• Home
  • »
  • News
  • »
  • maharashtra
  • »
  • चुनाव लड़ने के ऐलान के बाद आदित्य ठाकरे बोले- महाराष्ट्र को बेहतर राज्य बनाने का समय आ गया

चुनाव लड़ने के ऐलान के बाद आदित्य ठाकरे बोले- महाराष्ट्र को बेहतर राज्य बनाने का समय आ गया

शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस के विधायकों ने मंगलवार शाम को उद्धव ठाकरे को विधायक दल का नेता चुन लिया है

शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस के विधायकों ने मंगलवार शाम को उद्धव ठाकरे को विधायक दल का नेता चुन लिया है

आदित्‍य ठाकरे (Aaditya Thackeray) के मैदान में उतरते ही ये तय हो गया है कि शिवसेना (Shiv Sena) ने अब अपनी निगाहें महाराष्‍ट्र सीएम (Maharashtra CM) की कुर्सी पर जमा दी हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:
    मुंबई. महाराष्‍ट्र (Maharashtra) की राजनीति (Politics) में इस बार एक बड़ा बदलाव हुआ है. जिसमें ठाकरे परिवार से पहली बार कोई सदस्‍य चुनाव लड़ने जा रहा है. शिवसेना ने उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) के बेटे आदित्‍य ठाकरे (Aaditya Thackeray) को मुंबई की वर्ली सीट से चुनावी मैदान में उतारा है. आदित्य ने मीडिया से बातचीत में कहा कि ये फैसला मैंने अपने लिए नहीं बल्कि महाराष्ट्र की जनता के सपनों को पूरा करने के लिए लिया है. उन्होंने कहा कि यह महाराष्ट्र को एक बेहतर राज्य बनाने का समय है.

    बता दें कि ये सीट अभी शिवसेना के कब्‍जे में ही है ऐसे में मौजूदा विधायक का टिकट काटकर आदित्‍य को टिकट दिया गया है. सीट की घोषणा करने के दौरान वहां आदित्य ठाकरे की मां रश्मि ठाकरे और भाई तेजस ठाकरे मौजूद रहे. वहीं पिता उद्धव इस दौरान कहीं नज़र नहीं आए.

    संजय राउत ने कहा धन्यवादटिकट मिलने के बाद बोले आदित्य ठाकरे- जनता के सपनों को पूरा करने के लिए लिया फैसला 2470609
    अनाउंसमेंट होने के बाद शिवसेना से राज्यसभा सांसद संजय राउत ने कहा कि पूरा महाराष्ट्र इस ऐतिहासिक ऐलान का इंतजार कर रहा था. उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र के लिए आगे आकर इसके नेतृत्व की जिम्मेदारी उठाने के लिए महाराष्ट्र आपको (आदित्य ठाकरे) धन्यवाद देता है.

    ऐसे में आदित्‍य के मैदान में उतरते ही ये तय हो गया है कि शिवसेना ने अब अपनी निगाहें महाराष्‍ट्र सीएम की कुर्सी पर जमा दी हैं. हाल ही में उद्धव ठाकरे ने कहा था कि उन्‍होंने बाला साहब ठाकरे से वादा किया था कि वह एक शिवसैनिक को सीएम की कुर्सी पर बिठाएंगे.

    चुनावी मैदान में नहीं उतरा ठाकरे परिवार का कोई भी सदस्‍य 
    शिवसेना की स्‍थापना बालासाहब ठाकरे ने की, लेकिन खुद कभी चुनाव नहीं लड़ा. यहां तक कि जब 1995 में बीजेपी-शिवसेना गठबंधन महाराष्‍ट्र में सत्‍ता में आया तब भी बालासाहब ठाकरे ने मुख्‍यमंत्री, मनोहर जोशी को बनाया था. वहीं खुद उद्धव और उनके चचेरे भाई राज ठाकरे ने चुनाव नहीं लड़ा.

    महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव 2019: कांग्रेस ने जारी की 51 प्रत्याशियों की पहली लिस्ट, जानें- कौन कहां से प्रत्याशी

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज