लाइव टीवी

शिवसेना विधायक ने PMC बैंक के विलय की उठाई मांग, CM उद्धव से कही ये बात...

भाषा
Updated: December 21, 2019, 3:26 PM IST
शिवसेना विधायक ने PMC बैंक के विलय की उठाई मांग, CM उद्धव से कही ये बात...
शिवसेना विधायक ने उठाई ये मांग (प्रतीकात्मक फोटो)

रवींद्र वायकर ने कहा, 'एक व्यक्ति के गलत कामों का असर पीएमसी बैंक के अन्य असली ग्राहकों पर नहीं पड़ना चाहिए. मैं मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से बैंक का किसी अन्य बैंक के साथ विलय करने की संभावना के मामले पर विचार करने का अनुरोध करता हूं'

  • Share this:
नागपुर. शिवसेना नेता रवींद्र वायकर (Ravindra Vaikar) ने संकटग्रस्त पंजाब एंड महाराष्ट्र कॉऑपरेटिव बैंक (PMC Bank) का किसी अन्य बैंक के साथ विलय करने की मांग की है. जिससे उसके जमाकर्ताओं को राहत मिल सके. शुक्रवार को नागपुर (Nagpur) में महाराष्ट्र विधानसभा (Maharashtra Legislative Assembly) के अंतिम दिन इस मुद्दे को उठाते हुए वायकर ने दावा किया कि इस साल सितंबर में जब से पीएमसी बैंक घोटाले (PMC Bank Scam) का पता चला है तब से अब तक बैंक के 19 जमाकर्ताओं (खाता धारक) की मौत हो चुकी है.

उन्होंने कहा, 'एक व्यक्ति के गलत कामों का असर पीएमसी बैंक के अन्य असली ग्राहकों पर नहीं पड़ना चाहिए. मैं मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से बैंक का किसी अन्य बैंक के साथ विलय करने की संभावना के मामले पर विचार करने का अनुरोध करता हूं.' विधान भवन के परिसर में मीडिया से बातचीत करते हुए वायकर ने कहा, 'जब पीएमसी बैंक घोटाला सामने आया था तब मैंने राज्य के तत्कालीन मुख्यमंत्री (देवेंद्र फडणवीस) से इस मामले पर विचार करने का अनुरोध किया था और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भी एक पत्र लिखा था.'



बता दें कि पीएमसी बैंक घोटाला तब सामने आया था जब भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने पाया कि बैंक ने लगभग दिवालिया हो चुके हाउसिंग डेवलेपमेंट एंड इंफ्रास्ट्रक्चर लिमिटेड (एचडीआईएल) को दिए 4,355 करोड़ रुपये अधिक का कर्ज छिपाने के लिए कथित तौर पर फर्जी खाते बनाए.

ये भी पढ़ें- 

CAA Protest: हिंसा के बीच बरेली में मुस्लिम समाज ने पेश किया अमन-चैन का पैगाम

UP के कई शहरों में इंटरनेट बैन पर हाईकोर्ट सख्त, योगी सरकार से मांगा जवाब

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Mumbai से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 21, 2019, 2:21 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर