महाराष्ट्र में तड़के इतने बजे हटाया गया राष्ट्रपति शासन, इसके बाद हुआ शपथ ग्रहण समारोह
Mumbai News in Hindi

महाराष्ट्र में तड़के इतने बजे हटाया गया राष्ट्रपति शासन, इसके बाद हुआ शपथ ग्रहण समारोह
राष्ट्रपति शासन हटने के बाद देवेंद्र फडणवीस ने ली शपथ. (फाइल फोटो)

गृह मंत्रालय (Home Ministry) की एक अधिसूचना के अनुसार, राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद (President Ramnath Kovind) ने शनिवार सुबह राष्ट्रपति शासन को समाप्त करने की घोषणा की.

  • Share this:
दिल्ली. महाराष्ट्र (Maharashtra) में शनिवार तड़के पांच बजकर 47 मिनट पर राष्ट्रपति शासन (President Rule) हटाया गया. इसके बाद भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने अजित पवार के सहयोग  से नई सरकार का गठन किया. देवेन्द्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) ने जहां लगातार दूसरी बार मुख्यमंत्री पद की शपथ ली, वहीं अजित पवार ने डिप्टी सीएम की कुर्सी संभाली. गृह मंत्रालय की एक अधिसूचना के अनुसार, राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने शनिवार सुबह राष्ट्रपति शासन को समाप्त करने की घोषणा की. इस आशय का राज-पत्र केंद्रीय गृह सचिव अजय कुमार भल्ला ने सुबह पांच बजकर 47 मिनट पर जारी किया.

महाराष्ट्र को स्थिर सरकार चाहिए, खिचड़ी नहीं
शपथ लेने के बाद मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीसने कहा कि हमें सरकार बनाने का जनादेश मिला था लेकिन शिवसेना ने दूसरी पार्टियों के साथ गठबंधन का प्रयास किया. जिसका परिणाम यह निकला कि सूबे में राष्ट्रपति शासन लागू हो गया. महाराष्ट्र की जनता को स्थिर सरकार चाहिए न कि कोई खिचड़ी. शिवसेना से जनादेश का सीधे तौर पर अपमान किया है. इस दौरान उन्होंने अजित पवार का अभार जताया, कहा- मैं अभारी हूं कि वे मेरे साथ आए. अब हम महाराष्ट्र में एक स्थिर सरकार देंगे.

किसानों के लिए सरकार में आए
वहीं शपथ लेने के बाद अजीत पवार ने कहा ‌कि हम लोगों की समस्या के लिए साथ आए हैं. हम किसानों की समस्या को खत्म करना चाहते हैं. उनकी भलाई के लिए ही सरकार में आए हैं. उन्होंने कहा कि लोगों ने जिसे सरकार बनाने के लिए चुना था उन्हीं को सरकार बनानी भी चाहिए.



ये भी पढ़ें- 

विधायकों से हाजिरी पर हस्ताक्षर लेकर दिखा दिया फडणवीस को समर्थन-नवाब मलिक

देवेंद्र फडणवीस कैसे साबित करेंगे विधानसभा में बहुमत? BJP नेता ने बताया प्ला

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज