JNU हिंसा के खिलाफ प्रदर्शन में 'FREE KASHMIR' का पोस्टर, फडणवीस ने CM उद्धव पर साधा निशाना

गेटवे ऑफ इंडिया पर फ्री कश्मीर का पोस्टर लेकर प्रदर्शन करती युवती (फोटो- एएनआई)

गेटवे ऑफ इंडिया पर फ्री कश्मीर का पोस्टर लेकर प्रदर्शन करती युवती (फोटो- एएनआई)

कांग्रेस नेता संजय निरुपम (Congress leader Sanjay Nirupam) ने भी इस पोस्टर को लेकर आपत्ति जताई. उन्होंने कहा कि ऐसे पोस्टर देश भर में चल रहे छात्र आंदोलन को बदनाम कर सकते है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 7, 2020, 9:24 AM IST
  • Share this:
मुंबई. जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी (JNU) में हुई हिंसा के खिलाफ चल रहे विरोध- प्रदर्शन के बीच एक पोस्टर ने राजनीतिक बवंडर मचा दिया है. इस पोस्टर पर लिखे 'FREE KASHMIR' ने भाजपा नेताओं को आंदोलनकारियों पर हमला बोलने का मौका दे दिया. पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) ने पोस्टर को लेकर सीएम उद्धव ठाकरे (CM Uddhav Thackeray) पर निशाना साधा है.

दरअसल, जेएनयू हिंसा के बाद छात्र संगठन गेटवे ऑफ इंडिया के पास लगातार विरोध-प्रदर्शन कर रहे हैं. सोमवार शाम को प्रदर्शनकारियों के बीच एक अजीबोगरीब पोस्टर देखा गया, जिसपर लिखा था 'FREE KASHMIR'. इस पोस्टर के सामने आने के बाद महाराष्ट्र की राजनीतिक में बवाल मच गया. पूर्व सीएम देवेंद्र फडणवीस ने इस पोस्टर की मौजूदगी को लेकर महाराष्ट्र सरकार पर हमला बोला. उन्होंने ट्वीट करते हुए मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से पूछा कि क्या आप इस कश्मीर विरोधी भारत अभियान को अपनी नाक के नीचे बर्दाश्त करने जा रहे हैं ? फडणवीस ने आगे कहा कि विरोध वास्तव में किसका हो रहा. इस प्रदर्शन में 'आजाद कश्मीर' के नारे का मतलब क्या है. हम मुंबई में ऐसे अलगाववादी तत्वों को कैसे बर्दाश्त कर सकते हैं?
फडणवीस ने शिवसेना, कांग्रेस और एनसीपी की सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि मुख्यमंत्री दफ्तर से मात्र 2 किलोमीटर दूर आजादी गैंग के लोग फ्री कश्मीर के नारे लगा रहे हैं. ऐसे में उद्धव जी, क्या आप अपने सामने ये फ्री कश्मीर भारत विरोधी अभियान को बर्दाश्त करने जा रहे हैं.वहीं, कांग्रेस नेता संजय निरुपम ने भी इस पोस्टर को लेकर आपत्ति जताई. उन्होंने कहा कि ऐसे पोस्टर देश भर में चल रहे छात्र आंदोलन को बदनाम कर सकते है. आंदोलन अपनी रहा से भटक जाएगा. संजय ने कहा कि आंदोलनकारियों को सावधानी बरतनी पड़ेगी. जेएनयू हिसा का कश्मीर की आज़ादी से क्या रिश्ता है? कौन हैं ये लोग ? किसने इन्हें गेटवे ऑफ इंडिया पर भेजा? बेहतर होगा, सरकार इसकी जांच कराए.




गौरतलब है कि जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय में रविवार रात को छात्रों के दो समूह आपस में भिड़ गए थे. जानकारी के अनुसार, छात्रों के एक समूह को कुछ नकाबपोश लोगों ने रॉड और डंडों से मारा था. जेएनयू छात्र संघ की अध्यक्ष आइशी घोष ने बताया कि उनपर हमला किया गया. घोष ने कहा, 'गुंडों ने नकाब पहनकर मुझ पर बेरहमी से हमला किया. वहीं, एम्स ट्रॉमा सेंटर की ओर से कहा गया है कि जेएनयू से कई लोग एम्स पहुंचे थे. इनमें से ज्यादातर के सिर से खून बह रहा था साथ ही उन्हें खरोंचे आईं हैं.
ये भी पढ़ें- 

उद्धव ठाकरे के घर के बाहर से किसान और उसकी नाबालिग बेटी को हिरासत में लिया

अभी एक मंत्री ने दिया है इस्तीफा, कुछ दिनों में खुद ही गिर जाएगी सरकार: गडकरी

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज