लाइव टीवी

शिवसेना ने तोड़ा NDA से नाता, सांसद अरविंद सावंत ने किया केंद्रीय मंत्री पद छोड़ने का ऐलान

News18India
Updated: November 11, 2019, 10:32 AM IST
शिवसेना ने तोड़ा NDA से नाता, सांसद अरविंद सावंत ने किया केंद्रीय मंत्री पद छोड़ने का ऐलान
नरेंद्र मोदी सरकार में अरविंद सावंत शिवसेना कोटे से इकलौते मंत्री थे.(फाइल फोटो)

अरविंद सावंत ने ट्वीट कर यह जानकारी दी है. इससे पहले NCP ने NDA से अलग होने की स्थिति में ही शिवसेना को समर्थन देने की शर्त रखी थी.

  • News18India
  • Last Updated: November 11, 2019, 10:32 AM IST
  • Share this:
मुंबई. महाराष्‍ट्र (Maharashtra) में हर पल सियासी समीकरण बदल रहे हैं. इसी क्रम में शिवसेना (Shiv Sena) राष्‍ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के प्रमुख शरद पवार के 'फॉर्मूले' पर अमल करते हुए NDA से अलग होने की तैयारी में दिख रही है. इस रणनीति के तहत शिवसेना (Shiv Sena) सांसद और मोदी सरकार में भारी उद्योग मंत्री अरविंद सावंत (Arvind Sawant) ने केंद्रीय मंत्रिमंडल से इस्‍तीफा देने की घोषणा की है. बता दें कि महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने एक दिन पहले ही शिवसेना को राज्य में सरकार बनाने का दावा पेश करने का निमंत्रण दिया था. वहीं NCP ने NDA से अलग होने की स्थिति में ही शिवसेना को समर्थन देने की शर्त रखी थी.

ऐसे में मोदी मंत्रिमंडल में शिवसेना के इकलौते मंत्री ने टि्वटर पर अपने इस्तीफे की घोषणा की. सावंत ने ट्वीट किया, 'शिवसेना सच के साथ है. मुझे दिल्ली में झूठ के माहौल में क्यों रहना चाहिए? मैं केंद्रीय मंत्री पद से इस्तीफा दे रहा हूं और दिल्ली में सुबह 11 बजे एक संवाददाता सम्मेलन में बोलूंगा.' उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव से पहले सत्ता और सीटों की साझेदारी पर एक फॉर्मूला तय हुआ था. शिवसेना और भाजपा दोनों इस पर राजी हुए थे.


Loading...

सावंत ने एक अन्य ट्वीट में कहा, 'लेकिन अब यह हैरान करने वाला है कि जो तय हुआ था उससे इनकार किया गया और शिवसेना को ऐसे पेश किया जा रहा है जैसे वह झूठ बोल रही है. यह स्तब्ध कर देने वाला है। यह राज्य के गौरव पर धब्बा है, भाजपा ने झूठ की हदें पार करके अपने रास्ते बदल लिए हैं.'

NCP ने NDA से अलग होने की रखी थी शर्त
महाराष्‍ट्र विधानसभा चुनाव के बाद किसी भी पार्टी को स्‍पष्‍ट बहुमत नहीं मिला था. हालांकि, BJP सबसे बड़ी पार्टी के तौर पर उभरी थी. इसे देखते हुए राज्‍यपाल ने भाजपा को सरकार बनाने का न्‍यौता दिया था. बीजेपी ने अपने दम पर सरकार बनाने में असमर्थता जता दी थी. इसके बाद राजभवन की ओर से दूसरी सबसे बड़ी पार्टी शिवसेना को सरकार बनाने के लिए आमंत्रित किया गया है. हर पल बदलते राजनीतिक हालात के बीच शरद पवार की पार्टी एनसीपी ने शिवसेना को समर्थन देने के एवज में एनडीए और मोदी सरकार से अलग होने की शर्त रख दी थी. शिवसेना ने इसपर अमल करते हुए यह कदम उठाया है. पार्टी सांसद अरविंद सावंत ने केंद्रीय मंत्री पद छोड़ने का ऐलान कर दिया. उन्‍होंने ट्वीट कर बताया कि सुबह 11 बजे इसकी औपचारिक घोषणा कर देंगे.

अरविंद सावंत ने मंत्री पद से दिया इस्तीफा


'मंजिल बुरा मान जाएगी'
इससे पहले राज्यसभा सांसद और शिवसेना के प्रवक्ता संजय राउत ने शायराना अंदाज में ट्वीट किया था. उन्होंने कहा था कि यदि रास्ते की परवाह करूंगा तो मंजिल बुरा मान जाएगी. वहीं, इससे पहले उन्होंने ट्वीट कर महाराष्ट्र के कार्यवाहक मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस पर अप्रत्यक्ष रूप से हमला बोला था. उन्होंने कहा था कि जो खानदानी रईस हैं वो मिजाज रखते हैं नर्म अपना, तुम्हारा लहजा बता रहा है, तुम्हारी दौलत नई-नई है.



बता दें कि रविवार को ऐसी खबर सामने आई थी कि एनसीपी ने शिवसेना के सामने समर्थन देने के लिए शर्त रखी है. एनसीपी ने कहा था कि उसे बीजेपी से नाता तोड़ना पड़ेगा.एनसीपी नेता नवाब मलिक ने कहा था कि हमने 12 नवंबर को अपने विधायकों की बैठक बुलाई है. अगर शिवसेना हमारा समर्थन चाहती है, तो उन्हें यह घोषणा करनी होगी कि उनका बीजेपी के साथ कोई संबंध नहीं है और उन्हें राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) से बाहर होना चाहिए. उनके सभी मंत्रियों को केंद्रीय मंत्रिमंडल (केंद्र) से इस्तीफा देना होगा.

ये भी पढ़ें -

UP Board ने इन कॉलेजों को किया ब्‍लैक लिस्‍ट,अब यहां नहीं होंगे बोर्ड एग्‍जाम

अयोध्या में जमीन लेनी है या नहीं, सुन्नी वक्फ बोर्ड की बैठक में होगा फैसला

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Mumbai से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 11, 2019, 8:03 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...