मुंबई में कोरोना के 218 नए मामले, संक्रमितों की संख्या 993 पहुंची
Mumbai News in Hindi

मुंबई में कोरोना के 218 नए मामले, संक्रमितों की संख्या 993 पहुंची
देश में महाराष्‍ट्र और तमिलनाडु में सबसे ज्‍यादा कोरोना पॉजिटिव केस पाए गए हैं. दोनों राज्‍यों में संक्रमित की संख्‍या में रोज वृद्धि हो रही है.

बीएमसी (BMC) के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि दादर के सुश्रूषा अस्पताल में 27 और 42 साल की दो नर्स कोरोना वायरस (Coronavirus) की जांच में संक्रमित पाई गईं. जिसके बाद अस्पताल में नए मरीजों की एंट्री पर रोक लगा दी गई.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 10, 2020, 8:06 PM IST
  • Share this:
मुंबई. महाराष्ट्र के मुंबई (Mumbai)में शुक्रवार को कोरोना वायरस के 218 नए मामले सामने आए हैं. इसी के साथ ही मुंबई में संक्रिमतों की संख्या 993 पहुंच गई है. वहीं मुंबई के एक अस्पताल (Hospital) में दो नर्सों का कोरोना टेस्ट पॉजिटिव आया है, जिसके बाद अधिकारियों ने नए मरीजों की भर्ती न करने के निर्देश दिए हैं. वहीं, अस्पताल की 28 अन्य नर्सों को क्वारेंटाइन (Quarantine) में रखा है. बीएमसी (BMC) ने उचित जांच के बाद सभी मौजूदा मरीजों को छुट्टी देने के लिए अस्पताल को 48 घंटे का समय दिया है.

बीएमसी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि दादर के सुश्रूषा अस्पताल में 27 और 42 साल की दो नर्स कोरोना वायरस की जांच में संक्रमित पाई गईं. अधिकारी ने बताया कि इसके बाद बीएमसी ने एहतियात के तौर पर इस निजी अस्पताल को अपनी सभी 28 नर्सों को वहीं क्वारेंटाइन में रखने और उनकी जांच करने को कहा है.

अधिकारी ने कहा, ‘हमने उन्हें सलाह दी है कि वे अपने खर्च पर सभी नर्सों का परीक्षण कराएं.’ उन्होंने कहा कि अस्पताल को किसी भी अन्य मरीज की भर्ती नहीं करने का भी निर्देश दिया गया है. अधिकारी ने कहा, 'वहां इलाज करा रहे मरीजों को छुट्टी देने के लिए अस्पताल को 48 घंटे का समय दिया है.'
BMC ने दादर इलाके में दो नर्स समेत कोविड-19 के छह मरीजों का पता लगाया है.
BMC दो अस्पतालों को कर चुका है सील


सुश्रूषा अस्पताल ने फिलहाल इस संबंध में कोई टिप्पणी नहीं की है. बीएमसी पैडर रोड स्थित जसलोक अस्पताल और मुंबई सेंट्रल स्थित वॉकहार्ट अस्पताल समेत कई निजी अस्पतालों को पहले ही सील कर चुका है और इन परिसरों में कोरोना वायरस के मामले सामने आने के बाद उनके कर्मचारियों को पृथक वास में रखने को कह चुका है.

क्वारेंटाइन किए गए डॉक्टर आजादी से घूम रहे
इस बीच, नगरपालिका के सूत्रों ने बताया कि बांद्रा स्थित केबी भाभा अस्पताल की कुछ नर्सों ने प्रशासन से शिकायत की है कि पृथक वास में रखे जाने के बावजूद कुछ डॉक्टर पिछले दो दिनों से अस्पताल के अंदर और बाहर घूम रहे हैं. इन डॉक्टरों को अस्पताल में एक महिला मरीज के कोरोना वायरस से संक्रमित पाए जाने के बाद पृथक वास में रखा गया था.



(भाषा इनपुट के साथ)

ये भी पढ़ें- लॉकडाउन खत्म होते ही वुहान में मची शादी की होड़, मेट्रीमोनियल वेबसाइट क्रैश
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज