लाइव टीवी
Elec-widget

महाराष्ट्र में कांग्रेस की मदद के बिना नहीं बनेगी शिवसेना-NCP की सरकार, ये है समीकरण

News18Hindi
Updated: November 11, 2019, 10:18 AM IST
महाराष्ट्र में कांग्रेस की मदद के बिना नहीं बनेगी शिवसेना-NCP की सरकार, ये है समीकरण
महाराष्ट्र में सरकार बनाने के लिए शिवसेना तमाम विकल्पों पर विचार कर रही है.

कांग्रेस (Congress) की मदद से शिवसेना और राष्ट्रवादी कांग्रेस (NCP) राज्य में सरकार बनाने की कोशिशों में जुट गई है. रविवार को एनसीपी ने कहा था कि अगर शिवसेना को हमारे साथ आना है तो NDA का साथ छोड़ना होगा और केंद्रीय मंत्रिमंडल से अलग होना होगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 11, 2019, 10:18 AM IST
  • Share this:
मुंबई. महाराष्ट्र (Maharashtra) में भारतीय जनता पार्टी (BJP) के सरकार बनाने से इनकार करने के बाद राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी (Bhagat Singh Koshyari) ने शिवसेना (Shiv Sena) को न्योता दिया है. इसके बाद से ही राज्य में नए समीकरण बनने के संकेत मिल रहे हैं. कांग्रेस (Congress) की मदद से शिवसेना और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) राज्य में सरकार बनाने की कोशिशों में जुट गई है. रविवार को एनसीपी ने कहा था कि अगर शिवसेना को हमारे साथ आना है तो एनडीए का साथ छोड़ना होगा और केंद्रीय मंत्रिमंडल से इस्तीफा देना होगा.

सोमवार सुबह ही शिवसेना कोटे से मोदी सरकार में एकमात्र मंत्री अरविंद सावंत (Arvind Sawant) ने इस्तीफा देने का ऐलान कर दिया. इसलिए माना जा रहा है कि शिवसेना पूरी तरह से एनसीपी के साथ मिलकर सरकार बनाने के मूड में है. हालांकि शरद पवार ने कहा है कि मेरी किसी से भी किसी के इस्तीफे को लेकर कोई बात नहीं हुई है. कांग्रेस के साथ बैठक के बाद ही अंतिम निर्णय लिया जाएगा.

दूसरी तरफ, कांग्रेस में भी गहमागहमी तेज हो गई है. कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक से पहले महाराष्ट्र कांग्रेस के बड़े नेता बालासाहब थोराट ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से फोन पर बात की है और राज्य के वर्तमान राजनीतिक हालात से उन्‍हें अवगत कराया है. माना जा रहा है कि कांग्रेस विधायक दल भी शिवसेना सरकार को समर्थन देने के लिए तैयार है. कांग्रेस प्रदेश इकाई भी समर्थन देने की बात कह रही है, लेकिन सबने अंतिम फैसला आलाकमान पर छोड़ दिया है.

शिवसेना कोटे से मोदी सरकार में एकमात्र मंत्री अरविंद सावंत ने इस्तीफा दे दिया है.


कांग्रेस, बीजेपी और एनसीपी की कोर ग्रुप की बैठक
मलिकार्जुन खड़गे जयपुर में विधायकों से बात कर दिल्ली के लिए निकल चुके हैं. कुछ देर बाद CWC की बैठक में विधायक दल का निर्णय बताएंगे. वहीं, 10.30 बजे जयपुर में विधायक दल की दोबारा बैठक होगी. इस बैठक में सभी विधायकों को हाईकमान का फाइनल निर्णय बताया जाएगा.

सिर्फ कांग्रेस कोर ग्रुप की बैठक नहीं हो रही है. राज्य के राजनीतिक हालात को देखते हुए सभी दल सक्रिय हो गए हैं. मुंबई में 11 बजे से बीजेपी की कोर कमेटी आगे के निर्णयों पर रणनीति बनाएगी. वहीं, 10 बजे एनसीपी की बैठक भी है. इसके साथ ही शिवसेना सांसद अरविंद सावंत 11 बजे प्रेस कॉन्फ्रेंस कर मोदी कैबिनेट से इस्तीफे का ऐलान करेंगे.
Loading...

बैठक में यही निर्णय लिया गया कि विधायक दल का नेता कौन होगा यह तय करने के लिए पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी को अधिकृत कर दिया जाए.
कांग्रेस विधायकों ने अंतिम निर्णय आलाकमान पर छोड़ दिया है.


इस अंक गणित के साथ ही सफल होगा समीकरण
महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में बीजेपी को 105 सीटों पर जीत मिली है. वहीं, शिवसेना के खाते में 56 तो एनसीपी को 54 सीटें मिली हैं. राज्य में कांग्रेस चौथे नंबर पर रही और उसे 44 सीटों से संतोष करना पड़ा. अगर सीटों की गणित देखे तो कांग्रेस की मदद के बगैर एनसीपी और शिवसेना भी सरकार नहीं बना पाएगी. शिवसेना की 56 और एनसीपी की 54 सीटों को मिलाकर 100 सीट होते हैं. अगर कांग्रेस भी एनसीपी के साथ मिल जाती है तो आंकड़ा (56+54+44) 154 पर पहुंच जाएगा. सरकार बनाने के लिए 145 सीटों की जरूर है.

सत्ता में भागीदारी और सीएम पद को लेकर थी तकरार
24 अक्टूबर को आए नतीजों में बीजेपी-शिवसेना के चुनाव पूर्व गठबंधन को पूर्ण बहुमत मिला था, लेकिन सत्ता में बराबर की भागीदारी और ढाई साल के लिए मुख्यमंत्री पद शिवसेना की मांग के कारण सरकार का गठन नहीं हो पाया. बीते शुक्रवार को सीएम देवेंद्र फडणवीस ने राज्यपाल से मुलाकात कर महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था. फिलहाल वह राज्य के कार्यवाहक मुख्यमंत्री हैं. फडणवीस के इस्तीफे के एक दिन बाद राज्यपाल ने महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में सबसे बड़े दल के रूप में उभरी बीजेपी को सरकार गठन के लिए न्योता दिया था.

devendra Fadanvis
देवेंद्र फडणवीस फिलहाल कार्यवाहक मुख्यमंत्री हैं. (फाइल फोटो)


'शिवसेना जनादेश का अनादर कर रही'
महाराष्‍ट्र बीजेपी के अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल ने राज्यपाल से मुलाकात के बाद रविवार को कहा, 'हम सरकार नहीं बना रहे हैं, क्योंकि हमारे पास बहुमत नहीं है. हम राज्य में अकेले सरकार नहीं बना सकते.' पाटिल ने कहा कि हमें (बीजेपी-शिवसेना) एक साथ काम करने के लिए जनादेश मिला था. अगर शिवसेना इसका अनादर करना चाहती है और कांग्रेस-एनसीपी के साथ सरकार बनाना चाहती है, तो हमारी शुभकामनाएं उनके साथ हैं.'

ये भी पढ़ें-

शिवसेना भी नहीं बना पाई सरकार तो क्या होगी महाराष्ट्र में आगे की राह?

NCP के साथ सरकार बनाने की ओर शिवसेना, अकेले मंत्री का मोदी सरकार से इस्तीफा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Mumbai से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 11, 2019, 9:47 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...