लाइव टीवी

महाराष्ट्र राजनीतिक विवाद BJP की वजह से, वो अपने सहयोगियों को भरोसे में नहीं ले पाई: अशोक चव्हाण

News18Hindi
Updated: November 6, 2019, 6:30 PM IST
महाराष्ट्र राजनीतिक विवाद BJP की वजह से, वो अपने सहयोगियों को भरोसे में नहीं ले पाई: अशोक चव्हाण
महाराष्ट्र के पूर्व सीएम अशोक चह्वाण ने कहा है कि राज्य की वर्तमान राजनीतिक स्थितियों के पीछे असल जिम्मेदार बीजेपी है क्योंकि वो अपने सहयोगियों को भरोसे में नहीं ले सकी.

महाराष्ट्र (Maharashtra) में बीजेपी (BJP) और शिवसेना (Shiv Sena) के बीच सीएम की कुर्सी को लेकर चल रही रार के बीच पूर्व सीएम अशोक चव्हाण (Ashok Chavan) ने बयान दिया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 6, 2019, 6:30 PM IST
  • Share this:
मुंबई. महाराष्ट्र (Maharashtra) में बीजेपी (BJP) और शिवसेना (Shiv Sena) के बीच सीएम की कुर्सी को लेकर चल रही रार के बीच पूर्व सीएम अशोक चव्हाण (Ashok Chavan) ने बयान दिया है. उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र की वर्तमान राजनीतिक स्थितियों के पीछे असली जिम्मेदार बीजेपी है क्योंकि वो अपने सहयोगियों को भरोसे में नहीं ले सकी. इसी वजह से शिवसेना परेशान है और दोनों पार्टियों के बीच विवाद है. इस विवाद का हल तब तक नहीं निकलेगा, जब तक शिवसेना गठबंधन तोड़ नहीं देती.

गौरतलब है कि अभी तक बीजेपी-शिवसेना विवाद पर कांग्रेस की तरफ से चुप्पी ही बनाकर रखी गई थी. इस मामले पर कांग्रेस के गठबंधन पार्टनर एनसीपी के नेता शरद पवार की तरफ से ही बयान आता रहा है. दो दिन पूर्व दिल्ली में सोनिया गांधी से मुलाकात के बाद उन्होंने प्रेस कॉन्फ्रेंस भी की थी. इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में जब उनसे पूछा गया कि क्या आप शिवसेना के साथ मिलकर सरकार बनाने को तैयार हैं. इस पर पवार ने कहा था- 'हमें जनता की तरफ से विपक्ष में बैठने का जनादेश दिया गया है. रही बात शिनसेना के साथ मिलकर सरकार बनाने की तो उनकी तरफ से हमसे अभी तक किसी ने बात नहीं की है.'

शरद पवार बोले- बहुमत होता तो सरकार बनाते
बुधवार को एक बार फिर शरद पवार ने साफ किया कि वह महाराष्ट्र सरकार में हिस्सेदार नहीं बनने जा रहे हैं. शरद पवार ने कहा कि बीजेपी और शिवसेना (Shiv Sena) को सरकार गठन का जनादेश मिला है. सरकार बनाने की जिम्मेदारी इन दोनों पार्टियों की ही है. कांग्रेस और एनसीपी मजबूत विपक्ष की भूमिका निभाएगी. वहीं, शिवसेना नेता संजय राउत से हुई मुलाकात को लेकर पूछे गए सवाल पर पवार ने कहा कि राउत से सियासी समीकरण को लेकर कोई बात नहीं हुई. शरद पवार ने कहा, 'अगर हमारे पास बहुमत होता, तो हम किसी का इंतजार नहीं करते. कांग्रेस और एनसीपी 100 का आंकड़ा पार नहीं कर पाए... हम एक जिम्मेदार विपक्ष के तौर पर काम करेंगे.’
Loading...

ये भी पढ़ें:

पुणे: शिवसेना कार्यकर्ताओं ने बीमा कंपनी के कार्यालय में की तोड़फोड़

भीमा कोरेगांव मामला: पुणे कोर्ट ने खारिज की 6 आरोपियों की जमानत अर्जी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Mumbai से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 6, 2019, 6:15 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...