Home /News /maharashtra /

उद्धव ठाकरे की रैली के लिए उस्मानाबाद में तोड़ी गई स्कूल की दीवार

उद्धव ठाकरे की रैली के लिए उस्मानाबाद में तोड़ी गई स्कूल की दीवार

उद्धव ठाकरे की रैली के लिए  महाराष्ट्र में एक स्कूल की दीवार कथित तौर पर तोड़ दी गई. (फाइल फोटो)

उद्धव ठाकरे की रैली के लिए महाराष्ट्र में एक स्कूल की दीवार कथित तौर पर तोड़ दी गई. (फाइल फोटो)

शिवसेना (Shiv Sena) के अध्यक्ष उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) की एक चुनावी रैली के लिए महाराष्ट्र (Maharashtra) में एक स्कूल की दीवार तोड़ने का मामला सामने आया है.

    उस्मानाबाद.महाराष्‍ट्र से एक बड़ी खबर है. बताया जा रहा है कि शिवसेना (Shiv Sena) के राष्ट्रीय अध्यक्ष उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) की रैली के लिए महाराष्ट्र (Maharashtra) में एक स्कूल की दीवार तोड़ दी गई. महाराष्ट्र में विधानसभा चुनाव (Maharashtra Assembly Election) के लिए 21 अक्टूबर को वोट डाले जाएंगे.

    सूत्रों ने यह जानकारी दी है कि महाराष्ट्र के उस्मानाबाद जिलापरिषद विद्यालय से शिवसेना की जिला इकाई द्वारा पार्टी प्रमुख उद्धव ठाकरे के लिए जनसभा का आयोजन करने की अनुमति मांगी थी. इसी वजह से स्‍कूल ने सोमवार को रसायन शास्त्र की परीक्षा को शुक्रवार तक के लिए टाल दिया है.

    चुनाव अधिकारी ने कही यह बात
    यह रैली उस्मानाबाद जिले के जेपी गर्ल्स हाई स्कूल के मैदान में आयोजित की गई थी. जिलापरिषद के सीईओ संजय कोल्टे ने अपने पत्र में कहा है कि आयोजकों को 21 अक्टूबर को होने वाले विधानसभा चुनावों के लिए लागू आदर्श आचार संहिता का कड़ाई से पालन करना चाहिए और किसी भी परिसर की दीवार या स्कूल भवन को नुकसान नहीं पहुंचाना चाहिए.

    संपर्क करने पर जेपी हाई स्कूल (बालक) के प्रधान अध्यापक डीआर. सरार ने स्वीकार किया कि उद्धव ठाकरे की रैली के लिए परीक्षा की तारीख को आगे बढ़ाकर 18 अक्टूबर किया गया है.

    चुनाव के लिए 21 अक्टूबर को डाले जाएंगे वोट
    गौरतलब है कि हरियाणा और महाराष्ट्र में 21 अक्टूबर को वोट डाले जाएंगे और वोटों की गिनती 24 अक्टूबर को होगी. महाराष्ट्र में विधानसभा की 288 सीटें हैं. वर्ष 2014 के विधानसभा चुनाव में बीजेपी ने 123 सीटें जीती थीं, जबकि शिवसेना को 63 सीटें हासिल हुई थीं. वहीं, कांग्रेस को 42, एनसीपी को 41 और अन्य को 19 सीटों पर जीत मिली थी.

    Tags: Maharashtra, Maharashtra Assembly Election 2019, Politics

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर