लाइव टीवी

लोगों को भ्रम है कि सर्जिकल स्ट्राइक से पाक आतंकियों के हौसले पस्त हुए: शिवसेना
Mumbai News in Hindi

News18Hindi
Updated: January 3, 2020, 4:29 PM IST
लोगों को भ्रम है कि सर्जिकल स्ट्राइक से पाक आतंकियों के हौसले पस्त हुए: शिवसेना
शिवसेना ने 2016 में हुई सर्जिकल स्ट्राइक को लेकर भाजपा पर निशाना साधा है. (फाइल फोटो)

शिवसेना (Shiv Sena) ने अपने मुखपत्र सामना (Saamana) में लिखे संपादकीय में भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि वह 2016 के सर्जिकल स्ट्राइक (Surgical Strike) को राजनीतिक लाभ के लिए भुना रही है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 3, 2020, 4:29 PM IST
  • Share this:
मुंबई. शिवसेना (Shiv Sena) ने 2016 में हुई सर्जिकल स्ट्राइक (Surgical Strike) के प्रभाव पर शुक्रवार को सवाल उठाए और कहा कि ऐसा माना जा रहा था कि इससे पाकिस्तानी आतंकियों (Pakistani Terrorist) के हौसले पस्त होंगे लेकिन यह केवल एक ‘भ्रम’ बन कर रह गया है, क्योंकि भारत के सैनिक अब भी कश्मीर में आतंकी हमलों में जान गंवा रहे हैं.

नासिक के सैनिक संदीप रघुनाथ सावंत की शहादत की पृष्ठभूमि में कही यह बात
शिवसेना के मुखपत्र सामना के संपादकीय में कहा गया कि सीमाओं का अशांत होना देश के लिए अच्छा नहीं है. पार्टी ने जम्मू-कश्मीर में बुधवार को आतंक निरोधी अभियान के दौरान महाराष्ट्र के नासिक के रहने वाले सेना के जवान संदीप रघुनाथ सावंत की शहादत की पृष्ठभूमि में संपादकीय में यह बात कही है.

कश्मीर में शहीद हो रहे जवान, जिम्मेदार नहीं है महाविकास आघाड़ी

संपादकीय में लिखा है कि, ‘कश्मीर में नए साल की शुरुआत अच्छी नहीं हुई. सतारा के जवान संदीप सावंत कश्मीर में शहीद हो गए हैं. नौशेरा क्षेत्र में सेना और आतंकवादियों के बीच मुठभेड़ हुई. इस मुठभेड़ में संदीप सावंत सहित दो जवान शहीद हो गए. गत एक महीने में महाराष्ट्र के सात-आठ जवान शहीद हुए हैं. इसके लिए महाराष्ट्र की महाविकास आघाड़ी जिम्मेदार नहीं है. बार-बार कहा जा रहा है कि जम्मू-कश्मीर की परिस्थिति नियंत्रण में है. लेकिन ये कितना सच है?’

अनुच्छेद 370 के प्रावधानों को खत्म करना एक अच्छा कदम है
पार्टी ने सवाल उठाए कि सर्जिकल स्ट्राइक और अनुच्छेद 370 के अधिकतर प्रावधानों को खत्म करने के बाद कश्मीर में हालात कितने सुधरे हैं. हालांकि इसमें उसने यह भी कहा कि अनुच्छेद 370 के प्रावधानों को खत्म करना एक अच्छा कदम है. संपादकीय में लिखा है, ‘कश्मीर की सीमा पर जिस प्रकार जवानों का खून बह रहा है, उसका सीधा मतलब यह है कि कश्मीर में सब कुछ ठीक नहीं है और पाक समर्थित आतंकवाद तथा घुसपैठ रुकी नहीं है.’ये भी पढे़ं :- 

महाराष्ट्र में विभागों के बंटवारे पर घमासान जारी, कांग्रेस-NCP के बीच तीखी बहस

शहीद फायरकर्मी अमित के परिवार को 1 करोड़ और एक सदस्य को नौकरी देंगे- केजरीवाल

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Mumbai से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 3, 2020, 3:37 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर