लाइव टीवी

कमाठीपुरा रेड लाइट एरिया छोड़कर जाने को मजबूर सेक्स वर्कर्स, ये है वजह...

News18Hindi
Updated: August 17, 2019, 12:41 PM IST
कमाठीपुरा रेड लाइट एरिया छोड़कर जाने को मजबूर सेक्स वर्कर्स, ये है वजह...
किराया का बढ़ाता बोझ कमाठीपुरा के सेक्स वर्करों पर भारी पड़ रहा है. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

रियल एस्टेट (Real Estate) की बढ़ती कीमतों ने सेक्स वर्कर्स को इस इलाके को छोड़ने पर मजबूर कर दिया है. एक एनजीओ के डायरेक्टर ने बताया कि कमाठीपुरा की सेक्स वर्कर्स अब महानगर की उपनगरीय इलाकों में शिफ्ट हो रही हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 17, 2019, 12:41 PM IST
  • Share this:
मुंबई (Mumbai) स्थित कमाठीपुरा (Kamathipura) रेड लाइट एरिया (Red Light Area) की सेक्स वर्कर्स (Sex Workers) इस जगह को छोड़कर जा रही हैं. रियल एस्टेट (Real Estate) की बढ़ती कीमतों ने उन्हें इस इलाके को छोड़ने पर मजबूर कर दिया है. एक एनजीओ के डायरेक्टर ने बताया कि कमाठीपुरा की सेक्स वर्कर्स अब महानगर की उपनगरीय इलाकों में शिफ्ट हो रही हैं.

न्यूज़ एजेंसी एएनआई की खबर के मुताबिक, सोशल एक्टिविटीज इंट्रीग्रेशन (SAI) एनजीओ के डायरेक्टर विनय वत्स ने बताया, 'कमाठीपुरा और फाल्कलैंड की सेक्स वर्कर्स की कमाई कम है. यह सच है कि रियल एस्टेट का असर इन पर पड़ रहा है और ये लोग यहां से अन्य जगह जा रहे हैं. इस कारण कई वेश्यालय बंद हो रहे हैं. कई बहनें यहां का बढ़ा हुआ किराया (रेंट) नहीं चुका पा रही हैं इसलिए वो नालासोपारा, तुर्भे और वाशी में शिफ्ट हो गई हैं.'

25 से दो सौ रुपए पहुंचा किराया
विनय ने बताया कि वो सेक्स वर्करों के साथ 90 के दशक से काम कर रहे हैं. यहां (कमाठीपुरा) पिछले 20 वर्षों में किराया में बेतहाशा बढ़ोतरी दर्ज की गई है. उस समय 25 रुपए किराया था लेकिन आज न्यूनतम 200 रुपए है और महीने भर का किराया 10 से 15 हजार तक पहुंच जाता है.

रियल एस्टेट डेवेलपर्स की इलाके पर नजर
कमाठीपुरा इलाके के किराया में हुई बेहताशा वृद्धि के कारणों के बारे में बताते हुए विनय वत्स ने कहा, 'यह सेंट्रल मुंबई है. यहां पर बॉम्बे सेंट्रल और ट्राडेवो जैसे कमर्शियल इलाके कमाठीपुरा के पास ही हैं. इस कारण रियल एस्टेट डेवेलपर्स की इस इलाके पर नजर है.'

'किराया बढ़ गया लेकिन कमाई नहीं बढ़ी'
Loading...

आरती नाम की एक सेक्स वर्कर ने कमाठीपुरा की परेशानियों और विनय वत्स की बातों पर अपनी सहमति जताई. आरती ने कहा, 'मैं ठाणे के एक इलाके से कमाठीपुरा आती हूं. मैं कई वर्षों से इस व्यवसाय से जुड़ी हुई हूं. किराया लगातार बढ़ते जा रहा है लेकिन कमाई नहीं बढ़ रही है. परिवार का जीवन चलाना मुश्किल हो गया है.'

ये भी पढ़ें-

बिहार पुलिस का नटवरलाल गिरफ्तार, अपने ही विभाग के अधिकारियों से ठगे 3.50 करोड़

रामलला के वकील ने SC को सौंपे फोटो एलबम, बोले- मस्जिदों में नहीं होते ऐसे चित्र

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Mumbai से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 17, 2019, 12:24 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...