लाइव टीवी

बाल ठाकरे के नाम पर होगा मुंबई-नागपुर समृद्धि एक्सप्रेसवे, उद्धव कैबिनेट से प्रस्ताव पास

भाषा
Updated: December 11, 2019, 10:32 PM IST
बाल ठाकरे के नाम पर होगा मुंबई-नागपुर समृद्धि एक्सप्रेसवे, उद्धव कैबिनेट से प्रस्ताव पास
एकनाथ शिंदे ने बताया कि मुंबई-नागपुर कॉरिडोर का नाम बाल ठाकरे के नाम पर रखा जाएगा (उद्धव ठाकरे की फाइल फोटो)

मुंबई-नागपुर कॉरिडोर (Mumbai-Nagpur Corridor) का नाम शिवसेना (Shiv Sena) के संस्थापक बाल ठाकरे (bal thackeray) के नाम पर रखने का प्रस्ताव रखा गया, जिस पर सभी ने अपनी सहमति जताई.

  • भाषा
  • Last Updated: December 11, 2019, 10:32 PM IST
  • Share this:
मुंबई. महाराष्ट्र की पूर्ववर्ती बीजेपी सरकार द्वारा शुरू किए गए मुंबई-नागपुर समृद्धि एक्सप्रेसवे (Mumbai-Nagpur Corridor) का नाम शिवसेना के संस्थापक बाल ठाकरे के नाम पर रखा जाएगा. यह जानकारी बुधवार को महाराष्ट्र के मंत्री एकनाथ शिंदे (Eknath Shinde) ने दी. शिंदे ने कहा कि 46 हजार करोड़ रुपये की परियोजना का नाम दिवंगत शिवसेना प्रमुख बाल ठाकरे के नाम पर रखने के प्रस्ताव पर कैबिनेट के सभी मंत्रियों ने मंजूरी दी है. इसमें कांग्रेस (Congress) और एनसीपी (NCP) के मंत्री भी शामिल हैं.

उद्धव ठाकरे सरकार की कैबिनेट बैठक के बाद मुंबई में एकनाथ शिंदे ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर मीडिया को जानकारी दी. प्रेस कॉन्फ्रेंस में मौजूद एनसीपी से मंत्री छगन भुजबल ने कहा कि प्रस्ताव पर कैबिनेट में चर्चा हुई और इस पर सहमति बनी लेकिन इस बारे में औपचारिक निर्णय अभी नहीं लिया गया है.

सीएम समेत सभी मंत्रियों ने मंजूर किया प्रस्ताव
बुधवार को हुई कैबिनेट बैठक में राजमार्ग का नाम शिवसेना संस्थापक के नाम पर होने का प्रस्ताव रखा गया. एकनाथ शिंदे ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि बैठक में बाला साहेब के महाराष्ट्र के लिए योगदान को देखते हुए राजमार्ग का नाम उनके नाम पर रखने का प्रस्ताव रखा गया था. जिसे सीएम समेत सभी मंत्रियों ने मंजूर कर लिया.

दस जिलों से गुजरेगा एक्सप्रेसवे
बता दें, मुंबई-नागपुर सुपर कम्युनिकेशन एक्सप्रेसवे 701 किलोमीटर लंबा है, जो अभी निर्माणाधीन है. आठ लेन वाले इस कॉरिडोर को महाराष्ट्र समृद्धि महामार्ग के नाम से भी जाना जाता है. इस परियोजना की शुरुआत पूर्ववर्ती देवेंद्र फडणवीस सरकार ने की थी, जिसमें शिवसेना भी सहयोगी थी. यह एक्सप्रेसवे दस जिलों, 26 तहसील और 390 गांवों से गुजरेगा और इससे दोनों शहरों के बीच यात्रा की दूरी 15-16 घंटे से कम होकर आठ घंटे रह जाएगी.

ये भी पढ़ें-राज्यसभा में भी नागरिकता संशोधन बिल पास, विरोध में IPS अधिकारी ने दिया इस्तीफ़ा

नागरिकता संशोधन विधेयक पर शिवसेना की भूमिका स्पष्ट, हमारी मांगों पर विचार करे सरकार: एकनाथ शिंदे

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Mumbai से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 11, 2019, 10:32 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर