लाइव टीवी

क्रिसमस से पहले हो सकता है उद्धव ठाकरे नीत मंत्रिपरिषद का विस्तार
Mumbai News in Hindi

भाषा
Updated: December 20, 2019, 2:24 PM IST
क्रिसमस से पहले हो सकता है उद्धव ठाकरे नीत मंत्रिपरिषद का विस्तार
क्रिसमस से पहले 23 या 24 दिसंबर को उद्धव ठाकरे नीत महाराष्ट्र मंत्रिपरिषद का विस्तार होने की संभावना है. (फाइल फोटो)

पर्यवेक्षकों का मानना है कि यदि राकांपा प्रमुख शरद पवार (Sharad Pawar) मंत्रिपरिषद में अजित पवार (Ajit Pawar) को शामिल करते हैं तो इसका मतलब यह होगा कि उन्हें पहले से अपने भतीजे की योजना के बारे में जानकारी थी.

  • Share this:
मुंबई. उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) नीत महाराष्ट्र मंत्रिपरिषद का विस्तार क्रिसमस से पहले हो सकता है. कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता ने बताया, ‘मंत्रिपरिषद का विस्तार 23 या 24 दिसंबर को होने की संभावना है. विभागों का आवंटन हो चुका है. कुछ विभागों में तीनों दलों के बीच अदला-बदली हो सकती है.’ उल्लेखनीय है कि महाराष्ट्र विकास अघाड़ी (Maharashtra Vikas Aghadi) गठबंधन की उद्धव ठाकरे सरकार में तीन दल शामिल हैं. तीनों दलों में विभागों के बंटवारे को लेकर कुछ मतभेद की खबरें आईं थीं. संभावना जताई जा रही है कि इस मंत्रिमंडल विस्तार में शिवसेना, राकांपा और कांग्रेस की मांगों को पूरा कर सकती है.

28 नवंबर को उद्धव ठाकरे ने ली थी सीएम पद की शपथ
उद्धव ठाकरे ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री पद की शपथ 28 नवंबर को ली थी. उनके साथ शिवसेना, राकांपा और कांग्रेस तीनों से दो-दो मंत्रियों ने शपथ ली थी. शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे के मुख्यमंत्री बनने के दो सप्ताह बाद 12 दिसंबर को महाराष्ट्र सरकार में विभागों के बंटवारे की घोषणा की गई, जिसमें शिवसेना को महत्वपूर्ण गृह विभाग मिला.

शिवसेना नेता एकनाथ शिंदे को मिले थे ये अहम विभाग

शिवसेना नेता एकनाथ शिंदे को गृह, शहरी विकास, वन, पर्यावरण, बिजली आपूर्ति, जल संरक्षण, पर्यटन, सार्वजनिक प्रतिष्ठानों और संसदीय मामलों का प्रभार सौंपा गया. शिवसेना के अन्य मंत्री सुभाष देसाई को कृषि, उद्योग, उच्च एवं तकनीकी शिक्षा, खेल एवं युवा कल्याण, बागान, परिवहन, मराठी भाषा और संस्कृति मामलों एवं बंदरगाहों का प्रभार दिया गया.

राकांपा के मंत्री जयंत पाटिल को मिला था वित्त समेत ये विभाग
राकांपा के मंत्री जयंत पाटिल को वित्त एवं योजना, आवास, जन स्वास्थ्य, सहयोग, खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति, श्रम तथा अल्पसंख्यक कल्याण विभाग सौंपा गया. राकांपा के ही मंत्री छगन भुजबल को सिंचाई, ग्रामीण विकास, सामाजिक न्याय, आबकारी, कौशल विकास, खाद्य एवं मादक पदार्थ प्रशासन विभाग दिए गए.कांग्रेस को मिले थे ये अहम विभाग
कांग्रेस के मंत्री बालासाहेब थोराट को राजस्व, ऊर्जा, चिकित्सा शिक्षा, स्कूली शिक्षा, पशुपालन, डेयरी और मत्स्य पालन विभाग सौंपा गया. कांग्रेस के ही नितिन राउत को पीडब्ल्यूडी, जनजातीय कल्याण, महिला एवं बाल विकास, वस्त्र, राहत एवं पुनर्वास, ओबीसी, वीजेएनटी, विशिष्ट पिछड़ा वर्ग कल्याण विभाग सौंपे गए.

अशोक चव्हाण और पृथ्वीराज चव्हाण मंत्रिपरिषद में शामिल करने पर होगा विचार
महाराष्ट्र में मुख्यमंत्री समेत 43 मंत्री हो सकते हैं. कांग्रेस नेता ने कहा कि इस पर भी निर्णय लिया जाएगा कि क्या पूर्व मंत्री मुख्यमंत्री अशोक चव्हाण और पृथ्वीराज चव्हाण दोनों को ठाकरे नीत मंत्रिपरिषद में शामिल किया जाए या फिर इनमें से एक को ही शामिल किया जाए. वहीं पर्यवेक्षकों का कहना है कि यह देखना दिलचस्प होगा कि राकांपा प्रमुख शरद पवार मंत्रिपरिषद में अजित पवार को शामिल करेंगे या नहीं और अगर शामिल करते हैं तो इसका मतलब यह होगा कि उन्हें पहले से अपने भतीजे की योजना के बारे में जानकारी थी.

ये भी पढे़ं - 

नागरिकता कानून के विरोध के कारण ड्राइवरों की चांदी, किराए में जबर्दस्त उछाल

CAA Protests: दिल्ली के जामा मस्जिद इलाके में विरोध प्रदर्शन, पुलिस बल तैनात

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Mumbai से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 20, 2019, 2:15 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर