लाइव टीवी

आठवले ने दी शिवसेना को सलाह, कहा- '50-50 फॉर्मूले को छोड़ BJP की शर्त मान लें'

News18India
Updated: November 2, 2019, 5:40 PM IST
आठवले ने दी शिवसेना को सलाह, कहा- '50-50 फॉर्मूले को छोड़ BJP की शर्त मान लें'
रामदास आठवले ने शिवसेना को भाजपा की शर्तं मानने के लिए कहा है. (फाइल फोटो)

आरपीआई (RPI) नेता और महायुति के घटक दल के नेता रामदास आठवले (Ramdas Athawale) ने शिवसेना (Shiv Sena) को नरमी से पेश आने की सलाह दी है. उनका कहना है कि शिवसेना की सीट भाजपा (BJP) से कम है इसलिए वह भाजपा की शर्त को मान ले.

  • News18India
  • Last Updated: November 2, 2019, 5:40 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. बहुमत (Majority) के जादुई आंकड़ों से बढ़कर सीट मिलने के बाद भी शिवसेना (Shiv Sena) और बीजेपी (BJP) मुख्यमंत्री (Chief Minister) पद की खींचतान को लेकर सरकार नहीं बना पा रहे हैं. ऐसे में आरपीआई नेता और महायुति के घटक दल के नेता रामदास आठवले ने शिवसेना को नरमी से पेश आने की सलाह दी है.

आठवले का कहना है कि इस बार 2014 के मुकाबले स्थिति बिलकुल अलग है, हमेशा से बड़े भाई की भूमिका में रहने वाली शिवसेना को कम सीटें मिली हैं. ऐसे में वह बीजेपी की शर्तें मान ले, इसमें सबकी भलाई है, फिलहाल निर्दलीय विधायकों को मिलाकर बीजेपी के पास 120 सीटें हैं. वहीं शिवसेना के पास 61 विधायक हैं.

50-50 की जिद्द छोड़े शिवसेना
आठवले ने उद्धव ठाकरे को सलाह देते हुए बताया कि इस बार शिवसेना के पास सरकार बनाने के लिए विधायक कम हैं, ऐसे में शिवसेना 50-50 के फॉर्मूले को छोड़ दे और बीजेपी की शर्तों को मान लें.

आदित्य के पास अनुभव की कमी
बीजेपी-शिवसेना के बीच बढ़ती दूरियों की सबसे बड़ी वजह है कि आदित्य को ढाई साल के लिए सीएम बनाया जाए. इसे लेकर आठवले का कहना है कि आदित्य बहुत ही मेहनती नेता हैं. इस बात की खुशी है कि ठाकरे परिवार से पहली बार कोई चुनावी मैदान में उतरा है और जीत हासिल की है, लेकिन आदित्य के पास राज्य चलाने का अनुभव नहीं है. आदित्य को उपमुख्मंत्री का पद लेकर अपना अनुभव बढ़ाना चाहिए और अगले चुनावों में अगर शिवसेना को बीजेपी से ज्यादा सीट मिलती हैं तो वो जरूर सीएम बन जाएं.

ये भी पढ़ें- 
Loading...

बेमौसम बारिश से किसानों के बिगड़े हालात पर CM फडणवीस ने की बैठक, नहीं पहुंचे शिवसेना नेता

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Mumbai से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 2, 2019, 4:34 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...