• Home
  • »
  • News
  • »
  • maharashtra
  • »
  • BJP पर शिवसेना के तल्‍ख तेवर, कहा- अघोरी प्रयोग विफल रहा, पांच साल तक पीछे हटने की आदत डाल लें

BJP पर शिवसेना के तल्‍ख तेवर, कहा- अघोरी प्रयोग विफल रहा, पांच साल तक पीछे हटने की आदत डाल लें

विधानसभा के विशेष सत्र में सहयोगी नेताओं के साथ जाते मुख्‍यमंत्री उद्धव ठाकरे. (PTI)

विधानसभा के विशेष सत्र में सहयोगी नेताओं के साथ जाते मुख्‍यमंत्री उद्धव ठाकरे. (PTI)

शिवसेना ने 'सामना' (Saamana) में संपादकीय के जरिये एक बार फिर से BJP पर हमला बोला है. इसमें लिखा गया है कि भाजपा को अगले पांच वर्षों तक पीछे हटने की आदत डालनी पड़ेगी.

  • Share this:
    मुंबई. महाराष्‍ट्र के विधानसभा में शिवसेना के नेतृत्‍व में गठबंधन सरकार की ओर से विश्‍वासमत हासिल करने के बाद रविवार (1 दिसंबर 2019) का दिन भी सत्‍तारूढ़ दल के लिए खास रहा. कांग्रेस के वरिष्‍ठ नेता नाना पटोले (Nana Patole) निर्विरोध विधानसभा के अध्‍यक्ष चुन लिए गए. बीजेपी ने भी स्‍पीकर पद के लिए अपने उम्‍मीदवार उतारे थे, लेकिन सर्वदलीय बैठक के बाद पूर्व सीएम देवेंद्र फडणवीस ने प्रत्‍याशी वापस लेने की घोषणा कर दी थी. इस पूरे प्रकरण पर शिवसेना (Shiv Sena) ने अपने मुखपत्र 'सामना' में संपादकीय के जरिये बीजेपी पर तीखा हमला बोला है. इसमें लिखा गया कि महाराष्‍ट्र में जोर-जबरदस्‍ती और अघोरी प्रयोग सफल नहीं रहा. साथ ही नाना पटोले के विधानसभा अध्‍यक्ष बनने और भाजपा द्वारा प्रत्‍याशी वापस लेने पर भी सामना में तंज कसा गया है. इसमें लिखा गया है कि अब पांच वर्षों तक इसी तरह पीछे हटने की आदत डालनी पड़ेगी. इसमें उद्धव सरकार द्वारा पांच साल का कार्यकाल पूरा करने का भी दावा किया गया है.

    फडणवीस को नसीहत
    'सामना' में खासकर नाना पटोले के निर्विरोध विधानसभा अध्‍यक्ष चुने जाने को मुद्दा बनाया गया है. संपादकीय में लिखा, 'शनिवार (30 नवंबर) को 170 का आंकड़ा भाजपावालों की आंखों और दिमाग में घुस जाने का ऐसा परिणाम हुआ कि विधानसभा अध्‍यक्ष पद के चुनाव में उन्‍हें पीछे हटना पड़ा. अब अगले पांच साल तक उन्‍हें इसी तरह पीछे हटने की आदत डालनी पड़ेगी.' इसमें पूर्व सीएम फडणवीस पर भी टिप्‍पणी की गई है. शिवसेना ने संपादकीय के जरिये कहा, 'मुख्‍यमंत्री की हैसियत से देवेंद्र फडणवीस ने जो गलतियां कीं वह विरोधी पक्ष के नेता के रूप में उन्‍हें नहीं करनी चाहिए. हमारी इच्‍छा है कि विपक्ष के नेता के पद की शान और प्रतिष्‍ठा बरकरार रहे.'

    BJP को दी यह सलाह
    शिवसेना ने बीजेपी को देवेंद्र फडणवीस को लेकर भी सलाह दी है. 'सामना' में प्रकाशित संपादकीय में लिखा गया है, 'दरअसल, यह बीजेपी का अंदरूनी मामला है कि वह किसे विपक्ष का नेता बनाए. लेकिन, राजस्‍थान में वसुंधरा राजे और मध्‍य प्रदेश में शिवराज सिंह चौहान ने विपक्ष के नेता की कुर्सी नहीं संभाला. यह पद दूसरे नेता को दिया गया. इसके बावजूद बीजेपी ने विपक्ष के नेता के पद पर फडणवीस को ही बनाया.' शिवसेना ने कहा कि विश्‍वासमत प्रस्‍ताव पर बहस के दौरान नए विपक्षी नेता ने जो 'ड्रामा' किया वह ठीक नहीं था.

     

    ये भी पढ़ें: संजय राउत का तंज- सेठ जिनके घर शीशे के होते हैं, वे दूसरों के घरों में पत्‍थर नहीं फेंका करते

    महाराष्ट्रः CM उद्धव ठाकरे ने दिया आरे प्रदर्शनकारियों के खिलाफ केस वापस लेने का आदेश

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज