• Home
  • »
  • News
  • »
  • maharashtra
  • »
  • राहुल गांधी ने हार के लिए लगाई 3 पूर्व मुख्यमंत्रियों की क्लास

राहुल गांधी ने हार के लिए लगाई 3 पूर्व मुख्यमंत्रियों की क्लास

राहुल गांधी (फाइल फोटो).

राहुल गांधी (फाइल फोटो).

राहुल गांधी ने कहा कि अगर आप सभी पूर्व मुख्यमंत्रियों ने सही जानकारी जुटाई होती और कार्यकर्ता का मन समझा होता तो ऐसी स्थिति निर्मित नहीं होती और मुझे इस्तीफा नहीं देना पड़ता. जिस भी कारण से पार्टी की हार हुई है वह मुझे काफी नागवार लगा है.

  • Share this:
    प्रशांत लीला रामदास
    लोकसभा चुनाव में हुई बुरी तरह के हार को अभी तक राहुल गांधी पचा नहीं पाए हैं. जिस महाराष्ट्र में कांग्रेस दावा कर रही थी कि कम से कम 10 सीटों से कांग्रेस के उम्मीदवार चुनकर आएंगे, वहां पर सिर्फ एक सीट पर ही  कांग्रेस का उम्मीदवार चुनकर आया. कुछ दिन पहले ही यह उम्मीदवार शिवसेना छोड़कर कांग्रेस में शामिल हुआ था और उसे ऐन वक्त पर टिकट नकारकर फिर दोबारा टिकट दिया गया था. महाराष्ट्र में जो रिजल्ट आया, उससे राहुल गांधी अभी भी परेशान चल रहे हैं. इसी कारण राहुल गांधी ने महाराष्ट्र की नेताओं से मीटिंग के दौरान तीन पूर्व मुख्यमंत्रियों की क्लास लगाई.

    मीटिंग में शामिल हुए 22 वरिष्ठ नेता
    राहुल गांधी के निवास 12, तुगलक लेन पर हुई बैठक में महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री अशोक चौहान, महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चौहान, महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री सुशील कुमार शिंदे समेत पर लगभग 22 वरिष्ठ नेता शामिल हुए. राहुल ने लगभग दो स्तरों पर दो घंटे की मीटिंग की. इस मीटिंग में उन्होंने पहली पंक्ति के सारे वरिष्ठ नेताओं और दूसरी पंक्ति के नेताओं के साथ बात की.

    इस बात पर बहुत गुस्सा हुए राहुल गांधी 
    मीटिंग की शुरुआत में ही राहुल गांधी ने अपनी भूमिका स्पष्ट करते हुए कहा कि मैं इस्तीफा दे चुका हूं, इसलिए आप मुझे इस्तीफा वापस लेने को लेकर कोई बात न करें, लेकिन ऐसा हो न सका. जिस नेता ने भी अपनी बात शुरू की, उसने राहुल जी को इस्तीफा वापस लेने की गुजारिश की. मीटिंग में उपस्थित सूत्रों के अनुसार, इस पर राहुल गांधी बहुत गुस्सा हुए.

    लग रहा था कि आप जीतने के लिए तैयार ही नहीं हैं
    राहुल गांधी
    ने कहा कि अगर आप सभी पूर्व मुख्यमंत्रियों ने सही जानकारी जुटाई होती और कार्यकर्ता का मन समझा होता तो ऐसी स्थिति निर्मित नहीं होती और मुझे इस्तीफा नहीं देना पड़ता. जिस भी कारण से पार्टी की हार हुई है, वह मुझे काफी नागवार लगा है. पूर्व मुख्यमंत्री और प्रदेशाध्यक्ष अशोक चौहान ने कहा कि वंचित बहुजन आघाडी ने जो वोट अपनी तरफ खींचे हैं और दलित और बहुजन वोट भी उनको मिले है, इस कारण पराभव हुआ है.

    इस पर सवालिया निशान लगाते हुए राहुल गांधी ने कहा, “आप सभी पूर्व मुख्यमंत्री हैं, फिर भी आपको इन सभी बातों की जानकारी कैसे नहीं हो सकी? साथ में जिस तरह आपने लोकसभा चुनाव लड़ा उससे तो लग रहा था कि आप जीतने के लिए तैयार ही नहीं हैं. आप जो कह रहे हैं कि दलित और बहुजन वोट वंचितों को मिला है, इसकी जिम्मेदारी कौन लेगा? दलित कांग्रेस से दूर कैसे जा सकते हैं? यह भी सवाल उन्होंने मीटिंग में उठाया.

    राहुल गांधी ने मीटिंग में शामिल सभी नेताओं को सुनाई खरी-खोटी 
    राहुल गांधी ने कहा कि सभी नेताओं को अपनी व्यक्तिगत राजनीति से दूर होकर पार्टी के लिए लड़ने की आवश्यकता थी, जो इस लोकसभा चुनाव में नहीं दिखी. राहुल गांधी ने कहा कि यह जानकारी हमें सूत्रों ने दी है. राहुल गांधी ने पृथ्वीराज चौहान से कहा कि अगर आप सही ढंग से राज्य चलाते तो भाजपा के हाथ में सत्ता नहीं जा पाती.

    राहुल गांधी ने कहा कि महाराष्ट्र में कांग्रेस के सत्ता से दूर जाने के लिए आप भी जिम्मेदार हैं. राहुल गांधी ने मीटिंग में शामिल लगभग सभी नेताओं को खरी-खोटी सुनाई. राहुल ने कहा कि इस बैठक में उपस्थित नेता आने वाले विधानसभा चुनाव में कांग्रेस पार्टी और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के गठबंधन की सीटों के बंटवारे को लेकर निर्णय लें और जल्द इसकी घोषणा करें.

    ये भी पढ़ें - 

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज