Home /News /maharashtra /

रिपब्लिक टीवी ने पैसे देकर खरीदी TRP, 2 अन्य न्यूज चैनलों का भी नाम : मुंबई पुलिस

रिपब्लिक टीवी ने पैसे देकर खरीदी TRP, 2 अन्य न्यूज चैनलों का भी नाम : मुंबई पुलिस

मुंबई पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर फ्रॉड टीआरपी रैकेट का खुलासा किया

मुंबई पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर फ्रॉड टीआरपी रैकेट का खुलासा किया

Republic TV TRP fraud: परमबीर सिंह ने बताया कि फ्रॉड टीआरपी रैकेट में अब तक तीन न्यूज चैनलों का नाम सामने आया है जिसमें दो छोटे मराठी न्यूज चैनल हैं जिनके नाम फक्त मराठी और बॉक्स सिनेमा हैं इनके अलावा रिपब्लिक टीवी का नाम भी इस रैकेट में सामने आया है.

अधिक पढ़ें ...
    मुंबई. मुंबई पुलिस (Mumbai Police) की क्राइम ब्रांच (Crime Branch) की टीम ने फ्रॉड टीआरपी के रैकेट (Fraud TRP Racket) का भंडाफोड़ करने का दावा किया है. मुंबई पुलिस के कमिश्नर परमबीर सिंह (Mumbai Police Commissioner Parambir Singh) ने गुरुवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताया कि बार्क (BARC) की शिकायत के बाद क्राइम ब्रांच की टीम को जांच में फ्रॉड टीआरपी के रैकेट का पता चला है. परमबीर सिंह ने कहा कि इस रैकेट के जरिए टीआरपी को मैनुपुलेट किया जा रहा था. सिंह ने कहा कि इसके जरिए फेक एजेंडा चलाया जा रहा था.

    परमबीर सिंह ने बताया कि इस रैकेट में अब तक तीन न्यूज चैनलों का नाम सामने आया है जिसमें दो छोटे मराठी न्यूज चैनल हैं जिसमें से एक है फखत मराठी और बॉक्स सिनेमा इनके अलावा रिपब्लिक टीवी का नाम भी सामने आया है. परमबीर सिंह ने बताया कि इन दोनों मराठी चैनलों के मालिकों को गुरुवार को हिरासत में ले लिया गया है. उन्होंने कहा कि इस संबंध में किसी और न्यूज चैनल का नाम अगर आता है तो उस पर भी कार्रवाई की जाएगी.

    ये भी पढ़ें- तब्लीगी जमात की याचिका पर SC ने कहा- अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता का हुआ सबसे अधिक दुरुपयोग



    ऐसे काम करता था रैकेट
    मुंबई पुलिस कमिश्नर ने कहा कि ऐसी जानकारी मिली थी कि पैसे देकर टीआरपी मैनेज की जा रही है, जिसमें हंसा नाम की एक कंपनी का नाम भी सामने आया है. हंसा कंपनी बार्क का काम देखती है. ऐसे में हंसा के एक कर्मचारी को गिरफ्तार किया गया. परमबीर सिंह ने बताया कि लोगों को 400 से 500 रुपये महीने के हिसाब से दिए जाते थे और उनसे कहा जाता था कि वह किसी विशेष चैनल को चलाकर रखें भले ही वह घर में हों या न हों.

    परमबीर सिंह ने बताया कि इन चैनलों के एडवटाइजर्स से पूछताछ की जाएगी. रिपब्लिक टीवी के बैंक अकांउट की जांच होगी, एडवटाइजर्स से मिले फंड की जांच होगी अगर कुछ आपत्तिजनक हुआ तो उन्हें फ्रीज किया जा सकता है.

    मुंबई पुलिस के इस खुलासे के बाद बार्क इंडिया के प्रवक्ता ने कहा है संदिग्ध पैनलों में घरों में हुई घुसपैठ के हमारे पिछले सभी मामलों की तरह, BARC इंडिया अपने स्थापित सतर्कता और अनुशासनात्मक दिशानिर्देशों का पालन करना जारी रखेगा. BARC अपने उद्देश्य के लिए 'व्हाट इंडिया वॉचेस' के सही और ईमानदारी से रिपोर्ट करने के उद्देश्य को लेकर सही है. BARC इंडिया मुंबई पुलिस के प्रयासों की सराहना करता है और वह पुलिस की जांच में पूरा सहयोग करेगा.

    अर्णब गोस्वामी से पूछताछ पर कमिश्नर ने दिया ये जवाब
    पुलिस कमिश्नर ने बताया कि इस फ्रॉड के बारे में हंसा की ओर से जानकारी दी गई थी जिसमें हंसा के कुछ पूर्व कर्मचारी और कुछ वर्तमान कर्मचारियों की मिली भगत सामने आई है.

    ये भी पढ़ें- Video Viral होते ही अब ‘बाबा का ढाबा’ पर इतनी भीड़ जुटी कि संभालना हुआ मुश्किल

    रिपब्लिक टीवी के एडिटर इन चीफ अर्णब गोस्वामी को पूछताछ के लिए बुलाने के सवाल पर परमबीर सिंह ने कहा कि जो भी इस फ्रॉड में इन्वॉल्व हैं वो चाहे कितने भी ऊंचे पद पर हों उन्हें पूछताछ के लिए बुलाया जाएगा और आगे की जो उचित कार्रवाई होगी की जाएगी. परमबीर सिंह ने कहा कि रिपब्लिक टीवी के कुछ लोगों को आज या कल समन किया जाएगा.

    क्या है बार्क
    ब्रॉडकास्ट ऑडियंस रीसर्च काउंसिल यानी कि बार्क स्टेकहोल्डर बॉडी द्वारा स्थापित एक संयुक्त उद्योग निकाय है जो ब्रॉडकास्टर्स (IBF), विज्ञापनदाताओं (ISA) और विज्ञापन एवं मीडिया एजेंसियों (AAAI) का प्रतिनिधित्व करता है. BARC इंडिया एक पारदर्शी, सटीक और समावेशी टीवी दर्शक माप प्रणाली का प्रबंधन करता है.undefined

    Tags: Mumbai, Mumbai police

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर