लाइव टीवी

महाराष्ट्र में एक बार फिर उठी स्कूलों में मराठी अनिवार्य करने की मांग

News18Hindi
Updated: January 13, 2020, 12:50 PM IST
महाराष्ट्र में एक बार फिर उठी स्कूलों में मराठी अनिवार्य करने की मांग
शिवसेना ने महाराष्ट्र के सभी स्कलों में मराठी भाषा अनिवार्य करने की मांग की (फाइल फोटो)

कुछ दिनों पहले ही महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री अजित पवार (Deputy Cm Ajit Pawar) ने सभी स्कूलों में मराठी भाषा (Marathi Language) को अनिवार्य करने को लेकर सरकार योजना बना रही है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 13, 2020, 12:50 PM IST
  • Share this:
मुंबई. महाराष्ट्र में मराठी भाषा (Marathi Language) को स्कूलों में अनिवार्य करने का मुद्दा एक बार फिर से गरमा गया है. शिवसेना के कई बड़े नेताओं ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (CM Uddhav Thackeray) से मांग की है कि वह विधानभवन में बजट सत्र के दौरान एक विधेयक लाकर मराठी भाषा को सभी स्कूलों में अनिवार्य करें. कट्टर हिंदुत्व का चेहरा रही शिवसेना अब वही अपनी पुरानी मराठी भाषाई अस्मिता की तरफ लौटती दिख रही है, जिससे महाराष्ट्र में सियासत के गर्म होने के आसार फिर से नजर आने लगे हैं.

इन नेताओं ने की मांग
शिवसेना के कई बड़े नेताओं जैसे संजय राउत, सुभाष देसाई और दिलीप लांडे ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से इसके लिए कदम उठाने की अपील की है. इन नेताओं ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से विधानभवन के बजट सत्र के दौरान तीन विशेष घोषणाएं करने की गुजारिश की है. जिसमें सभी स्कूलों में मराठी भाषा अनिवार्य करने के लिये बिल लाने की बात भी शामिल है.

शिवसेना को मिल रहा NCP का साथ

शिवसेना नेताओं की इस मांग को सहयोगी पार्टी एनसीपी का भी साथ मिलता दिख रहा है. दरअसल, कुछ दिनों पहले ही महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री अजित पवार ने भी यह बयान दिया था कि सभी स्कूलों में मराठी भाषा को अनिवार्य करने को लेकर सरकार योजना बना रही है.

फाइलों पर मराठी में रिमार्क्स
गौरतलब है कि कुछ दिन पहले ही शिवसेना के विधायक दिलीप लांडे ने बीएमसी की बैठक में अंग्रेजी में लिखी सूची देखकर फाड़ डाला और उसे अधिकारियों पर फेंक दिया था. इतना ही नहीं, ठाकरे सरकार में मंत्री सुभाष देसाई ने सभी अधिकारियों को फाइलों पर मराठी में रिमार्क्स करने की नसीहत दी थी.24 फरवरी से बजट सत्र की शुरुआत
महाराष्ट्र में बजट सत्र की शुरुआत 24 फरवरी से हो रही है. ऐसे में देखने वाली बात यह होगी कि क्या मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे अपने नेताओं की इस अपील पर मराठी भाषा को सभी स्कूलों में अनिवार्य करने वाला बिल पटल पर रखेंगे या नहीं.

(रिपोर्ट: दिवाकर सिंह)

ये भी पढ़ें: शिवाजी की मोदी से तुलना करने वाली किताब पर रुख स्पष्ट करें छत्रपति के वशंज: संजय राउत


News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Mumbai से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 13, 2020, 12:24 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर