लाइव टीवी
Elec-widget

BJP के हमले पर संजय राउत का शायराना जवाब, कहा- याद मुझे दर्द पुराने नहीं आते

News18Hindi
Updated: November 16, 2019, 11:23 AM IST
BJP के हमले पर संजय राउत का शायराना जवाब, कहा- याद मुझे दर्द पुराने नहीं आते
संजय राउत ने बशीर बद्र की शायरी के जरिए बीजेपी को जवाब दिया है. (फाइल फोटो)

बीजेपी के नेता शिवसेना और कांग्रेस-एनसीपी के पूर्व में एक-दूसरे के खिलाफ दिए गए तीखे बयानों की याद दिला रहे हैं. इस पर जवाब देने के लिए संजय राउत ने ट्विटर (Twitter) का सहारा लिया है और बीजेपी पर पलटवार किया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 16, 2019, 11:23 AM IST
  • Share this:
मुंबई. महाराष्ट्र (Maharashtra) में सरकार बनाने को लेकर जारी कवायद के बीच शिवसेना (Shiv Sena) नेता संजय राउत (Sanjay Raut) ने भारतीय जनता पार्टी (BJP) के आरोपों पर शायरना अंदाज में जवाब दिया है. राज्य में सरकार गठन के लिए शिवसेना की राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) और कांग्रेस (Congress) से बातचीत अंतिम दौर में है. धुर-विरोधी विचारधारा वाली पार्टी से सरकार बनाने के लिए गठबंधन करने को लेकर बीजेपी शिवसेना पर हमलावर हो रही है. बीजेपी के नेता इन दोनों पार्टियों के एक-दूसरे के खिलाफ दिए गए तीखे बयानों की याद दिला रहे हैं. इस पर जवाब देने के लिए संजय राउत ने ट्विटर (Twitter) का सहारा लिया है और बीजेपी पर पलटवार किया है.

राउत ने अपने ट्वीट में मशहूर शायर बशीर बद्र की दो पंक्तियां लिखी है, 'यारों नए मौसम ने ये एहसान किया है. याद मुझे दर्द पुराने नहीं आते.' दरअसल बीजेपी और उसके समर्थक शिवसेना नेताओं द्वारा संसद से लेकर पब्लिक फोरम में दिए गए बयानों को याद दिला रहे हैं. इसमें खासकर वो बयान शामिल हैं जिनमें संजय राउत, उद्धव ठाकरे और आदित्य ठाकरे ने एनसीपी और कांग्रेस पर हमला बोला है. माना जा रहा है कि संजय राउत का ताजा ट्वीट उसी का जवाब है.



संजय राउत बीजेपी के खिलाफ सबसे ज्यादा मुखर रहे
Loading...

बता दें कि बीजेपी-शिवसेना के बीच सत्ता में बराबर की भागीदारी (50-50 फॉर्मूला) और सीएम पद को लेकर खींचतान के कारण महाराष्ट्र में बीते 22 दिन से नई सरकार का गठन नहीं हो सका है. इस दौरान बीजेपी के खिलाफ सबसे ज्यादा शिवसेना नेता संजय राउत ही मुखर रहे हैं. चुनाव परिणाम आने के बाद से वो लगातार बीजेपी के खिलाफ बयानबाजी कर रहे हैं और दावा कर रहे हैं कि सीएम तो शिवसेना का ही होगा. अंत में इसे लेकर बात नहीं बनने पर बीजेपी की सबसे पुरानी सहयोगी शिवसेना ने एनडीए गठबंधन से अलग होने का फैसला कर लिया.

किसी भी पार्टी द्वारा महाराष्ट्र में सरकार न बना पाने के बाद राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने केंद्र सरकार को वर्तमान हालात पर रिपोर्ट भेजी. इसी के बाद मंगलवार से राज्य में राष्ट्रपति शासन लागू है. हालांकि दल अपने स्तर पर सरकार बनाने की कोशिशों में लगे हुए हैं. शिवसेना के नेतृत्व में कांग्रेस और एनसीपी साथ मिलकर सरकार गठन करने के लिए बातचीत कर रहे हैं. तीनों दल के बीच चर्चा आखिरी दौर में बताई जा रही है.

ये भी पढ़ें-

क्या महाराष्ट्र में बन रहे नए समीकरण? BJP ने जल्द सरकार बनाने का किया दावा

महाराष्ट्र में बात बन गई! गवर्नर से आज मिलेंगे शिवसेना,कांग्रेस और NCP के नेता

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Mumbai से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 16, 2019, 11:13 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...