लाइव टीवी

मुंबई के सरकारी अस्पताल में आग लगने से झुलसा था दो माह का मासूम, देर रात तोड़ा दम

भाषा
Updated: November 22, 2019, 10:09 AM IST
मुंबई के सरकारी अस्पताल में आग लगने से झुलसा था दो माह का मासूम, देर रात तोड़ा दम
मुंबई के केईएम अस्पताल में आग लगने से झुलसे मासूम की इलाज के दौरान मौत हो गई है. (फाइल फोटो)

ICU में शाॅर्ट सर्किट के चलते लगी थी आग, उस दौरान सिर्फ एक नर्स थी मौजूद. मासूम के पिता ने ठुकरा दिया था बीएमसी की ओर से दिया गया मुआवजा.

  • भाषा
  • Last Updated: November 22, 2019, 10:09 AM IST
  • Share this:
मुंबई : देश की आर्थिक राजधानी (Mumbai) में स्थित केईएम (KEM) अस्पताल के आईसीयू में आग लगने के बाद झुलसे दो माह के प्रिंस ने आखिर गुरुवार देर रात 2.45 बजे दम तोड़ दिया. इससे पहले झुलसे प्रिंस का डॉक्टरों ने एक हाथ भी काट दिया था. लेकिन इसके बावजूद इंफेक्‍शन उसके पूरे शरीर में फैल गया था.

अधिकारी ने बताया कि नवजात को दिल की बीमारी के इलाज के लिए वाराणसी से यहां लाया गया था. प्रिंस के पिता पन्नीलाल राजभर ने 13 नवंबर को भोईवाड़ा पुलिस थाने में शिकायत दर्ज करवाई थी, जिसके बाद अस्पताल के स्टाफ के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 338 के तहत लापरवाही का मामला दर्ज किया गया.

परिजन बृहन्मुंबई महानगर पालिका के आयुक्त से मिले
इस हफ्ते बच्चे के माता-पिता ने बृहन्मुंबई महानगर पालिका के आयुक्त प्रवीन परदेशी से मुलाकात की थी. बीएमसी ने बच्चे के अभिभावकों को पांच लाख रुपए के मुआवजे का प्रस्ताव दिया था जिसे उन्होंने ठुकरा दिया था. इसके बाद, बुधवार को नगर निकाय ने प्रिंस के परिवार को 10 लाख रुपए मुआवजे का प्रस्ताव दिया है.

आईसीयू में थी सिर्फ एक नर्स
पन्नेलाल ने बताया कि बेटे के दिल में सुराख था. उसे सही और अच्छा इलाज मिले इसके चलते दिल्ली से मुंबई आए थे. लेकिन लापरवाही के चलते आईसीयू में आग लग गई. आईसीयू में उस समय सिर्फ एक नर्स मौजूद थी. उनका बेटा आग की चपेट में आ गया और उसका एक हाथ काटना पड़ा था.

Loading...

 

ये भी पढ़ें- मुंबई के सरकारी अस्पताल में आग, दो माह का मासूम झुलसा, डॉक्टरों ने काटा एक हाथ

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Mumbai से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 22, 2019, 8:10 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...