लाइव टीवी
Elec-widget

देवेंद्र फडणवीस नहीं साबित कर पाएंगे बहुमत, सरकार तो हम ही बनाएंगे: शरद पवार

भाषा
Updated: November 23, 2019, 3:44 PM IST
देवेंद्र फडणवीस नहीं साबित कर पाएंगे बहुमत, सरकार तो हम ही बनाएंगे: शरद पवार
शरद पवार का दावा- सरकार तो हम ही बनाएंग (फाइल फोटो)

शरद पवार (Sharad Pawar) ने कहा कि राज्यपाल ने 30 नवंबर तक का वक्त दिया है. हमारे पास नंबर हैं और हम ही सरकार बनाएंगे.

  • Share this:
मुंबई. महाराष्ट्र (Maharashtra) में बीजेपी के नेतृत्व में नई सरकार बनने के बाद राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के सुप्रीमो शरद पवार (Sharad Pawar) ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर भगवा पार्टी और अपने भतीजे अजित पवार (Ajit Pawar) पर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि हमारे पास विधायकों की संख्या है. सरकार तो हम ही बनाएंगे. शरद पवार ने कहा कि अजित पवार के साथ सिर्फ 11 विधायक गए थे. बाकी सभी एनसीपी के साथ ही हैं. उन्होंने कहा कि हम सब एकजुट हैं. बीजेपी बहुमत साबित नहीं कर पाएगी.

वहीं, अजित पवार के बागी तेवर पर शरद पवार ने कहा कि उसने खुद बीजेपी को समर्थन दिया है लेकन एनसीपी के विधायक उसका समर्थन नहीं करेंगे. शरद पवार ने कहा कि राज्यपाल ने 30 नवंबर तक का वक्त दिया है. हमारे पास नंबर हैं और हम ही सरकार बनाएंगे. पवार ने कहा कि मुंबई देवेंद्र फडणवीस विधानसभा में बहुमत साबित नहीं कर पाएंगे.

कार्यकर्ता समर्थन में नहीं
राकांपा अध्यक्ष ने शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे के साथ संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘अजित पवार का फैसला अनुशासनहीनता है. राकांपा का कोई कार्यकर्ता राकांपा-भाजपा सरकार के समर्थन में नहीं है. भाजपा का समर्थन करने वाले राकांपा विधायकों को पता होना चाहिए कि उनके इस कदम पर दल-बदल विरोधी कानून के प्रावधान लागू होते हैं.’’ उन्होंने कहा कि इन विधायकों के निर्वाचन क्षेत्रों में जब कभी चुनाव होंगे, तो कांग्रेस-राकांपा-शिवसेना उन्हें मिलकर हराएंगी.

एक पत्र पर हस्ताक्षर किए थे
पवार ने कहा कि राकांपा के 54 नवनिर्वाचित विधायकों ने अंदरूनी उद्देश्यों के लिए अपने नाम और निर्वाचन क्षेत्रों के साथ एक पत्र पर हस्ताक्षर किए थे और समर्थन पत्र के लिए इन हस्ताक्षरों का दुरुपयोग किया गया होगा तथा इसे राज्यपाल को सौंपा गया होगा. उन्होंने कहा, ‘‘यदि यह सच है तो राज्यपाल को भी गुमराह किया गया है.’’ पवार ने कहा कि यह पत्र अजित पवार ने विधायक दल के नेता के तौर पर लिया होगा.

राजभवन लाया गया
Loading...

उन्होंने कहा कि जिन विधायकों को शपथ ग्रहण समारोह की जानकारी दिए बिना राजभवन लाया गया, उन्होंने उनसे संपर्क किया और बताया कि उन्हें कैसे गुमराह किया गया. बुलढाणा से राजेंद्र शिंगणे और बीड से संदीप क्षीरसागर समेत ऐसे तीन विधायक संवाददाता सम्मेलन में मौजूद थे. विधायकों ने बताया कि उन्हें सुबह सात बजे पार्टी नेता धनंजय मुंडे के आवास बुलाया गया और फिर उन्हें कार से राजभवन ले जाया गया. पवार ने कहा कि उन विधायकों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की जाएगी जो अनजाने में राजभवन गए थे और पार्टी में लौट आए हैं.

ईवीएम का खेल चल रहा था
वहीं, उद्धव ठाकरे ने कहा, ‘‘पहले ईवीएम का खेल चल रहा था और अब यह नया खेल है. मुझे नहीं लगता कि अब से चुनाव कराने की कोई आवश्यकता भी है.’’ उद्धव ने कहा, ‘‘हर कोई जानता है कि जब छत्रपति शिवाजी महाराज को धोखा देकर उन पर पीछे से वार किया गया था तो उन्होंने क्या किया था.’’ उन्होंने कहा कि शिवसेना कार्यकर्ता पार्टी के विधायकों का दल-बदल कराने की सभी कोशिशें नाकाम कर देगी.

ये भी पढ़ें- 

शपथ लेने के बाद देवेंद्र फडणवीस और अजित पवार ने सरकार गठन की बताई वजह

'पवार तुस्सी ग्रेट हो'- महाराष्ट्र में BJP की सरकार पर ये बोले कांग्रेस नेता

 

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Mumbai से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 23, 2019, 3:36 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...