अथॉरिटी ने कहा-अवैध थी केसरभाई बिल्डिंग, अब तक 10 की मौत

मुंबई बिल्डिंग रिपेयर और रिकंस्ट्रक्शन बोर्ड ने कहा है कि केसरभाई बिल्डिंग का जो हिस्सा ढहा, वो अवैध था.

News18Hindi
Updated: July 16, 2019, 10:55 PM IST
अथॉरिटी ने कहा-अवैध थी केसरभाई बिल्डिंग, अब तक 10 की मौत
मुंबई बिल्डिंग रिपेयर और रिकंस्ट्रक्शन बोर्ड ने कहा है कि केसरभाई बिल्डिंग का जो हिस्सा ढहा, वो अवैध था.
News18Hindi
Updated: July 16, 2019, 10:55 PM IST
मुंबई बिल्डिंग रिपेयर और रिकंस्ट्रक्शन बोर्ड ने कहा है कि केसरभाई बिल्डिंग का जो हिस्सा ढहा, वो अवैध था. टंडेल स्ट्रीट स्थित 'केसरभाई' नाम की इमारत करीब 11:40 बजे ढह गई. हादसे के बाद मलबे में कम से कम 50 से ज्यादा लोगों के दबे होने की आशंका जताई जा रही है. अब तक इस हादसे में 10 लोगों की मौत की पुष्टि हुई है. मरने वाले लोगों में 6 पुरुष और 4 महिलाएं हैं. अभी तक एक बच्चे सहित नौ लोगों को मलबे से सुरक्षित निकाला जा सका है. उन्हें इलाज के लिए जेजे अस्पताल पहुंचाया गया है.

पहले भी दी चेतावनी
अगस्त 2017 में बीएमसी को लिखे एक खत में महाराष्ट्र हाउसिंह एंड एरिया डेवलपमेंट अथॉरिटी ( MHADA) ने चेताया था कि ये बिल्डिंग रहने के काबिल नहीं है. इस चेतावनी में यहां तक कहा गया था कि अगर भविष्य में कोई दुर्घटना होती है तो इसके लिए अथॉरिटी जिम्मेदार नहीं होगी.

सामने आईं मुंबई हादसे की दिल दहला देने वाली तस्वीरें

हादसे की सूचना मिलते ही फायर ब्रिगेड, एंबुलेंस और एनडीआरएफ की 3 टीमें घटनास्‍थल पर राहत और बचाव कार्य कर रही हैं. तंग गली होने की वजह से रेस्क्यू ऑपरेशन में दिक्कत आ रही है. ऐसे में यहां के स्थानीय लोग ही मदद में जुट गए हैं. वहीं लोगों ने ह्यूमन चेन बनाकर मलबा हटाने में मदद करने की भी कोशिश की. ये इमारत करीब 80-100 साल पुरानी बताई जा रही है. बीएमसी ने इस जर्जर इमारत की चेतावनी भी दी थी. लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई.



मौके पर पहुंचे सीएम फडणवीस
Loading...

हादसे के बाद महाराष्ट्र के सीएम देवेंद्र फडणवीस भी मौके पर पहुंचे. उन्होंने कहा, 'प्राथमिक जानकारी के मुताबिक, मलबे में 15 परिवार फंसे हुए हैं. फिलहाल फोकस रेस्क्यू ऑपरेशन पर है, हादसे की जांच की जाएगी.

ये भी पढ़ें-
First published: July 16, 2019, 10:41 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...