Home /News /maharashtra /

स्लम पुनर्वास बना मुंबई की सियासत का सबसे बड़ा मुद्दा

स्लम पुनर्वास बना मुंबई की सियासत का सबसे बड़ा मुद्दा

राहुल गांधी ( फाइल चित्र )

राहुल गांधी ( फाइल चित्र )

संजय निरुपम ने साथ ही सीएम को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि एसआरए के लिए 2011 तक के लोगों को पात्र करने के सरकार के झूठे वादे हैं. आज भी सरकारी दफ्तरों में सिर्फ वर्ष 2000 तक के लोगों को ही पात्र माना जा रहा है.

    राहुल गांधी के स्लम पुनर्वास प्राधिकरण ( SRA )  के तहत लोगों को 500 फीट के घर देने के ऐलान के बाद मुंबई की सियासत गर्म हो गई है. आनन-फानन में मुंबई कुर्ला में बीजेपी सांसद पूनम महाजन ने सीएम को बुलाकर एयरपोर्ट के आसपास रहने वाले सभी लोगों को जल्दी शिफ्ट करने का आश्वासन दिया. इस मौके पर 10 लोगों को मकानों की चाबियां बांटीं. स्थानीय कांग्रेस विधायक ने आरोप लगाया कि सरकार कार्यक्रम बीजेपी के बैनर तले कराया गया और एसआरए के सीईओ दीपक कपूर से भाषण दिलवाया गया जबकि वहां के स्थानीय विधायक यानि उनको इस बात की सूचना तक नहीं दी गई.

    कांग्रेस विधायक का आरोप है कि जब अधिकारियों से बात की गई तो उन्होंने भी ऐसे किसी भी कार्यक्रम की जानकारी ना होने की बात कही. वहीं एसआए के सीईओ दीपक कपूर ने उनका फोन ना उठाते हुए मैसेज में मां के बीमारी का हवाला दिया. उनसे कहा गया  कि जहां पर लोगों को शिफ्ट किया जा रहा है, वो जगह खराब हो गई है. इस पर मुंबई कांग्रेस अध्यक्ष संजय निरुपम ने 500 स्कायर फीट के घरों के 3 लाख पर्चे  बंटवाने की बात कही. संजय निरुपम ने कांग्रेस की सरकार के आने पर एसआरए के सभी 3000 बंद पड़े घरों के प्रोजेक्ट को 500 फीट के हिसाब से घर देने का फिर आश्वासन दिया.

    संजय निरुपम ने साथ ही सीएम को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि एसआरए के लिए 2011 तक के लोगों को पात्र करने के सरकार के झूठे वादे हैं. आज भी सरकारी दफ्तरों में सिर्फ वर्ष 2000 तक के लोगों को ही पात्र माना जा रहा है. गौर तलब है कि सीएम ने एयरपोर्ट के पास बने स्लम को PAP ( प्रकल्प बाधित आदमी ) के तहत कई लोगों को घरों की चाबियां दी और राहुल गांधी के 500 स्कावयर फीट के घोषणा को मुंगेरी लाल के हसीन सपने बताया था.

    Tags: BJP, Congress, Maharashtra

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर