लाइव टीवी
Elec-widget

शिवसेना को याद आए अटल बिहारी, संजय राउत बोले- आहुति बाकी, यज्ञ अधूरा

News18India
Updated: November 20, 2019, 10:03 AM IST
शिवसेना को याद आए अटल बिहारी, संजय राउत बोले- आहुति बाकी, यज्ञ अधूरा
संजय राउत ने अटल बिहारी वाजपेयी को किया याद. (फाइल फोटो)

शिवसेना नेता और सांसद संजय राउत (Sanjay Raut) ने अटल बिहारी वाजपेयी (Atal Bihari Vajpayee) की एक कविता की कुछ पंक्तियों को ट्वीट कर उन्‍हें याद किया है.

  • News18India
  • Last Updated: November 20, 2019, 10:03 AM IST
  • Share this:
मुंबई. महाराष्ट्र (Maharashtra) में सत्‍ता के लिए चल रहे सियासी उथल-पुथल के बीच शिवसेना (Shiv Sena) के वरिष्ठ नेता और राज्यसभा सांसद संजय राउत (Sanjay Raut) ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को याद किया है. उन्होंने बुधवार को अटल बिहारी वाजपेयी की एक कविता की कुछ पंक्तियों को ट्वीट कर उन्हें याद किया. उन्‍होंने लिखा, 'आहुति बाकी, यज्ञ अधूरा, अपनों के विघ्नों ने घेरा, अंतिम जय का वज्र बनाने, नव दधीचि हड्डियां गलाएं. आओ फिर से दिया जलाएं.' ट्वीट के अंत में संजय राउत ने अटल बिहारी वाजपेयी का नाम भी लिखा है.

बता दें कि महाराष्ट्र में जब से बीजेपी और शिवसेना के बीच तल्‍खी बढ़ी है, तब से संजय राउत लगातार शायराना अंदाज में बीजेपी पर हमला कर रहे हैं. वह अपनी प्रतिक्रियाओं को शायरी या कविता के माध्यम से ट्वीट कर रहे हैं. एनसीपी प्रमुख शरद पवार और कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी की सोमवार को हुई बैठक के बाद संजय राउत ने शायराना अंदाज में ही ट्वीट कर शिवसेना की मंशा को जाहिर किया था. संजय राउत ने ट्वीट कर कहा था, 'अगर जिंदगी में कुछ पाना हो तो तरीके बदलो, इरादे नहीं...! जय महाराष्ट्र.' इस ट्वीट के बाद सियासी गलियारों में इसके कई मतलब निकाले जाने लगे. सूत्रों का कहना था कि बीजेपी से गठबंधन टूटने और एनसीपी-कांग्रेस के साथ नई पारी शुरू करने का संकेत संजय राउत ने इस ट्वीट के जरिए दिया है.



'जिनके पास जिम्मेदारी वे भाग गए'
गौरतलब है कि सोनिया गांधी और शरद पवार की मीटिंग के बाद संजय राउत ने भी सोमवार शाम एनसीपी चीफ से मुलाकात की थी. मुलाकात के बाद शिवसेना के वरिष्‍ठ नेता ने कहा था, 'सरकार बनाने की ज़िम्मेदारी हमारी नहीं थी, जिन लोगों के पास सरकार बनाने की जिम्मेदारी थी, वे भाग गए. लेकिन, मुझे विश्वास है कि जल्द ही हमारी सरकार बन जाएगी.' बता दें कि महाराष्ट्र में अभी राष्ट्रपति शासन लगा हुआ है. शिवसेना, राकांपा और कांग्रेस मिलकर सरकार बनाने की कोशिश कर रही है. इसे लेकर तीनों पार्टियों के बीच बातचीत चल रही है.

ये भी पढ़ें- 

सूखे की मार झेल रहे किसानों के लिए ‘संजीवनी’ बनी बकरियां, जानिए कैसे

जेएनयू में फीस बढ़ोतरी से प्रभावित नहीं होने चाहिए गरीब: सुपर-30 के संस्थापक

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Mumbai से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 20, 2019, 9:38 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...