लाइव टीवी

महाराष्ट्र: सुप्रीम कोर्ट में आज फिर होगी सुनवाई, होगा फडणवीस सरकार पर फैसला!

News18Hindi
Updated: November 25, 2019, 12:01 AM IST
महाराष्ट्र: सुप्रीम कोर्ट में आज फिर होगी सुनवाई, होगा फडणवीस सरकार पर फैसला!
फडणवीस से मिलने पहुंचे अजित पवार

शनिवार की सुबह अप्रत्याशित घटनाक्रम में राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी (Bhagat Singh Koshyari) ने भारतीय जनता पार्टी (BJP) के देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) को महाराष्ट्र (Maharashtra) का मुख्यमंत्री पद की शपथ दिलाई. इसे लेकर शिवसेना-एनसीपी और कांग्रेस गठबंधन से सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल की है, जिस पर सोमवार को फिर सुनवाई होगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 25, 2019, 12:01 AM IST
  • Share this:
मुंबई. महाराष्ट्र (Maharashtra) का 'सियासी संग्राम' अब सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) तक पहुंच गया है. सुप्रीम कोर्ट शिवसेना- एनसीपी- कांग्रेस गठबंधन की याचिका पर सोमवार को सुबह 10.30 बजे सुनवाई करेगा. वहीं रविवार की देर रात सीएम देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) से मिलने के लिए अजित पवार (Ajit Pawar) वर्षा बंगले पर पहुंचे. जहां अजीत पवार, देवेंद्र फडणवीस और भूपेंद्र यादव के बीच बैठक हुई. सूत्रों के अनुसार, बैठक सोमवार को सुप्रीम कोर्ट में होने वाली सुनवाई को लेकर हो रही है. इससे पहले ऐसी खबरें आ रही थी कि इस बैठक में अजित पवार के ग्रुप को दिए जाने वाले मंत्रिपद को लेकर भी चर्चा हो रही है. हालांकि बीजेपी सूत्रों ने साफ कर दिया कि अजीत पवार और देवेंद्र फडणवीस के बीच मीटिंग फ्लोर मैनेजमेंट और सुप्रीम कोर्ट के फैसले के लिए थी. यह एक नियमित बैठक थी. इस बैठक में कैबिनेट बर्थ के बारे में कोई चर्चा नहीं की गई.

इससे पहले कांग्रेस नेता अहमद पटेल से कांग्रेस विधायक को संबोधित करते हुए कहा, 'हमारे पास 160 सदस्यों की ताकत है. हम सब साथ हैं. एनसीपी के पास 48 विधायक हैं. भाजपा भ्रम पैदा करने की कोशिश करेगी. वे तुम्हें बुलाएंगे लेकिन हमें आप पर भरोसा है. इसके बाद अहमद पटेल जेडब्ल्यू मैरियट होटल छोड़ कर चले गए. मल्लिकार्जुन खड़गे अभी भी महाराष्ट्र कांग्रेस के विधायकों के साथ हैं.

अजित पवार का बयान झूठा, भ्रम फैलाने वाला: शरद पवार
एनसीपी चीफ शरद पवार ने महाराष्ट्र के डिप्टी सीएम और भतीजे अजित पवार के ट्वीट का जवाब देते हुए कहा कि बीजेपी (BJP) से गठबंधन का सवाल ही नहीं उठता और उन्हें लोगों को भ्रम में नहीं डालना चाहिए. शरद पवार ने कहा कि राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी ने सर्वसम्मति से शिवसेना और कांग्रेस के साथ मिलकर सरकार बनाने का फैसला किया है. अजित पवार का बयान गलत और भ्रमित करने वाला है, उन्होंने ऐसा बयान लोगों के बीच भ्रम पैदा करने और गलत धारणा बनाने के लिए दिया है.

अजित पवार कहते कुछ हैं और करते कुछ हैं: माजिद मेमन
महाराष्ट्र के डिप्टी सीएम और एनसीपी नेता अजित पवार के ट्वीट के बाद राज्यसभा सांसद माजिद मेमन ने बड़ा बयान दिया है. माजिद मेमन ने न्यूज 18 हिंदी के साथ बातचीत में कहा, 'अजित पवार कहते कुछ हैं और करते कुछ हैं. मेमन ने कहा है कि बीजेपी (BJP) की सरकार गिराएंगे और एनसीपी-कांग्रेस-शिवसेना की सरकार बनाएंगे. उन्होंने कहा कि देवेंद्र फडणवीस और अजित पवार को नोटिस गया है. अजित पवार अदालत के सामने अपने बयान को दोहरा दें कि शरद पवार (Sharad Pawar) हमारे नेता हैं और वो एनसीपी में हैं तो अजित पवार को पार्टी का व्हिप मानना होगा.

उद्धव के दावे का संघ ने किया खंडनहोटल ललित में शिवसेना के विधायकों को संबोधित करते हुए उद्धव ठाकरे ने आरोप लगाया कि, ‘राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) के लोग हमसे फिर संपर्क कर रहे हैं, लेकिन अब बहुत देर हो चुकी है. हम काफी आगे निकल चुके हैं. शरद पवार ने हमारी काफी मदद की है, वे हमारे साथ खड़े रहे, इसलिए हम उनके साथ हैं. हम तीनों मिलकर संघर्ष करेंगे.’ वहीं संघ ने उद्धव ठाकरे को गलत बताते हुए इससे इनकार किया.

शिवसेना- NCP- कांग्रेस की याचिका पर सोमवार को सुनवाई करेगा सुप्रीम कोर्ट
सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार को निर्देश दिया है कि वह राष्ट्रपति शासन हटाने की महाराष्ट्र के राज्यपाल की अनुशंसा और देवेंद्र फडणवीस को सरकार बनाने का निमंत्रण देने वाले पत्र सोमवार को पेश करे.
पीठ ने सोलीसीटर जनरल तुषार मेहता के आग्रह को खारिज कर दिया, जिन्होंने राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी के पत्र को पेश करने के लिए दो दिन का वक्त मांगा और उनसे कहा कि सोमवार सुबह साढ़े दस बजे पत्र पेश करें, जब मामले पर फिर सुनवाई होगी. छुट्टी के दिन विशेष सुनवाई में सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र और महाराष्ट्र सरकार को शिवसेना- एनसीपी- कांग्रेस गठबंधन की याचिका पर नोटिस जारी किए. गठबंधन ने फडणवीस को मुख्यमंत्री पद की शपथ दिलाने के राज्यपाल के निर्णय के विरोध में याचिका दायर की थीं. न्यायमूर्ति एनवी रमन, न्यायमूर्ति अशोक भूषण और न्यायमूर्ति संजीव खन्ना की पीठ ने फडणवीस और उपमुख्यमंत्री अजित पवार को भी नोटिस जारी किए.

विधानसभा की वर्तमान स्थिति
कुल - 288 विधायक

बीजेपी– 105 (14-15 निर्दलीय भाजपा के साथ हैं.)

एनसीपी– 54 (एनसीपी के 4-5 विधायकों ने पार्टी से संपर्क नहीं किया है. 48-49 एमएलए अभी एनसीपी के साथ हैं.)

शिवसेना– 56 (शिवसेना के सभी एमएलए पार्टी के साथ हैं. 5-6 निर्दलीय शिवसेना के साथ हैं.)

कांग्रेस– 44 (कांग्रेस के सभी 44 विधायक पार्टी के साथ हैं.)

अन्य– 29 (कुछ निर्दलीय अभी तटस्थ भूमिका में हैं. अभी फैसला नहीं किया है.)

एमआईएम के दो विधायकों ने कांग्रेस, शिवसेना, एनसीपी गठबंधन का समर्थन नहीं करने का फैसला किया है. एमएनएस का 1 विधायक है, जो शिवसेना एनसीपी कांग्रेस गठबंधन का समर्थन नहीं करेगा.

ये भी पढ़ें-

महाराष्ट्र: BJP का ‘ऑपरेशन लोटस’ शुरू, इन 4 नेताओं पर बहुमत जुटाने का जिम्मा

उद्धव ठाकरे का दावा- हमसे फिर संपर्क कर रहे हैं संघ के लोग, RSS का इनकार

भतीजे को शरद पवार ने दिया जवाब, कहा- 'BJP के साथ गठबंधन करने का सवाल ही नहीं'

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Mumbai से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 24, 2019, 8:28 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर