NDRF, एयरफोर्स और नेवी ने महालक्ष्मी एक्सप्रेस के सभी यात्रियों को बचाया, 8 घंटे चला ऑपरेशन

ठाणे के डिप्टी कलेक्टर ने बताया कि पानी में डूबे ट्रैक से महालक्ष्मी एक्सप्रेस गुजर रही थी. तेजी से पानी की मात्रा को बढ़ते देख ट्रेन को रोक दिया गया. उन्होंने बताया कि यात्री सुरक्षित थे लेकिन डर सिर्फ रेलवे ट्रैक पर बढ़ते पानी को लेकर था.

News18Hindi
Updated: July 27, 2019, 11:27 PM IST
News18Hindi
Updated: July 27, 2019, 11:27 PM IST
महाराष्ट्र में हो रही भारी बारिश में मुंबई और कोल्हापुर के बीच चलने वाली महालक्ष्मी एक्सप्रेस (Mahalaxmi Express) बदलापुर और वानगानी रूट पर पानी में फंस गई थी. बरसात से ट्रेन में सवार लगभग 700 यात्रियों की सांसें अटक गईं. लेकिन नेशनल डिजास्टर रिस्पॉन्स फोर्स (NDRF), भारतीय नौसेना (Indian Navy) के वेस्टर्न कमांड और भारतीय वायुसेना (Indian Air Force) की मदद से ट्रेन में सवार सभी लोगों को सुरक्षित बचा लिया गया.

भारी बारिश से उल्हास नदी में पानी बढ़ने के कारण बदलापुर के पास रेलवे ट्रैक पूरी तरह डूब गया. ठाणे के डिप्टी कलेक्टर शिवाजी पाटिल ने बताया कि इसी ट्रैक से होकर महालक्ष्मी एक्सप्रेस गुजर रही थी. पानी का स्तर तेजी से बढ़ता देख ट्रेन को एहतियातन रोक दिया गया. उन्होंने बताया कि यात्री सुरक्षित थे लेकिन डर सिर्फ रेलवे ट्रैक पर बढ़ते पानी को लेकर था.



नौसेना की कुल 8 टीमें इलाके में तैनात
Loading...

उन्होंने बताया कि घटना की जानकारी मिलते ही स्थानीय प्रशासन समेत एनडीआरएफ की टीम को मौके पर रवाना कर दिया गया. बाद में स्थिति को बिगड़ता देख वायुसेना और नौसेना की मदद भी ली गई. नेवी की हेलीकॉप्टर सर्विस लोगों को सुरक्षित स्थानों पर ले जाने में काफी काम आई. नेवी की कुल 8 टीमें बाढ़ग्रस्त इलाके में तैनात है.

 



9 गर्भवती महिलाओं को बचाया गया
दिन चढ़ने के साथ रेस्क्यू ऑपरेशन पर खराब मौसम का भी असर पड़ा. बचाव कार्य से हेलीकॉप्टर को हटाना पड़ा. एनडीआरएफ के जवान बोट के सहारे लोगों को ट्रेन से निकालकर खाली इलाकों में ले गए. इस दौरन 9 गर्भवती महिलाओं को भी सुरक्षित बचा लिया गया.



शुरुआत में यात्री खुद से ही सुरक्षित स्थान पर जाना चाहते थे
सेंट्रल रेलवे के पीआरओ ने बताया कि शुरुआत में ट्रेन में सवार यात्री खुद से ही सुरक्षित स्थान पर जाने की सोच रहे थे. लेकिन रेलवे की तरफ से अपील किया गया कि आप ट्रेन के अंदर रहें. हम आपकी मदद के लिए तप्पर हैं. सुबह में स्थानीय पुलिस, आरपीएफ और ट्रेन में मौजूद स्टाफ ने लोगों की काफी मदद की.

ये भी पढ़ें-

प्रियंका का योगी सरकार पर हमला, पूछा- ये कैसी कर्जमाफी कि किसान आत्महत्या को मजबूर

Tik Tok वीडियो बनाने के लिए पानी में कर रहा था स्टंट,हुई मौत

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Mumbai से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 27, 2019, 3:09 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...