

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Mumbai से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 6, 2019, 3:48 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर