लाइव टीवी

नागरिकता संशोधन बिलः संसद में समर्थन के बाद बोले संजय राउत- राजनीति में अंतिम कुछ नहीं होता...

News18Hindi
Updated: December 10, 2019, 10:20 AM IST
नागरिकता संशोधन बिलः संसद में समर्थन के बाद बोले संजय राउत- राजनीति में अंतिम कुछ नहीं होता...
शिवसेना ने नागरिकता संशोधन विधेयक के पक्ष में वोट किया था. (फाइल फोटो)

संजय राउत (Sanjay Raut) के ट्वीट के बाद राजनीतिक गलियारों में चर्चा तेज हो गई है कि आखिर महाराष्ट्र में कांग्रेस और एनसीपी के साथ सत्तारूढ़ शिवसेना ने नागरिकता संशोधन बिल का समर्थन क्यों किया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 10, 2019, 10:20 AM IST
  • Share this:
मुंबई. शिवसेना (Shiv Sena) ने लोकसभा में नागरिकता संशोधन बिल (Citizenship Amendment Bill 2019) का समर्थन किया है. इस बीच, शिवसेना नेता और राज्यसभा संजय राउत (Sanjay Raut) ने मंगलवार को ट्वीट कर कहा, 'राजनीति में अंतिम कुछ नहीं होता, चलता रहता है'.

संजय राउत के ट्वीट के बाद राजनीतिक गलियारों में चर्चा तेज हो गई है कि आखिर महाराष्ट्र में कांग्रेस और एनसीपी के साथ सत्तारूढ़ शिवसेना ने नागरिकता संशोधन बिल का समर्थन क्यों किया.

इससे पहले, नागरिकता संशोधन बिल को लेकर शिवसेना ने सवाल उठाए थे. शिवसेना ने कहा कि हमारे देश में क्या समस्याओं की कमी है जो बाहर का बोझ सीने पर लिया जा रहा है. शिवसेना ने अपने मुख्य पत्र सामना में लिखा, 'क्या हिंदू अवैध शरणार्थियों की ‘चुनिंदा स्वीकृति’ देश में धार्मिक युद्ध छेड़ने का काम नहीं करेगी? शिवसेना ने मोदी सरकार पर विधेयक को लेकर हिंदुओं तथा मुस्लिमों का ‘अदृश्य विभाजन’ करने का आरोप लगाया.


नागरिकता संशोधन बिल लोकसभा से पास, 
बता दें कि नागरिकता संशोधन बिल लोकसभा से पास हो गया है. 80 सांसदों ने जहां इसके विरोध में मत डाले, वहीं पक्ष में 311 मत पड़े. अब इस बिल को राज्यसभा से पास करवाने की तैयारी की जा रही है. इस विधेयक के पास हो जाने से पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान से आए धार्मिक आधार पर उत्पीड़ित शरणार्थियों को आसानी से भारत की नागरिकता मिल सकेगा. इनमें हिंदू, जैन, सिख, बौद्ध, पारसी और ईसाई समुदाय के शरणार्थियों को नागरिकता का प्रस्ताव है.

जेडीयू, एलजेपी, शिवसेना, बीजेडी ने बिल के पक्ष में दिया वोट
खास बात यह कि नीतीश कुमार के जनता दल यूनाइटेड और रामविलास पासवान के दल ने बिल के पक्ष में वोट किया. इसके अलावा शिवसेना, बीजेडी और वाईएसआर कांग्रेस जैसी गैर बीजेपी पार्टियों ने भी बिल के पक्ष में ही वोट दिया.

ये भी पढ़ें- बिल से नागरिकता पाने वाले लोगों को 25 साल तक न मिले मताधिकार: शिवसेना सांसद

नागरिकता संशोधन विधेयक: शिवसेना ने उठाया कश्मीरी पंडितों का मुद्दा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Mumbai से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 10, 2019, 10:07 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर