सुशांत सिंह केस में बड़ी गिरफ्तारी, NCB के हत्‍थे चढ़ा ड्रग्स पेडरल महाराज

सुशंत सिंह राजपूत केस में एनसीबी को बड़ी कामयाबी हाथ लगी है. (प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर)

सुशंत सिंह राजपूत केस में एनसीबी को बड़ी कामयाबी हाथ लगी है. (प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर)

Sushant Singh Rajput Case: इस केस में महाराज की गिरफ्तारी एनसीबी के लिए बड़ी कामयाबी है. महाराज की गिरफ्तारी इसलिए भी बेहद अहम है क्योंकि वह सुशान्त सिंह केस में गिरफ्तार किए गए बड़े ड्रग्स पेडलर अनुज केसवानी को ड्रग्स की सप्लाई करता था.

  • Share this:
मुंबई. सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) ड्रग्‍स केस में मुंबई नारकोटिक्‍स कंट्रोल ब्‍यूरो (NCB) की टीम को बड़ी कामयाबी मिली है. एनसीबी की टीम ने गोवा में मैराथन छापेमारी करते हुए महाराज नाम के ड्रग्स पेडलर को गिरफ्तार किया है. हेमंत साहा उर्फ महाराज को गोवा के मीरामार इलाके से गिरफ्तार किया गया है और उसके पास से बड़ी मात्रा में ड्रग्स बरामद हुआ है.

इस केस में महाराज की गिरफ्तारी यानी एनसीबी के हाथ बड़ी मछली लगी है. महाराज की गिरफ्तारी इसलिए भी बेहद अहम है क्योंकि वह सुशान्त सिंह राजपूत मामले में गिरफ्तार किए गए बड़े ड्रग्स पेडलर अनुज केसवानी को ड्रग्स की सप्लाई करता था. अनुज केसवानी सुशांत सिंह राजपूत सहित पूरे बॉलीवुड में ड्रग्स की सप्लाई करता था. इतना ही नही, गोवा से मुम्बई में सप्लाई होने वाली ड्रग्स की खेप का मुख्य किनपिन महाराज ही है.

12 घंटे से ज्‍यादा समय तक छापेमारी चली
गोवा में एनसीबी की यह छापेमारी मुंबई एनसीबी के जॉइंट डायरेक्टर समीर वानखेड़े के नेतृत्व में चल रही है. जॉइंट डायरेक्टर समीर वानखेड़े ने बताया कि हमारी गोवा में पिछले 12 घण्टों से छापेमारी जारी है. इसी छापेमारी के दौरान सुशांत सिंह राजपूत केस मामले में महाराज नामक ड्रग्‍स पेडलर को एनसीबी ने गिरफ्तार किया है. हमारी छापेमारी अब भी जारी है और कुछ और गिरफ्तारियां हो सकती हैं. महाराज के पास से बड़ी मात्रा में ड्रग्स भी बरामद किया गया है.
बता दें कि ड्रग्स किनपिन हेमंत साहा उर्फ महाराज का नाम अनुज केसवानी और रीगल महाकाल से पूछताछ में सामने आया था. एनसीबी की पूछताछ में अनुज केसवानी और रीगल महाकाल ने बताया था कि वह गोवा से महाराज नामक शख्स के जरिए ड्रग्स मंगवाते हैं. केसवानी ने यह भी कबूला था कि वह सुशांत सहित पूरे बॉलीवुड में ड्रग्स सप्लाई करता है. इस खुलासे के बाद से ही महाराज एनसीबी की रडार पर था और जांच के दौरान उसके गोवा में होने के सुराग मिलने के बाद एनसीबी ने बीती रात छापेमारी कर उसे गिरफ्तार कर लिया.



जॉइंट डायरेक्टर समीर वानखेड़े ने बताया कि गिरफ्तारी के बाद महाराज के पास से कमर्शियल क्वांटिटी में एलएसडी की 15 ब्लोट्स और 30 ग्राम चरस बरामद हुई है. महाराज मध्य प्रदेश का रहने वाला है और पिछले कई सालों से गोवा में रहकर ड्रग्स की सप्लाई करता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज