महाराष्ट्र: इस गांव में मनाई जाती है अजीब होली, गधे पर बैठाकर ‘दामाद’ को घुमाने की परंपरा
Mumbai News in Hindi

महाराष्ट्र: इस गांव में मनाई जाती है अजीब होली, गधे पर बैठाकर ‘दामाद’ को घुमाने की परंपरा
महाराष्ट्र के इस गांव में होली के दिन गधे पर बैठाकर दामाद को घुमाया जाता है. (फाइल फोटो)

स्थानीय लोगों के मुताबिक, ‘गांव के सबसे नए दामाद को चुना जाता है जिसमें तीन से चार दिन लग जाते हैं. इसके बाद गांव वाले उस पर नजर रखते हैं ताकि होली (Holi) के दिन वह भाग न जाए.

  • Share this:
औरंगाबाद. महाराष्ट्र (Maharashtra) के बीड जिले के एक गांव में 90 साल पुरानी वाली होली आज भी मनाई जाती है. इस गांव में होली (Holi) के दिन ‘दामाद’ गधे पर बैठाकर घुमाने की परंपरा है. आज भी होली के दिन लोगों ने गांव के ‘सबसे नए दामाद’ को गधे पर बिठाकर घुमाया और उसके बाद उसे उसकी पसंद के कपड़े पहनाए गए.

बीड की केज तहसील के विडा गांव में होली के दिन गधे की सवारी देखने का इंतजार आसपास और दूरदराज के सभी निवासियों को रहता है. स्थानीय पत्रकार दत्ता देशमुख ने कहा, ‘गांव के सबसे नए दामाद को चुना जाता है जिसमें तीन से चार दिन लग जाते हैं. इसके बाद गांव वाले उस पर नजर रखते हैं ताकि होली के दिन वह भाग न जाए. इस साल विडा गांव में (गधे पर घूमने का) यह सम्मान दत्तात्रेय गायकवाड़ को प्राप्त हुआ.’

90 के दशक से चल रही परंपरा
गांव के एक निवासी अंगन देथे ने बताया कि यह परंपरा गांव के एक प्रतिष्ठित निवासी आनंदराव देशमुख द्वारा नब्बे साल पहले शुरू की गई थी. देथे ने बताया, “परंपरा आनंदराव के दामाद से शुरू हुई थी और तभी से चली आ रही है. जब मैं यहां शादी कर के आया था तब मुझे भी गधे पर घुमाया गया था.”
गधे पर सवारी करने के बाद मिलते कपड़े


गधे की सवारी गांव के मध्य क्षेत्र से शुरू होती है और हनुमान मंदिर पर सुबह 11 बजे समाप्त होती है. जहां गांव के लोग सवारी करने वाले को उसकी पसंद के वस्त्र देते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading