लाइव टीवी

महाराष्‍ट्र विधानसभा का विशेष सत्र: CM उद्धव के भाषण के दौरान BJP की नारेबाजी- दादागिरी नहीं चलेगी


Updated: November 30, 2019, 2:57 PM IST
महाराष्‍ट्र विधानसभा का विशेष सत्र: CM उद्धव के भाषण के दौरान BJP की नारेबाजी- दादागिरी नहीं चलेगी
पूर्व सीएम देवेंद्र फडणवीस के नेतृत्‍व में बीजेपी विधायकों ने महाराष्‍ट्र विधानसभा के विशेष सत्र में हंगामा किया. (फाइल फोटो)

महाराष्‍ट्र विधानसभा (Maharashtra Assembly) के विशेष सत्र में BJP के विधायकों ने जमकर हंगामा किया है. विपक्षी पार्टी सत्र बुलाने के तौर-तरीकों का विरोध करते हुए सदन की कार्यवाही का बहिष्‍कार कर दिया है.

  • Last Updated: November 30, 2019, 2:57 PM IST
  • Share this:
मुंबई. महाराष्‍ट्र विधानसभा के विशेष सत्र की हंगामेदार शुरुआत हुई है. मुख्‍यमंत्री उद्धव ठाकरे के संबोधन के दौरान प्रोटेम स्‍पीकर के मुद्दे को लेकर BJP विधायकों ने नारेबाजी शुरू कर दी. विपक्षी दल के विधायकों ने 'दादागिरी नहीं चलेगी' के नारे लगाते हुए सदन वेल में पहुंच गए. उद्धव ठाकरे के नेतृत्‍व में गठबंधन सरकार की ओर से बहुमत साबित करने से पहले ही बीजेपी ने सदन का बहिष्‍कार कर दिया.

इस हंगामे के बीच प्रोटेम स्‍पीकर दिलीप वाल्‍से पाटिल ने कहा कि वह राज्‍यपाल के आदेशानुसार विधानसभा का सत्र चला रहे हैं. वहीं, पूर्व सीएम देवेंद्र फडणवीस ने आरोप लगाया कि विधानसभा के विशेष सत्र की जानकारी उन्‍हें रात 1 बजे दी गई और विधानसभा की कार्यवाही भी नियमानुसार नहीं चलाई गई. देवेंद्र फडणवीस ने विधानसभा सदस्‍यों को संविधान के अनुसार शपथ न दिलाने की भी बात कही है. बता दें कि इससे पहले महाविकास अघाड़ी की ओर से कालीदास कोलंबर को प्रोटेम स्‍पीकर नियुक्‍त किया गया था और फ्लोर टेस्‍ट से ठीक पहले वाल्‍से पाटिल को नया प्रोटेम स्‍पीकर नियुक्‍त किया गया.

स्‍पीकर की नियुक्ति के बाद फ्लोर टेस्‍ट कराने की मांग
भाजपा ने स्‍पीकर की नियुक्ति के बाद ही फ्लोर टेस्‍ट कराने की मांग की है. मांग पूरी न होने पर बीजेपी विधायकों ने सदन में पहले हंगामा किया और बाद में सदन की कार्यवाही का ही बहिष्‍कार कर दिया. इस तरह बीजेपी फ्लोर टेस्‍ट में शामिल नहीं होगी. देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि विधानसभा का नया सत्र बुलाने के लिए समन की जरूरत होती है. उन्‍होंने विधानसभा सदस्‍यों के शपथ को भी गलत बताया है. महाराष्‍ट्र के पूर्व सीएम ने आरोप लगाया कि तीनों दलों के विधायकों ने सदन की सदस्‍यता के लिए शपथ लेते वक्‍त अपने-अपने नेताओं का नाम लिया. फडणवीस ने कहा कि विधानसभा के इतिहास में आज तक ऐसा नहीं हुआ कि स्‍पीकर के चुनाव के पहले ही विश्‍वासमत को लेकर सदन में प्रस्‍ताव पेश किया गया है.


ये भी पढ़ें: महाराष्ट्र शक्ति परीक्षण से पहले बीजेपी ने चला अपना अंतिम दांव

CM ठाकरे ने आरे प्रॉजेक्‍ट पर लगाई रोक, फडणवीस बोले- मुंबईवासियों को उठाना पड़ेगा नुकसान

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Mumbai से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 30, 2019, 2:40 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर