लाइव टीवी

महाराष्ट्र में सरकार गठन पर सोनिया गांधी से कोई चर्चा नहीं, दोनों दलों के नेताओं से लेंगे राय: शरद पवार

News18Hindi
Updated: November 18, 2019, 8:37 PM IST
महाराष्ट्र में सरकार गठन पर सोनिया गांधी से कोई चर्चा नहीं, दोनों दलों के नेताओं से लेंगे राय: शरद पवार
शरद पवार ने कहा कि महाराष्ट्र में सरकार गठन को लेकर सोनिया गांधी से कोई चर्चा नहीं हुई.

एनसीपी प्रमुख शरद पवार (Sharad Pawar) ने सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) से बातचीत करने के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस की. प्रेस कॉन्फ्रेंस में उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र (Maharashtra) में सरकार गठन को लेकर सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) से कोई चर्चा नहीं हुई.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 18, 2019, 8:37 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) प्रमुख शरद पवार (Sharad Pawar) ने दिल्ली में सोमवार को सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) से बातचीत करने के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस की. प्रेस कॉन्फ्रेंस में उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र (Maharashtra) में सरकार गठन को लेकर सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) से कोई चर्चा नहीं हुई.

सोनिया गांधी से मुलाकात के बाद शरद पवार ने संवाददाताओं से कहा, ‘सरकार गठन के बारे में चर्चा नहीं की. हमने सिर्फ राज्य में राजनीतिक हालात के बारे में चर्चा की.’ उन्होंने यह भी कहा कि सोनिया के साथ मुलाकात के दौरान शिवसेना को लेकर कोई बात नहीं हुई. साझा न्यूनतम कार्यक्रम को लेकर भी बात नहीं की गई.

उन सभी पार्टियों के साथ चर्चा करना चाहते हैं जो हमारे साथ चुनाव लड़े थे
शरद पवार ने कहा, 'हम समाजवादी पार्टी और स्वाभिमानी शेतकारी संगठन जैसे उन सभी पार्टियों के साथ चर्चा करना चाहते हैं जो हमारे साथ चुनाव लड़े थे'. इससे पहले महाराष्ट्र में सरकार गठन की कवायद के बीच राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के प्रमुख शरद पवार सोमवार शाम को कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के आवास पहुंचे, जहां दोनों नेताओं के न्यूनतम साझा कार्यक्रम पर चर्चा करने की संभावना थी.

तीनों पार्टियां न्यूनतम साझा कार्यक्रम पर सहमत: शिवसेना
सूत्रों का कहना है कि सोनिया और पवार की इस मुलाकात के बाद महाराष्ट्र में शिवसेना-राकांपा-कांग्रेस गठबंधन की सरकार के गठन से जुड़ी तस्वीर साफ हो सकती थी. उधर शिवसेना ने कहा है कि तीनों पार्टियां न्यूनतम साझा कार्यक्रम पर सहमत हो गई हैं और जल्द सरकार बन जाएगी. साथ ही शिवसेना इस लोकसभा में पहली बार राज्यसभा में विपक्षी खेमे में बैठी नजर आई.

राज्यसभा में विपक्षी सीटों पर बैठे शिवसेना सदस्यमहाराष्ट्र में मुख्यमंत्री पद को लेकर भाजपा से किनारा कर चुकी शिवसेना के सदस्य सोमवार को राज्यसभा में विपक्ष की सीटों पर बैठे नजर आए. संसद के शीतकालीन सत्र की सोमवार को शुरुआत हुई. उच्च सदन में अब तक सत्ता पक्ष में बैठने वाली शिवसेना के लिए सोमवार को बैठक की व्यवस्था अलग थी.

हमने अरुण जेटली से सीखा कि रिश्ते कैसे निभाए जाते हैं?
शिवसेना के सदस्य संजय राउत विपक्षी सदस्यों की सीट पर बैठे नजर आए. लंबे समय तक भगवा दल की सहयोगी रही शिवसेना की भाजपा के साथ बिगड़े रिश्तों को लेकर तल्खी भी जाहिर हुई. उच्च सदन में जब पूर्व केंद्रीय मंत्री तथा सदन के पूर्व नेता दिवंगत अरुण जेटली को श्रद्धांजलि दी जा रही थी तब शिवसेना के संजय राउत ने कहा ‘अरुण जेटली संघर्ष का दूसरा नाम थे और हमने उनके हर संघर्ष में साथ दिया था.’ उन्होंने कहा ‘जेटली के साथ हमारे बहुत अच्छे संबंध थे. हमने उनसे सीखा कि रिश्ते कैसे निभाए जाते हैं.’

ये भी पढ़ें - 

सोनिया-पवार की बैठक खत्म, महाराष्‍ट्र में सरकार गठन पर लगभग 1 घंटे चला मंथन

बाल ठाकरे की श्रद्धांजलि सभा में BJP-शिवसेना ने एक दूसरे से काटी कन्नी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Mumbai से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 18, 2019, 6:26 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर