लाइव टीवी
Elec-widget

उद्धव ठाकरे के शपथ ग्रहण समारोह के लिए सुरक्षा के पुख्ता इतंजाम, ड्रोन कैमरों से रखी जाएगी नजर

भाषा
Updated: November 27, 2019, 4:57 PM IST
उद्धव ठाकरे के शपथ ग्रहण समारोह के लिए सुरक्षा के पुख्ता इतंजाम, ड्रोन कैमरों से रखी जाएगी नजर
उद्धव ठाकरे के शपथ ग्रहण समारोह के लिए सु्रक्षा के पुख्ता इंतजाम

पुलिस (Police) ने कहा, ‘शपथ ग्रहण समारोह कार्यक्रम में हजारों लोगों के पहुंचने की संभावना है, लिहाजा समारोह स्थल पर पर्याप्त संख्या में पुलिसकर्मी तैनात किये जाएंगे.’

  • Share this:
मुंबई. शिवसेना उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) के शपथ ग्रहण समारोह के लिए मध्य मुंबई के दादर स्थित शिवाजी पार्क (Shivaji Park) और उसके आसपास सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं. पुलिस अधिकारियों ने यह जानकारी दी है. उद्धव ठाकरे कल शाम महाराष्ट्र (Maharashtra) के 17वें मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ लेंगे. एनसीपी और कांग्रेस के समर्थन से उद्धव ठाकरे परिवार से मुख्यमंत्री बनने वाले पहले सदस्य होंगे.

शिवसैनिकों का शिवाजी पार्क से भावनात्मक जुड़ाव रहा है, जहां पार्टी के संस्थापक दिवंगत बाल ठाकरे दशहरा रैली को संबोधित किया करते थे. बाल ठाकरे के पुत्र उद्धव ने भी इस परंपरा को बकरार रखा. बाल ठाकरे का अंतिम संस्कार भी शिवाजी पार्क के एक कोने में किया गया था, जिसे शिवसैनिक "शिवतीर्थ" कहते हैं. शपथ ग्रहण समारोह में विभिन्न पार्टियों के नेताओं को आमंत्रित किया गया है.

अधिकारी ने कहा कि संयुक्त पुलिस आयुक्त (कानून-व्यवस्था) विनय चौबे समेत वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों ने बुधवार को समारोह स्थल पर सुरक्षा तैयारियों की समीक्षा की. शिवाजी पार्क पुलिस थाने के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, ‘कार्यक्रम में हजारों लोगों के पहुंचने की संभावना है, लिहाजा समारोह स्थल पर पर्याप्त संख्या में पुलिसकर्मी तैनात किये जाएंगे.’

ड्रोन कैमरों से रखी जाएगी नजर

अधिकारी ने कहा कि सादी वर्दी में पुलिसकर्मियों को भी तैनात किया जाएगा. साथ ही भीड़ पर नजर रखने के लिये ड्रोन और सीसीटीवी कैमरों का इस्तेमाल किया जाएगा. उन्होंने कहा कि अधिकारियों ने आगंतुकों और वीवीआईपी मेहमानों के वाहनों की पार्किंग जैसे मुद्दों पर भी यातायात प्रबंधन के साथ चर्चा की.

हाईकोर्ट ने सुरक्षा को लेकर जताई चिंता
इसी से संबंधित एक घटनाक्रम में बंबई हाईकोर्ट ने शिवाजी पार्क में शपथ ग्रहण समारोह को लेकर बुधवार को सुरक्षा संबंधी चिंता जताई और कहा कि सार्वजनिक मैदानों पर इस किस्म के कार्यक्रमों को आयोजित करने का यह नियमित सिलसिला नहीं होना चाहिए. कोर्ट ने एक एनजीओ की याचिका पर वर्ष 2010 में इस क्षेत्र को ‘साइलेंस जोन’ घोषित कर दिया था.
Loading...

ये भी पढ़ें- 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Mumbai से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 27, 2019, 4:57 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...