लाइव टीवी

CAB पर U-Turn के मूड में शिवसेना! संजय राउत बोले- हमारा रुख लोकसभा से अलग हो सकता है

News18Hindi
Updated: December 11, 2019, 1:02 PM IST
CAB पर U-Turn के मूड में शिवसेना! संजय राउत बोले- हमारा रुख लोकसभा से अलग हो सकता है
इससे पहले कांग्रेस आलाकमान ने भी शिवसेना की ओर से कैब को लोकसभा में दिए समर्थन पर नाराजगी जताई थी.

कैब के पक्ष में लोकसभा में शिवसेना के वोट देने से कांग्रेस (Congress) का आलाकमान बेहद नाराज है. सूत्रों के अनुसार यह बात शिवसेना नेतृत्व तक भी पहुंचा दी गई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 11, 2019, 1:02 PM IST
  • Share this:
मुंबई. नागरिकता संशोधन बिल (Citizenship Amendment Bill) पर शिवसेना के राज्यसभा सांसद संजय राउत (Sanjay Raut) ने बड़ा बयान दिया है. उन्होंने कहा है कि इस बिल पर लोकसभा और राज्यसभा में अलग-अलग हालात हैं. राउत ने कहा कि हमें इस बिल पर अपनी शंकाओं को दूर करना है. अगर हमें संतोषजनक जवाब नहीं मिला तो हमारा रुख लोकसभा (Lok Sabha) में जो थो उससे अलग हो सकता है. दरअस, लोकसभा में पास होने के बाद नागरिकता संशोधन बिल को आज दोपहर दो बजे राज्यसभा में पेश किया जाएगा. ऐसे में संजय राउत का यह बयान बीजेपी को परेशानी में डाल सकती है, क्योंकि राज्यसभा में एनडीए के पास बिल को पास कराने के लिए प्रयाप्त संख्या नहीं है.

कांग्रेस की धमकी का असर!
कैब के पक्ष में लोकसभा में शिवसेना के वोट देने से कांग्रेस का आलाकमान बेहद नाराज है. सूत्रों के अनुसार यह बात शिवसेना नेतृत्व तक भी पहुंचा दी गई है. कांग्रेस की तरफ से चेतावनी देते हुए कहा गया है कि अगर आप इसी तरह गठबंधन धर्म के खिलाफ कदम उठाते रहे तो हमारे लिए 2 या 4 मंत्रालय कोई मायने नहीं रखता.

बता दें कि शिवसेना ने लोकसभा में नागरिकता संशोधन बिल का लोकसभा में समर्थन किया था. इसके बाद शिवसेना प्रमुख और महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे ने कहा था, ‘हम नागरिकता संशोधन बिल पर आगे तब तक सरकार का समर्थन नहीं करेंगे, जब तक हमारे सवालों के जवाब नहीं मिल जाते.'



बीजेपी को ही देश की परवाह है
उद्धव ठाकरे ने कहा था, ‘जो कोई असहमत होता है, वह देशद्रोही होता है, यह (बीजेपी) उनका भ्रम है. यह एक भ्रम है कि केवल बीजेपी को ही देश की परवाह है. हमने राज्यसभा में नागरिकता संशोधन में कुछ बदलाव के सुझाव दिए हैं. हम चाहते हैं कि राज्यसभा में इसे गंभीरता से लिया जाए.’ उद्धव ठाकरे ने कहा, ‘सराकर को यह स्पष्ट करना चाहिए कि ये शरणार्थी कहां रहेंगे? किस राज्य में रहेंगे?’

 

ये भी पढ़ें- राज्यसभा में नागरिकता विधेयक पर रुख बदलेगी शिवसेना तो स्वागत करेंगे: कांग्रेस

CAB को शिवसेना के सपोर्ट पर NCP बोली- अलग दलों के हमेशा समान विचार, संभव नहीं

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Mumbai से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 11, 2019, 11:36 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर